Wednesday, March 3, 2021
No menu items!
Home News बिहार दो पक्षों में मारपीट व रोडे़बाजी-हथियार के साथ चार गिरफ्तार

दो पक्षों में मारपीट व रोडे़बाजी-हथियार के साथ चार गिरफ्तार

शहर के टाउन थाना क्षेत्र के नागरी प्रचारिणी के समीप गुरुवार रात की घटना

गिरफ्तार लोगों के पास से एक राइफल व 315 बोर की 12 गोलियों बरामद

मुख्य आरोपित नगर निगम के ठेकेदार सहित दो फरार, स्कॉर्पियो जब्त

जब्त राइफल का लाइसेंस नागालैंड का, छानबीन में जुटी पुलिस

आरा। शहर के नागरी प्राचारिणी के पास गुरुवार की रात दो पक्षों के बीच झड़प हो गयी। इस दौरान जमकर मारपीट हुई। रोडे़बाजी भी की गयी। इसमें दोनों पक्षों के तीन लोगों को चोटें आयी है। वहीं झड़प की सूचना पर पहुंची पुलिस ने हथियार के साथ चार लोगों को गिरफ्तार किया है। जबकि दो लोग भागने में सफल रहे। गिरफ्तार लोगों के पास से एक राइफल व 315 बोर की 12 गोलियां बरामद की उनकी स्कॉर्पियो भी जब्त कर ली गयी है। जब्त राइफल का लाइसेंस नागालैंड का बताया जा रहा है। गिरफ्तार लोगों में आशीष कुमार सिंह, अभिषेक कुमार, अमित सिंह और सियाराम यादव शामिल हैं। वहीं भागने वालों मे निरंजन सिंह व पिंटू सिंह है। इनमें निरंजन सिंह नगर निगम का ठेकेदार है। सभी एक पक्ष के हैं।

राजस्थान के भिवाडी से स्कॉर्पियो से लौट रहे भोजपुर व बक्सर के 11 लोगों को ट्रक ने रौंदा

बताया जाता है कि गुरुवार की रात करीब नागरी प्राचरिणी के समीप के रहने वाले संजीव डोम का सुधा डेयरी के पास किसी बात को लेकर निरंजन सिंह से झगड़ा हो गया। कुछ देर के बाद नागरी प्रचारिणी के समीप भी दोनों पक्षों के बीच भिड़ंत हो गयी। उस दौरान जमकर लाठी व रॉड से मारपीट हुई और रोडे़बाजी भी की गयी। सूचना मिलने पर प्रभारी थाना इंचार्ज रहमतउल्लाह के नेतृत्व में दारोगा शिवेंद्र कुमार, उमेश पासवान व रितेश दूबे पुलिस बल के साथ पहुंचे। पुलिस को स्कॉर्पियो सवार लोग भागने लगे। लेकिन पुलिस ने खदेड़ कर चार लोगों को पकड़ लिया। एसपी सुशील कुमार के आदेश पर पुलिस ठेकेदार निरंजन सिंह व पिंटू सिंह की गिरफ्तारी के लिये छापेमारी की जा रही है। वहीं राइफल व लाइसेंस की जांच की जा रही है।

मारपीट व हथियार बरामदगी में दर्ज की गयी अलग-अलग तीन प्राथमिकियां

आरा। शहर के नागरी प्राचारिणी के समीप गुरुवार की रात दो पक्षों के बीच मारपीट और हथियार बरामदगी को लेकर अलग-अलग तीन प्राथमिकी दर्ज की गयी है। पहला केस संजीव डोम के बयान पर किया गया है। उसमें निरंजन सिंह व अमित सिंह सहित पांच लोगों को नामजद किया गया है। कहा गया कि रात करीब नौ बजे वह सुधा डेयरी के पास बाइक से जा रहा था। तभी निरंजन सिंह दो लोगों ने रोककर मारपीट की। बाद में स्कॉर्पियो पर सवार निरंजन सहित पांच लोग हथियार पहुंचे और मारपीट करने लगे।

दूसरी प्राथमिकी हरिजी के हाता निवासी आशीष कुमार सिंह के बयान पर दर्ज की गयी है। कहा गया है कि रात में वह निरंजन सिंह के कहने पर अभिषेक कुमार की स्कॉर्पियो से नागरी प्राचारिणी गोलबंर गये। निरंजन सिंह का संजीव डोम से झगड़ा था। वहां पहुंचते ही संजीव डोम व उनके परिवार के लोगों के साथ 30-40 लोगों ने उन लोगों पर हमला कर दिया। जबकि तीसरा केस हथियार बरामदगी में दारोगा रहमतउल्लाह के बयान पर किया गया है। उसमें निरंजन सिंह, आशीष कुमार सिंह, अमित कुमार, अभिषेक कुमार, सियाराम यादव व पिंटू सिंह को आरोपित किया गया है।

और भी पढ़े – खबरें आपकी-फेसबुक पेज

- Advertisment -
Slider
Slider

Most Popular