Saturday, October 16, 2021
No menu items!
Homeराजनीतशाहपुर में जुगनू देवी,कोईलवर में वीरमन्यु यादव और जगदीशपुर में संतोष यादव...

शाहपुर में जुगनू देवी,कोईलवर में वीरमन्यु यादव और जगदीशपुर में संतोष यादव बने मुख्यपार्षद

Chief councilor-भोजपुर जिले के तीन नगर निकाय में भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मुख्यपार्षद का चुनाव शांति पूर्वक सम्पन्न

खबरे आपकी भोजपुर/शाहपुर/जगदीशपुर/कोईलवर: शाहपुर नगर पंचायत का ताज हुआ जुगनू के नाम। शाहपुर नगर पंचायत के मुख्यपार्षद की कुर्सी पर वार्ड नं 9 की महिला पार्षद जुगनू देवी ने कब्जा किया। इसके पूर्व भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मुख्यपार्षद (Chief councilor) के चुनाव के लिए प्रक्रिया शुरू हुई। जिसमें शाहपुर नगर पंचायत के कुल 11 वार्ड पार्षदो में से 8 वार्ड पार्षदो ने भाग लिया। चुनाव के प्रतिनियुक्त पर्यवेक्षक सह डीडीसी भोजपुर हरिनारायण पासवान व निर्वाची पदाधिकारी पीजीआरो जगदीशपुर नीरज कुमार के देखरेख में वार्ड पार्षदो द्वारा मुख्यपार्षद पद के लिए जुगनू देवी के नाम को वार्ड पार्षद विवेक कुमार द्वारा प्रस्तावित किया गया। निर्वाचित पदाधिकारी पीजीआरओ जगदीशपुर नीरज कुमार ने बताया कि चुनाव में कुल ए 11 वार्ड पार्षदों में से 8 पार्षद उपस्थित हुए। वार् चनंबर 4,5 व 9 के वार्ड पार्षद सदन से अनुपस्थित रहे। जिसमें जुगनू देवी का नाम मुख्य पार्षद पद के लिए प्रस्तावित किया गया सभी पार्षदों द्वारा सर्वसम्मति से मुख्य पार्षद पद के लिए जुगनू देवी को चुना गया इस तरह शाहपुर नगर पंचायत के मुख्य पार्षद पद पर जुगनू देवी को निर्विरोध निर्वाचित घोषित किया गया। जिसके पश्चात निर्वाची पदाधिकारी एवं प्रेक्षक डीडीसी भोजपुर हरिनारायण पासवान द्वारा नवनिर्वाचित मुख्य पार्षद को प्रमाण पत्र दिया गया। साथ ही साथ मुख्य पार्षद को पद व गोपनीयता की शपथ भी दिलाई गई।

Chief Councilor
जगदीशपुर एसडीपीओ श्याम किशोर रंजन, शाहपुर थाना अध्यक्ष नित्यानंद शर्मा मॉनिटरिंग करते

शाहपुर नगर पंचायत के मुख्य पार्षद चुनाव हेतु विधि एवं शांति व्यवस्था स्थापित करने को लेकर जगदीशपुर एसडीपीओ श्याम किशोर रंजन काफी सक्रिय दिखे। साथ ही साथ बतौर दंडाधिकारी शाहपुर अंचलाधिकारी पंकज कुमार झा भी पूरे चुनाव स्थल का जायजा लेते रहे। चुनाव को लेकर भारी पुलिस बल की तैनाती चुनाव स्थल के आसपास की गई थी। जिसकी मॉनिटरिंग शाहपुर थाना अध्यक्ष नित्यानंद शर्मा ने करते रहे।

शाहपुर नगर पंचायत के मुख्यपार्षद की कुर्सी पर आसीन होते ही जुगनू देवी के साथ कई कीर्तिमान जुड़ गए। जिनकी बराबरी तो हो सकती है लेकिन टूटना बहुत मुश्किल है। जुगनू देवी शायद सबसे कम समय तक नपं के मुख्यपार्षद की कुर्सी पर पदासीन होंगी। पांच वर्षों के कार्यकाल में ही पति व पत्नी दोनों ही एक ही नपं के मुख्यपार्षद बने। जुगनू देवी सबसे कम उम्र की मुख्यपार्षद है। शाहपुर नगर पंचायत के इतिहास में यह पहला मौका रहा कि महज 4 वर्ष 4 महीनों में ही तीन मुख्यपार्षद बने। नपं चुनाव में बाद वार्ड संख्या 9 के पार्षद वशिष्ठ प्रसाद उर्फ मंटू सोनार की मुख्यपार्षद बने। जिन्हें कुल 11 पार्षदों में से 8 वार्ड पार्षदों द्वारा अविश्वास प्रस्ताव के माध्यम से हटा दिया गया। जिसके बाद 7 वार्ड पार्षदों के समर्थन से वार्ड संख्या 5 के पार्षद विजय कुमार सिंह मुख्यपार्षद बने। जिन्हें विगत 2 सितंबर को 2 वर्ष के तुरंत बाद ही अविश्वास प्रस्ताव लाकर 8 वार्ड पार्षदो द्वारा कुर्सी से बेदखल कर दिया गया।

शाहपुर नगर पंचायत के नवनिर्वाचित मुख्यपार्षद की कुर्सी पर हाई कोर्ट की तलवार अगले 6 सप्ताह तक लटकी रहेगी। तत्कालीन मुख्यपार्षद विजय कुमार सिंह के याचिका पर 20 सितंबर को सुनवाई करते हुए हाई कोर्ट ने चार सप्ताह में सभी विपक्षी को अपना जवाब दाखिल करने को कहा गया है। जिसके बाद कोर्ट द्वारा 6 सप्ताह बाद सुनवाई करते हुए फैसला सुनाया जायेगा। विदित हो कि तत्कालीन मुख्यपार्षद विजय कुमार सिंह ने अपने उपर लाये गए अविश्वास प्रस्ताव की प्रक्रिया को गलत करार देते हुए हाई कोर्ट में दाखिल की गई थी।

