Friday, June 21, 2024
No menu items!
HomeNewsबिहारभोजपुर पुलिस के साथ मुठभेड़ और लूट में वांछित व् ईनामी बदमाश...

भोजपुर पुलिस के साथ मुठभेड़ और लूट में वांछित व् ईनामी बदमाश गिरफ्तार

Criminal arrested for firing on police: आरा शहर में नगर थाने के नजदीक पिछले दिनों पेट्रोल पंप मालिक से पांच लाख की लूट और मुठभेड़ में शामिल चार अन्य अपराधियों को पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है। एएसपी चंद्रप्रकाश के नेतृत्व में आरा और कोईलवर थाने की पुलिस द्वारा चारों को गिरफ्तार किया गया है। इनमें एक को आरा जबकि तीन को कोईलवर से गिरफ्तार किया गया है।

कोईलवर में पकड़े गए बदमाशों के पास से एक देसी कट्टा, पांच गोली और एक बाइक बरामद की गयी है। तीनों को लूट की साजिश करते गिरफ्तार किया गया है। उनमें कोईलवर थाना क्षेत्र के मानाचक निवासी अंकित पांडेय, उसी गांव के रजनीश कुमार उर्फ प्रकार उर्फ भुवर और काजीचक गांव निवासी अन्नु रहमान शामिल हैं। इनमें अंकित पांडेय फरवरी माह में पटना के बिहटा इलाके में बर्तन कारोबारी से दस लाख की लूट में भी वांछित था।

वहीं नगर थाने की पुलिस द्वारा कसाई टोला निवासी आरिफ को गिरफ्तार किया गया है। चारों ने पेट्रोल पंप मालिक से लूट और पुलिस के साथ मुठभेड़ में शामिल होने की बात स्वीकार कर ली है। इस मामले में अबतक छह बदमाशों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

एसपी प्रमोद कुमार द्वारा मंगलवार को प्रेस कांफ्रेंस में यह जानकारी दी गयी। उन्होंने बताया कि पंप संचालक से लूट और मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार अपराधियों से पूछताछ में कसाई टोला के रहने वाले आरिफ का नाम आया था। उस आधार पर सोमवार की रात उसे पुलिस टीम द्वारा उसे गिरफ्तार कर लिया गया। छापेमारी में नगर थानाध्यक्ष संजीव कुमार, दारोगा सत्येंद्र कुमार सत्यार्थी और डीआईयू के अफसर भी शामिल थे।

बता दें कि पिछले 11 मई की सुबह करीब 11 बजे नगर थाने के बगल में स्थित आर्य समाज मंदिर के पास स्टेट बैंक के गेट पर एक पेट्रोल पंप मालिक से करीब पांच लाख रुपए लूट लिया गया था। भागने के दौरान अपराधियों की पुलिस से मुठभेड़ हुई थी। मुठभेड़ के बाद एक अपराधी को पकड़ लिया गया था। हालांकि उस घटना में एक सिपाही और एक लुटेरे को गोली लग गयी थी। गिरफ्तार अपराधी के पास से लूटा गया पैसा भी बरामद कर लिया गया था।

Criminal arrested for firing on police: पुलिस की सक्रियता से टल गयी लूट की बड़ी वारदात, फरार अपराधी की तलाश

आरा पटना फोरलेन पर सोमवार की रात पुलिस की सक्रियता से लूट की एक बड़ी वारदात टल गयी। लूट की घटना को अंजाम देने से पहले ही पुलिस द्वारा तीन अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया गया। एसपी प्रमोद कुमार ने बताया कि सोमवार की देर शाम सूचना मिली कि फोरलेन से सटे कुल्हड़िया जाने वाली सड़क पर लूट की नीयत से कुछ अपराधी जुटे हैं। उनमें कुछ बिहटा थाना क्षेत्र में बैंक लूट में भी वांछित है।

