Thursday, July 29, 2021
No menu items!
HomeNewsभोजपुर: महज 99 दिन में हटा दिये गये 99 वें एसपी राकेश...

भोजपुर: महज 99 दिन में हटा दिये गये 99 वें एसपी राकेश दूबे

SP changed-अवैध बालू के खेल में एसपी पर गिरी गाज

6 अप्रैल को एसपी के रूप जिले में हुई थी पोस्टिंग और 14 जुलाई को तबादला

एसपी के रूप में हाल के दिन में सबसे कम रहा राकेश दूबे का कार्यकाल

पूर्व एसपी हर किशोर राय रह सके थे भोजपुर में महज साढ़े सात माह 

अवैध बालू को लेकर सूबे में मचे बवडंर में भोजपुर एसपी पर आखिरकार गाज गिर ही गयी। जिल के 99 वें एसपी बने राकेश कुमार दूबे ठीक 99 दिन बाद हटा दिये गये। इसे लेकर गृह विभाग द्वारा अधिसूचना जारी कर दी गयी है। हालांकि अभी तक किसी एसपी की पोस्टिंग की सूचना नहीं है। हाल के दिनों में जिले में एसपी राकेश कुमार दूबे का कार्यकाल सबसे कम रहा है। पूर्व एसपी हर किशोर राय भी साढ़े सात माह ही जिले में रह सके थे।

बता दें कि इसी साल छह अप्रैल 2021 को हर किशोर राय का तबादला करते हुये बिहार के राज्यपाल के एडीसी रहे राकेश कुमार दूबे को नया एसपी बनाया गया था। इन्होंने दस अप्रैल को भोजपुर में योगदान दिया था। उसके ठीक 99 दिन बाद राकेश कुमार दूबे भोजपुर से हटा दिये गये। राकेश कुमार दूबे की बतौर एसपी जिले में पहली पोस्टिंग थी।

 SP changed
सितंबर 2018 से अबतक बदले गये भोजपुर के चार एसपी

SP changed-सितंबर 2018 से अबतक बदले गये भोजपुर के चार एसपी

बताते चलें कि भोजपुर में हाल के दिनों में ताबड़तोड़ एसपी का तबादला किया जा रहा है। सितंबर 2018 के बाद से अबतक जिले के चार एसपी का तबादला किया जा चुका है। इनमें आदित्य कुमार महज नौ माह, तो सुशील कुमार 15 माह तक एसपी रहे। जिले की विधि-व्यवस्था पर इसका प्रतिकुल असर की बात कही जा रही है।

SP changed-बता दें कि सितंबर 2018 में जिले के एसपी रहे अवकाश कुमार का तबादला किया गया था। उनके बदले आदित्य कुमार को नया एसपी बनाया गया। मई 2019 में आदित्य कुमार को हटा कर सुशील कुमार को एसपी बना दिया गया। 15 माह बाद सुशील कुमार का भी तबादला कर दिया गया। तब हर किशोर राय को जिले की कमान दी गयी थी।पढ़ें- बीसीसीआई ने क्या कहा अपने विदेशी खिलाडियों से ?

बालू की अवैध ढुलाई का वायरल वीडियो पुलिस के लिये बन गयी फांस

पुलिस की देखरेख में ट्रैक्टर से बालू की अवैध ढुलाई का वीडियो हुआ था वायरल

ब्रॉडसन कंपनी द्वारा बालू का उठाव बंद किये जाने के बाद शुरू जमकर हुआ था खेल

सोन नदी के सुनहरे बालू के काले धंधे के खेल ने सूबे के पुलिस और प्रशासनिक महकमे में खलबली मचा दी है। सरकार की ओर से की जा रही ताबड़तोड़ कार्रवाई से छोटे से बड़े अफसरों तक की नींद उड़ गयी है। दारोगा स्तर से शुरू कार्रवाई एसपी रैंक तक पहुंच गयी है। अवैध ढुलाई के वायरल वीडियो ने ऐसी तुफान मचायी कि कुछ बड़े अधिकारी भी नप गये। पढ़ें- अश्लीलता की हांडी में लोकप्रियता की खिचड़ी पकाते भोजपुरी गायक

बताया जा रहा है कि गत दिनों बालू खनन पर रोक के बावजूद अवैध ढुलाई का एक वीडियो वायरल हुआ था। उसमें पुलिस की देखरेख में अवैध बालू लदे गाड़ियों को पार कराते देखा जा रहा था। वह वीडियो बड़हरा इलाके का बताया जा रहा था। तब एसपी राकेश कुमार दूबे द्वारा बड़हरा के तत्कालीन थानेदार सहित आधा दर्जन पुलिस कर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया था। तबतक देर हो चुकी थी और वीडियो ऊपर तक पहुंच गया था।

उसके बाद आर्थिक अपराध इकाई द्वारा अवैध खनन की जांच शुरू कर दी गयी थी। आर्थिक अपराध इकाई की रिपोर्ट के आधार पर ही सरकार द्वारा कार्रवाई करते हुये पहले चार जिलों के 14 थानेदारों सह दारोगा का रेंज ट्रांसफर कर दिया गया। अब भोजपुर और औरंगाबाद के एसपी भी हटा दिये गये। इसके अलावे पटना के डीटीओ और रोहतास जिले के डेहरी के एसडीओ सहित अन्य अफसर भी बदल दिये गये हैं। 

खनन पर रोक के बावजूद जारी रहा अवैध बालू का खेल

बताया जा रहा है कि अवैध खनन और ढुलाई से परेशान ब्रॉडसन कंपनी द्वारा बालू का उठाव करने से इनकार कर दिया गया। इसे लेकर कंपनी द्वारा एक मई को सरकार को भी अपने निर्णय से अवगत करा दिया गया था। उसके बाद सरकार द्वारा सोन नद से बालू के उठाव पर रोक लगा दी गयी थी। लेकिन रोक के बाद भी बालू का अवैध खनन और ढुलाई का खेल धड़ल्ले से चलता रहा। इस दौरान पुलिस की मिलीभगत से भी अवैध खेल शुरू हो गया। बताया जा रहा है कि एक से 17 मई के बीच बालू का अवैध खेल चरम पर रहा। इस बीच वीडियो भी वायरल होता रहा। पढ़ें- किसके परामर्श से लालू यादव के पार्टी का नाम रास्ट्रीय जनता दल रखा गया था ?

- Advertisment -
AD
Ad
Bhojpur Police web Link
Akash Yadav Murder Shahpur
Sakdi murder case
Bhojpur Police web Link
Akash Yadav Murder Shahpur Bihar
Sakdi-murder-case-

Most Popular