जुगनूमुख्यपार्षद के निर्विरोध निर्वाचित घोषित होने के बाद उनके समर्थकों द्वारा उत्साहित होकर खूब पटाखे छोड़े गए। साथ ही साथ अबीर गुलाल लगाकर एक दूसरे को बधाई देते रहे। समर्थक ढोल नगाड़ों के साथ शाहपुर बाजार में मुख्यपार्षद जुगनू देवी के घर पास नाचते हुए जयकारे भी लगाते रहे। हालांकि प्रशासन की सख्ती के बाद नारे लगाने वाले समर्थक घरों में दुबक गए। बधाई देने वालो में जदयू प्रखंड उमेश चंद्र पांडे, भाजपा युवा मोर्चा अध्यक्ष अंकित पांडे, भाजपा नपं अध्यक्ष चंदन पांडे, महामंत्री प्रदीप गुप्ता, ललन पासवान सहित कई लोगो ने बधाई दी।

शाहपुर नगर पंचायत के नवनिर्वाचित मुख्य पार्षद जुगनू देवी ने शाहपुर नगर पंचायत के समग्र विकास को अपनी प्राथमिकता बताया गया। साथ ही साथ उन्होंने जोर देकर कहा कि सभी पार्षदों को साथ लेकर चलना तथा नगर पंचायत वासियों के आकांक्षाओ पर खरा उतरना उनकी जिम्मेवारी रहेगी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि समय कम है और कम समय और सीमित संसाधनों के बीच विकास के कार्यों को पूरा करना भी चुनौती होगी।

Chief councilor-जगदीशपुर नगर पंचायत के मुख्यपार्षद बने संतोष यादव

जगदीशपुर नगर पंचायत के मुख्य पार्षद पद पर संतोष कुमार यादव निर्विरोध निर्वाचित हुए, मुख्य पार्षद पद के लिए निर्वाचन की प्रक्रिया कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच निर्वाची पदाधिकारी सह पीरो के भूमि सुधार उप समाहर्ता दुष्यंत कुमार और अपर समाहर्ता कुमार मंगलम की उपस्थिति में शुरू हुई, जिसमें 16 वार्ड पार्षदों ने हिस्सा लिया! वार्ड संख्या 14 की पार्षद रीता कुमारी बैठक में अनुपस्थित रहीं! वार्ड संख्या 05 के पार्षद संजय पासवान ने मुख्य पार्षद पद के लिए संतोष कुमार यादव का नाम प्रस्तावित किया, जिसका वार्ड संख्या 10 के पार्षद रवींद्र चौधरी ने समर्थन किया, जिसके बाद उपस्थित सभी 16 वार्ड पार्षदों ने सर्वसम्मति से संतोष कुमार यादव को निर्विरोध रूप से जगदीशपुर नगर पंचायत का मुख्यपार्षद(Chief councilor)चुन लिया।

कोईलवर नगर पंचायत के मुख्यपार्षद बने वीरमन्यु यादव

कोइलवर नगर पंचायत में पिछले सवा दो महीने से चल रहा सस्पेंस नये मुख्य पार्षद (Chief councilor) के चुने जाने के साथ ही समाप्त हो गया! वार्ड चार के पार्षद यादवेंद्र उर्फ वीरमन्यु यादव मुख्य पार्षद पद के लिए निर्विरोध चुन लिए गये! निर्विरोध चुने जाने के बाद उनके समर्थकों में हर्ष की लहर दौड़ गयी! चुनाव के बाद जैसे ही निर्वाचित होकर वीरमन्यु बाहर निकले उनके समर्थकों ने उन्हें फूल माला से लाद दिया!

निर्विरोध चुने गये वीरमन्यु पूर्व मुख्य पार्षद विनोद कुमार पर लगाये गये अविश्वास प्रस्ताव के बाद आयोजित चुनाव प्रक्रिया में वार्ड 04 के पार्षद यादवेंद्र उर्फ वीरमन्यु निर्विरोध चुने गये! निर्वाचन के लिए मंगलवार सुबह 11 बजे से आहूत बैठक में तय समय तक 10 पार्षद उपस्थित हुए, जबकि पूर्व मुख्य पार्षद विनोद कुमार, शिवकुमार सिंह, राजगृही प्रसाद और कुमार पासवान अनुपस्थित रहे! तय समय साढ़े 12 बजे से नॉमिनेशन की प्रक्रिया प्रारंभ की गयी, जिसमें एक ही पार्षद यादवेंद्र उर्फ वीरमन्यु ने नॉमिनेशन किया! नॉमिनेशन में ने प्रस्तावक के रूप में प्रभात कुमार जबकि समर्थक के रूप में राजकुमार ने अपनी सहमति प्रदान की तय समय सीमा तक किसी अन्य पार्षद के नॉमिनेशन न कराने की स्थिति में यादवेंद्र उर्फ वीरमन्यु को Chief councilor निर्विरोध विजयी घोषित कर दिया गया।

पढ़ें- तयशुदा शादी जब लेनदेन में लटका – पुलिस थाने में अरेंज मैरिज बना प्रेम विवाह

- Advertisment -
ad
ad
ad
ad
ad (2)
AD
ad
ad (2)
Ad

Most Popular