Friday, October 22, 2021
No menu items!
HomeNewsबिहारबिहार पुलिस मेंस एसोसिएशन के प्रांतीय अध्यक्ष के नौ ठिकानों पर छापा

बिहार पुलिस मेंस एसोसिएशन के प्रांतीय अध्यक्ष के नौ ठिकानों पर छापा

Narendra Singh-नरेंद्र सिंह उर्फ धीरज हैं बिहार पुलिस मेंस एसोसिएशन के अध्यक्ष

ईओयू की टीम ने आय से अधिक संपत्ति के मामले में की छापेमारी

एक सप्ताह पूर्व बालू उत्खनन मामले में निलंबित एमभीआई के ठिकानों पर भी ईओयू ने की थी छापेमारी

खबरे आपकी आरा। आय से अधिक संपत्ति मामले में आर्थिक अपराध इकाई ने मंगलवार सुबह बिहार पुलिस मेंस एसोसिएशन के प्रांतीय अध्यक्ष Narendra Singh नरेंद्र सिंह उर्फ धीरज के नौ ठिकानों पर छापेमारी की है। बताया जा रहा है कि नरेंद्र सिंह के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति की शिकायत मिलने के बाद ये बड़ी कार्रवाई हुई है। अपराध इकाई ने नरेंद्र सिंह उर्फ धीरज के खिलाफ सोमवार को मामला दर्ज किया था। जिसमे उन पर स्वयं व अपने परिजनों के नाम पर करोड़ों की अचल संपत्ति अर्जित करने का आरोप है, जिसके पश्चात उनके नौ ठिकानों पर छापेमारी जारी है।

छापेमारी के लिए आर्थिक अपराध इकाई ने पुलिस उपाधीक्षक एवं पुलिस निरीक्षकों के नेतृत्व में नौ विशेष टीम का गठन किया गया था।आर्थिक अपराध इकाई द्वारा उनके पटना के बेऊर महावीर कॉलोनी स्थित नरेंद्र सिंह (Narendra Singh) के आवास पर छापेमारी चल रही है। इसके अलावे भोजपुर जिले के सहार थाना के मुजफ्फरपुर गांव स्थित नरेंद्र सिंह के पैतृक आवास पर भी छापेमारी की गयी है। साथ ही नरेंद्र सिंह के भाई सुरेंद्र सिंह के आरा शहर के भेलाई रोड के कृष्णानगर स्थित आवास पर भी छापा मारा गया है। नरेंद्र के भाई विजेंद्र कुमार विमल का भी आरा में मकान है। वहां भी छापेमारी की जा रही है। वही दूसरी ओर अरवल जिले में भी नरेंद्र के भाई के घर पर छापा मारा गया है। आपको बता दे कि आर्थिक अपराध इकाई ये उम्मीद जताई जा रही है कि छापेमारी के दौरान करोड़ों की संपत्ति मिलेगी।

बता दें कि Narendra Singh नरेंद्र सिंह उर्फ धीरज बिहार पुलिस में सिपाही के पद पर तैनात हैं। लेकिन उनके खिलाफ आय से अधिक संपत्ति की शिकायत मिलने के बाद आर्थिक अपराध इकाई की टीम ने पहले जांच की और पक्की सूचना जुटा ली। इसके बाद नरेंद्र सिंह और उनके भाइयों के घरों पर एक साथ छापेमारी की गई है। छापेमारी की कार्रवाई पटना, आरा और अरवल जिले में चल रही है।

Narendra Sing house

बता दें कि इसी वर्ष के सात जून को भोजपुर पुलिस ने खाकी के बल पर चल रहे बालू लदे ट्रकों से अवैध वसूली के एक बड़े रैकेट का खुलासा किया था। जिसमे रैकेट संचालन में बिहार पुलिस मेंस एसोसिएशन के अध्यक्ष नरेंद्र सिंह उर्फ धीरज यादव के भाई अशोक यादव को गिरफ्तार किया कर जेल भेजा दिया था। उसकी गिरफ्तारी अरवल स्थित आवास से हुई थी। वही पुलिस ने सहार स्थित उसके घर मर छापेमारी भी की थी।

छापेमारी के दौरान घर में मौजूद अलमीरा से करीब साढे सात लाख रुपये की बरामद की थी। इसके साथ ही उस मामले में में प्रयुक्त एक मोबाइल फोन एवं व्हाट्सएप चैट को जब्त किया गया है। उसमे मामले में तत्कालीन सहार थाना इंचार्ज आनंद सिंह की भी संलिप्ता पाई गई थी। जिसके जांच उपरांत उन्हें भी निलंबित कर दिया गया था। इसके बाद उनके खिलाफ भी प्राथमिकी दर्ज की गई थी। हालांकि वह अभी तक फरार चल रहे हैं। बता दें कि 1 सप्ताह पूर्व ईओयु की टीम ने बालू उत्खनन मामले में निलंबित भोजपुर के एमभीआई विनोद कुमार सिंह के आरा के आनंद नगर स्थित ठिकानों पर छापेमारी की थी।

पढ़ें- तयशुदा शादी जब लेनदेन में लटका – पुलिस थाने में अरेंज मैरिज बना प्रेम विवाह

- Advertisment -
ad
ad
ad
ad
ad (2)
AD
ad
ad (2)
Ad

Most Popular