उसके बाद अपराधियों की गिरफ्तारी को लेकर एएससी चंद्र प्रकाश के नेतृत्व में टीम गठित कर छापेमारी शुरू की गयी। उस क्रम में पुलिस टीम कोईलवर के मनभावन चौक के पास पहुंची, तो पांच की संख्या अपराधी भागने लगे। तब पुलिस ने खदेड़ कर तीन अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया, जबकि दो भाग निकले। तलाशी के दौरान पकड़े गए अपराधियों के पास से एक देसी कट्टा, पांच गोली और एक बाइक बरामद की गयी।

पूछताछ में तीनों ने आरा में पेट्रोल पंप मालिक से लूट और मुठभेड़ में शामिल होने की बात स्वीकार की। उसके बाद तीनों को गिरफ्तार कर लिया गया। फरार दोनों अपराधियों की भी पहचान कर ली गयी है। गिरफ्तारी को लेकर छापेमारी की जा रही है। पांचों के खिलाफ कोईलवर थाने में हथियार बरामदगी और लूटपाट की साजिश करने की प्राथमिकी दर्ज की गयी है।

लूटकांड में शामिल थे छह से सात अपराधी, पुलिस की हर गतिविधि पर थी नजर

नगर थाने के बगल में स्थित स्टेट बैंक की शाखा के गेट पर पिछले दिनों पेट्रोल पंप मालिक से लूटकांग में छह से सात अपराधी शामिल थे। उनमें दो-तीन मुख्य अपराधी लूट में शामिल थे। अन्य तीन से चार अपराधी रास्ते में विभिन्न जगहों से पुलिस की गतिविधियों पर नजर रख रहे थे। एसपी प्रमोद कुमार द्वारा प्रेस कांफ्रेंस में यह जानकारी दी गयी। उन्होंने बताया कि शुरु में दो-से तीन अपराधियों के शामिल होने की बात आ रही थी। बाद में गिरफ्तार दो लुटेरों से पूछताछ की गयी, तो पूरी घटना छह से सात अपराधियों की संलिप्तता सामने आयी। पूछताछ में पता चला कि लूट में दो से तीन मुख्य अपराधी शामिल थे। वहीं बाकी के अपराधी थाना, बैंक और आसपास के इलाकों में मौजूद थे। सभी लूटपाट करने वाले के संपर्क में थे। साथ ही पुलिस की हर गतिविधियों पर नजर रख रहे थे। उस आधार पर एएसपी के नेतृत्व में टीम लगातार छापेमारी कर रही थी।

Criminal arrested for firing on police: बता दें कि लूट के घटना के बाद सिपाही अर्जुन कुमार और पेट्रोल पंप मालिक सुशांत कुमार जैन द्वारा बहादुरी का परिचय देते हुए अपराधियों का पीछा किया गया था। तब अपराधी लगातार पुलिस पर फायरिंग कर रहे थे। उसमें सिपाही अर्जुन कुमार को गोली भी लग गयी थी। बाद में थानाध्यक्ष के नेतृत्व में टीम की ओर से जवाबी कार्रवाई की गयी। उसमें ताज अली नामक अपराधी को गोली लगी थी। उसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया था। उसकी निशानदेही पर पंप मालिक की गाड़ी के चालक रंभू चौधरी को भी लाइनर का काम करने के आरोपी में गिरफ्तार कर लिया गया था। बाद बाल में पुलिस की दबिश के कारण तीसरे अपराधी शेरू मोहम्मद द्वारा कोर्ट में सरेंडर कर दिया गया था। पुलिस उसे रिमांड पर लेने की तैयारी में है।

- Advertisment -
Ara Crime - CCTV of Firing - आरा में फायरिंग का सीसीटीवी वीडियो
Ara Crime - CCTV of Firing - आरा में फायरिंग का सीसीटीवी वीडियो
Ara Crime - CCTV of Firing - आरा में फायरिंग का सीसीटीवी वीडियो
Ara Crime - CCTV of Firing - आरा में फायरिंग का सीसीटीवी वीडियो

Most Popular