Friday, August 7, 2020
No menu items!
Home खेल कबड्डी आरा में ट्रेन से कटकर कबड्डी खिलाड़ी ने दी जान- पॉकेट से...

आरा में ट्रेन से कटकर कबड्डी खिलाड़ी ने दी जान- पॉकेट से मिला सुसाइड नोट

आरा और कारीसाथ रेलवे स्टेशन के बीच डाउन लाइन पर शनिवार सुबह की घटना

सुबह में दौड़ने के लिये घर से निकला था छात्र सह कबड्डी खिलाड़ी

आरा। दानापुर-पीडीडीयू रेलखंड पर कारीसाथ और आरा स्टेशन के बीच शनिवार की सुबह ट्रेन से कटकर एक कबड्डी खिलाड़ी ने खुदकुशी कर ली। उसका शव सुबह करीब सात बजे रेलवे ट्रैक से बरामद किया गया। उसकी पॉकेट से एक सुसाइड नोट भी मिला है। इससे खुदकुशी किये जाने की बात कही जा रही है।

एसपी सुशील कुमार द्वारा जारी किया गया आदेश-तीन इंस्पेक्टर व दो दारोगा को मिली नयी जिम्मेदारी

इधर, खिलाड़ी का शव मिलने से सनसनी मच गयी। सूचना मिलते ही आरा रेल पुलिस मौके पर पहुंची और शव का पोस्टमार्टम करवाया गया। जानकारी के अनुसार मृतक शहर नवादा थाना क्षेत्र के कुर्मी टोला अनाइठ वार्ड नंबर-44 निवासी स्व.रामाज्ञा चौधरी के 20 वर्षीय पुत्र मनीष कुमार उर्फ अभिषेक कुमार है। वह जैन कॉलेज में बीएससी पार्ट वन का छात्र था और कबड्डी का खिलाड़ी था।

आरा में ट्रेन से कटकर कबड्डी खिलाड़ी ने दी जान- पॉकेट से मिला सुसाइड नोट

गोली से जख्मी युवक की चिकित्सक डॉ. विकास ने बचाई जान-ऑपरेशन कर निकाला गोली

यूडी केस दर्ज कर मौत व सुसाइड दोनों एंगल से जांच कर रही रेल पुलिस

उसके बड़े भाई के अनुसार मनीष कुमार हर रोज सुबह दौड़ने के लिए जाता था। शनिवार की सुबह करीब 4 बजे दौड़ने के लिए घर से निकला था। सुबह 10 बजे तक वापस नहीं आया तो उसने उसके मोबाइल पर कॉल की, तब जीआरपी थाना प्रभारी ने कॉल रिसीव की। इसके बाद घटना की सूचना मिली। उसने बताया कि मनीष पढ़ने में बहुत तेज था व कबड्डी का राज्यस्तरीय खिलाड़ी था। जीआरपी थाना इंचार्ज शाहनवाज खान ने बताया कि मृत युवक की पॉकेट से एक सुसाइड नोट भी मिला है। इस मामले में यूडी केस दर्ज कर दोनों एंगल से मामले की छानबीन की जा रही है।

भोजपुर जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या पहुंची 637

किसी से कोई शिकायत नहीं, मां से मिलने जा रहा हूं!

आरा। बीएससी के छात्र व कबड्डी खिलाड़ी की पॉकेट से एक सुसाइड नोट भी मिला है। नोट में लिखा है कि मुझे किसी से कोई दिक्कत और शिकायत नहीं है। मुझे अपनी मां के पास जाना है। मैं मां के पास जा रहा हूं। भैया मुझे माफ कर देना। रेल पुलिस ने नोट को जब्त कर लिया है और उसकी जांच की जा रही है। बताया जा रहा है कि मनीष कुमार के माता-पिता की पहले ही मौत हो चुकी है। छह साल पूर्व पिता और तीन साल पहले मां का देहांत हो चुका है। उसको अपनी मां से काफी लगाव था। उनकी मौत के बाद से ही वह परेशान था। वह तीन भाइयों में सबसे छोटा था। फिलहाल अपने भाइयों के साथ रहता था। उसकी मौत से बड़े भाइयों का रो-रोकर बुरा हाल था।

और भी पढ़े – खबरें आपकी-फेसबुक पेज

- Advertisment -
Shadow
Slider

Most Popular

भोजपुर से बडी खबरः कोरोना के 80 पॉजिटिव मरीज मिले

1814 लोगों का हुआ रैपिड टेस्ट, 80 लोग पाए गए पॉजिटिव आरा। भोजपुर जिले में शुक्रवार की शाम कोरोना को लेकर एक बड़ी खबर सामने...

आरा: बारिश के खुशनुमा मौसम में कजरी व झूला ने अद्भुत छटा बिखेरी

बारिश के खुशनुमा मौसम में कजरी व झूला ने अद्भुत छटा बिखेरी। अवसर था आरा एचडी जैन कॉलेज के प्रदर्श कला विभाग द्वारा आयोजित...

भोजपुर के उमरावगंज में बाइक के टक्कर से वृद्ध की मौत

सड़क किनारे बैठा था वृद्ध व्यक्ति, तभी बाइक ने मार दी टक्कर आरा।बिहिया(जितेंद्र कुमार) बहोरनपुर ओपी के करजा राजपुर सड़क पर बाइक धक्के से एक...

अभिषेक की उपलब्धि युवाओं के प्रेरणा- ई. संजय शुक्ल

इंजीनियर सह प्रख्यात चिंतक संजय शुक्ल ने अभिषेक को दी बधाई आरा। अगर सच्ची लगन हो और चाहत को पाना हो तो क्या नही हो...
Don`t copy text!