Thursday, June 20, 2024
No menu items!
Homeराजनीतकांग्रेस व उसके नेता पाकिस्तान व चीन की भाषा बोल रहे हैं...

कांग्रेस व उसके नेता पाकिस्तान व चीन की भाषा बोल रहे हैं – उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी

1962 का पाप धाने के लिए कांग्रेस सेना पर उठा रही है सवाल

औरंगाबाद जिला अन्तर्गत गोह विधानसभा क्षेत्र के लिए आयोजित वर्चुअल रैली को सम्बोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि कांग्रेस व उसके नेता चीन और पाकिस्तान की भाषा बोल रहे हैं। कांग्रेस नेताओं ने बोफोर्स का पाप धोने के लिए राफेल का मुद्दा उठाया जिसमें वे बुरी तरह विफल रहे। अब 1962 की करारी हार का पाप धोने के लिए सेना पर सवाल ऐसे समय उठा रहे हैं जब सेना देश के दुश्मनों से लड़ रही है।

Election Commission of India
Election Commission of India

सुशील मोदी ने कहा कि चीन से समझौता करने वाले आज हम से सवाल पूछ रहे हैं। प्रधानमंत्री चीन के वुहान जरूर गए परंतु उन्होंने चीन की ‘बेल्ट एंड रोड’ इन्सिएटिव को स्वीकार नहीं किया। महाबलीपुरम में वे चीनी राष्ट्रपति से जरूर मिले मगर डोकलाम से चीन को पीछे हटने के लिए बाध्य भी किया। चीन के साथ 18 शिखर बैठकों के बावजूद भारत के हित में नहीं रहने के कारण क्षेत्रीय व्यापारिक आर्थिक साझेदारी के मसौदे पर हस्ताक्षर करने से इंकार कर दिया।

कांग्रेस व उसके नेता पाकिस्तान व चीन की भाषा बोल रहे हैं - उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी

Ara Crime - CCTV of Firing -  आरा में फायरिंग का सीसीटीवी वीडियो
Ara Crime - CCTV of Firing - आरा में फायरिंग का सीसीटीवी वीडियो

आराः सदर अस्पताल के बाहर सड़क किनारे मिले उपयोग किए हुए पीपीई किट

डा. मनमोहन सिंह के प्रधानमंत्रित्व काल 2010-13 के बीच 600 से ज्यादा बार चीनी सेना ने घुसपैठ किया और भारत को देपसांग, चुमार, पेनगोंग में 640 वर्ग किमी जमीन गंवा देनी पड़ी। इस बार चीन ने गलवान घाटी में सरहद पार करने का नहीं बल्कि लक्ष्मण रेखा लांधने का प्रयास किया तो भारत ने उसका माकूल जवाब दिया है।

सुशील मोदी ने कहा कि नवाज शरीफ के घर पहुंच कर दोस्ती का हाथ बढ़ाने वाले प्रधानमंत्री सर्जिकल स्ट्राइक कर सबक सिखाना भी जानते हैं। कश्मीर में अनुच्छेद 370 को हटा कर जहां यथास्थिति को खत्म किया वहीं चीन के विरोध के बावजूद लद्दाख को केन्द्र शासित राज्य बनाया।

शहीद चंदन यादव के परिजनों से मिले जाप संरक्षक राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव

मध्य बिहार में पानी की किल्लत की चर्चा करते हुए कहा कि अब किसानों को डीजल से खेती नहीं करनी पड़ेगी। अब तक बिहार के 1.90 लाख किसानों को कृषि हेतु बिजली का कनेक्शन दिया जा चुका है जिन्हें प्रति यूनिट मात्र 65 पैसे का भुगतान करना होगा। अगर दुबार मौका मिला तो हर खेत तक बिजली पहुंचा दी जाएगी।

केन्द्र सरकार ने 1500 से ज्यादा विशेष श्रमिक ट्रेनों के जरिए 21 लाख से ज्यादा श्रमिकों को उनके घरों तक पहुंचाया और राज्य सरकार 14 दिनों तक उन्हें क्वरेंटाइन सेंटर में रख कर उनकी देखभाल की है। कोरोना संकट के दौरान 8.71 करोड़ लोगों को 15 किलो चावल व 3 किलो दाल मुफ्त में दिया गया है। कोरोना से लड़ने वाली सरकार चीन को भी जवाब देने में सक्षम है।

भोजपुर एसपी सुशील कुमार ने जारी किया जिलादेश-पांच दारोगा समेत 13 पुलिस अफसरों का तबादला

और भी पढ़े – खबरें आपकी-फेसबुक पेज

- Advertisment -
khabre
khabre

Most Popular