Sunday, November 27, 2022
No menu items!
Homeमनोरंजनकलामान बढ़ाव-शान बढ़ाव भोजपुरी के अभिमान बढ़ाव

मान बढ़ाव-शान बढ़ाव भोजपुरी के अभिमान बढ़ाव

  • Bhojpuri Movementभोजपुरी कला संरक्षण मोर्चा से जुड़े चित्रकारों ने किया प्रर्दशन
  • पूरे शाहाबाद के रेलवे प्लेटफॉर्म पर हो भोजपुरी चित्रकला का अंकन

खबरे आपकी आरा। Bhojpuri Movement “भोजपुरी संस्कृति जिंदाबाद”, “भोजपुरी कला संस्कृति को मान दो”, “हमको हमारा स्थान दो भोजपुरी कला संस्कृति की उपेक्षा बंद करो”, “हमको यह अभिमान है जारी यह अभियान है भोजपुरी कला का सम्मान करें”, “मान बढ़ाव शान बढ़ाव भोजपुरी के अभिमान बढ़ाव” आदि नारों को भोजपुरी कला संरक्षण मोर्चा से जुड़े चित्रकारों ने कार्डबोर्ड पर अंकित किया और उसके बाद मोर्चा के सभी सदस्यों ने स्थिर प्रदर्शन किया।

पढ़े : आजादी के 74 साल बाद भी-“रोड ना बनला के चलते जूतो-चप्पल अब हाथे में लेके चले के पड़त बा”

वरिष्ठ चित्रकार और मोर्चा के कोषाध्यक्ष कमलेश कुंदन ने कहा कि पूरे शाहाबाद के रेलवे प्लेटफॉर्म पर भोजपुरी चित्रकला का अंकन होना चाहिए, जो बाहर से आनेवाले के लिए न केवल आकर्षक का केंद्र होगा और वे हमारी संस्कृति से रूबरू होंगें। ये हमारी पहली प्राथमिकता है। चित्रकार और मोर्चा के उप संयोजक विजय मेहता ने कहा कि भोजपुरी कला संरक्षण मोर्चा के द्वारा जारी इस आंदोलन Bhojpuri Movement को साहित्यकारों, संस्कृतिकर्मियों, सामाजिक कार्यकर्ताओं एवं अन्य बुद्धिजीवियों का व्यापक पैमाने पर समर्थन मिलने लगा है। अतएव यह आंदोलन अपने मंजिल पर अवश्य पहुंचेगा।

पढ़े : दोनों पक्षों के तीन लोगों की गयी जान-इमरान के बाद शबनम और सोनू हत्याकांड के फैसले की बारी

चित्रकार रौशन राय ने कहा कि भोजपुरी भाषी क्षेत्र में बनाये जाने वाले पीड़िया लेखन और कोहबर लेखन को मान सम्मान के साथ रेलवे स्टेशन, सार्वजनिक स्थानों पर मान-सम्मान के साथ बनवाया जाए। ऑल इंडिया थियेटर कौंसिल के राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक मानव ने बताया कि ऑल इंडिया थियेटर कॉउन्सिल के राष्ट्रीय वेबिनार में सभी सदस्यों ने भोजपुरी कला संरक्षण मोर्चा के इस आंदोलन को अपना समर्थन दिया।

पढ़े : आरा बैग व्यवसायी इमरान हत्याकांड में कुख्यात खुर्शीद कुरेशी समेत 10 अभियुक्तों को सजा ए मौत

Bhojpuri Movement – आंदोलन स्थल पर आकर भारतीय जनसंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष आचार्य भारत भूषण पांडेय ने अपना समर्थन मोर्चा को दिया। हैदराबाद से भोजपुरिया अर्चना पांडेय ने कविता के माध्यम से अपना समर्थन दिया। आज के कार्यक्रमों को सफल बनाने में रवींद्र भारती, कृष्णेन्दु, भास्कर मिश्र, संजय कुमार पाल, मनोज कुमार श्रीवास्तव, रूपेश कुमार पांडेय (ज्ञानपुरी), मनोज कुमार सिंह, शालिनी श्रीवास्तव, साधना श्रीवास्तव, संजय सिंह, किशन सिंह, रतन देवा, विवेकदीप पाठक ने उल्लेखनीय सहयोग प्रदान किया।

KRISHNA KUMAR
KRISHNA KUMAR
Journalist
- Advertisment -
chhotki singhi firing
chhotki singhi firing
chhotki singhi firing
chhotki singhi firing

Most Popular