Friday, December 2, 2022
No menu items!
Homeकरियरशिक्षाछोटे बच्चों की दीपावली कृति देखकर अभिभूत हुए लोग

छोटे बच्चों की दीपावली कृति देखकर अभिभूत हुए लोग

Diwali work of small children:बच्चों द्वारा बनाई गई आकाश दीप, घरौंदे, वॉल हैंगिंग, वंदन वार और मूर्तियों को देखकर अभिभूत हुए लोग

  • दीपावली में दीए जलाकर लोकल कलाकारों व शिल्पकार को करे प्रोत्साहित-डाॅ.अर्चना
  • कहा: बच्चे स्वनिर्मित और स्वदेशी वस्तुओं का करें उपयोग

खबरे आपकी/आरा शहर के मौलाबाग स्थित शारदा-स्मृति संभावना पब्लिक स्कूल में शुक्रवार को दीपोत्सव कार्यशाला सह प्रदर्शनी का समापन हुआ। कार्यक्रम का शुभारंभ विद्यालय के निदेशक डॉ. कुमार द्विजेंद्र एवं प्रशासिका डॉ. अर्चना सिंह ने संयुक्त रुप से किया। इस मौके पर विद्यालय के प्रबंध निदेशक सह कार्यक्रम के अध्यक्ष कुमार द्विजेंद्र ने कहा कि बच्चों ने जितनी सफाई से प्रदर्शनी में प्रदर्शित वस्तुओं को बनाया है, उसे देख कर ऐसा नहीं लगता है। यह सभी छोटे बच्चों की कृति है। उन्होंने इसके लिए विद्यालय के कला शिक्षक संजीव सिन्हा, विष्णु शंकर, स्वाति सिंह एवं ममता सिंह को धन्यवाद दिया और कहा कि इस तरह का प्रशिक्षण विद्यालय भविष्य में भी करता रहेगा।

Diwali work of small children:चार दिवसीय दीपोत्सव कार्यशाला सह प्रदर्शनी का हुआ समापन

Diwali work of small children

विद्यालय की प्रशासिका डॉ. अर्चना सिंह ने कहा कि दीपावली दीपों का त्योहार है। दीप खुशियों का प्रतीक है। उन्होंने इसके लिए विद्यालय के बच्चों द्वारा इस प्रदर्शनी के माध्यम से दीपावली में अपने प्रियजनों को उपहार स्वयं के हाथों से बनाकर देने के लिए प्रेरित किया। इससे एक ओर जहां बच्चों में हुनर सीखने का अवसर मिला, वही लोकल को वोकल बनाने की प्रेरणा भी।

उन्होंने कहा कि दीपावली में दीए जलाएं, ताकि लोकल कलाकारों व शिल्पकार, आदि को प्रोत्साहन मिल सके। इसके साथ ही उन्होंने बच्चों को बताया कि दीपावली में पटाखे सावधानी के साथ जलाएं। अपने अभिभावकों की निगरानी में ही कम पटाखे जलाएं। उन्होंने स्वनिर्मित और स्वदेशी वस्तुओं के उपयोग पर जोर देते हुए उसे जीवन में अपनाने के लिए कहा।

विद्यालय के प्रदर्शनी में प्रदर्शित वस्तुओं को मुख्य अतिथियों ने अवलोकन किया अवलोकन के उपरांत Diwali work of small children नन्हे बच्चों द्वारा बनाई गई आकाश दीप, घरौंदे, वॉल हैंगिंग, ग्रीटिंग कार्ड, वंदन वार, कैंडल स्टैंड और लक्ष्मी गणेश की मूर्तियों को देखकर वे अभिभूत हो गए। इन सभी कलाकृतियों में से सर्वश्रेष्ठ कलाकृतियों का चयन भी किया गया जिसके बाद चयनित बच्चों को विद्यालय की ओर से पुरस्कृत भी किया गया।

प्रबंध निदेशक और प्रशासिका द्वारा बच्चों को पुरस्कृत किया गया। चयनित पुरस्कार पाने वाले बच्चों में आकाश दीप के लिए पंचम वर्ग के छात्रों में प्रथम अंकुश कुमार, द्वितीय उन्नति उपाध्याय और तृतीय पुरस्कार अंशिका शाश्वत को दिया गया। वॉल हैंगिंग में वर्ग पंचम के प्रथम आंशिक कुमार को, द्वितीय पुरस्कार वर्ग चतुर्थ के अंशु कुमार को और तृतीय पुरस्कार वर्ग पंचम के अनीश कुमार को दिया गया।

वही ग्रीटिंग्स कार्ड के लिए चयनित बच्चों में प्रथम पुरस्कार चतुर्थ वर्ग के प्रांजल, द्वितीय पुरस्कार वर्ग प्रथम की वंशिका और तृतीय पुरस्कार वर्ग तृतीय के ओमकार ने हासिल किया। संचालन विद्यालय की शिक्षिका ममता सिंह और धन्यवाद ज्ञापन विद्यालय के प्राचार्य दीपेश कुमार ने किया। इस अवसर पर विद्यालय के अभिभावक, शिक्षक-शिक्षिकाओं के साथ मीडिया और अन्य लोग भी उपस्थित रहे।

RAVI KUMAR
RAVI KUMAR
Journalist
- Advertisment -
Khabre Apki
Mantu Sonar Murder
Khabre Apki
Mantu Sonar Murder

Most Popular