Tuesday, February 7, 2023
No menu items!
HomeNewsCrimeशाहपुर: दिनदहाड़े हत्या और ताबड़तोड़ फायरिंग से थर्रा उठा नगर

शाहपुर: दिनदहाड़े हत्या और ताबड़तोड़ फायरिंग से थर्रा उठा नगर

News of Shahpur Bhojpur:खबरे आपकी

  • पूर्व चेयरमैन हत्याकांड: हाईलाइट
    • हत्या करने की वारदात के बाद फायरिंग करते भाग निकले बदमाश
    • गोलियों की आवाज से नगर में मची भगदड़, गिरने लगे दुकानों के शटर
    • बाइक सवार दो शूटरों द्वारा पूर्व चेयरमैन बरसायी गयी गोलियां
    • घटनास्थल से पुलिस को तीन खोखे मिले, अपराधियों की धरपकड़ तेज

आरा/शाहपुर: भोजपुर का शाहपुर नगर रविवार की दोपहर गोलियों की तड़तड़ाहट से थर्रा उठा। नगर पंचायत के पूर्व चेयरमैन वशिष्ठ प्रसाद उर्फ मंटू सोनार की दिनदहाड़े हत्या और ताबड़तोड़ फायरिंग से नगर में सनसनी और भगदड़ मच गयी।‌ दुकानों के शटर गिरने लगे, जिससे देखते ही देखते पूरे नगर में सन्नाटा छा गया। हालांकि सूचना मिलते ही एसपी संजय सिंह, जगदीशपुर एसडीपीओ राजीव चंद्र सिंह, बिहिया सर्किल इंस्पेक्टर दयानंद प्रसाद और शाहपुर थानाध्यक्ष नित्यानंद शर्मा सहित अन्य थानों के थानेदार भी पहुंच गये। तब बाजार की स्थिति कुछ सामान्य हुई और दुकान खुलने लगे। पुलिस द्वारा मौके से तीन खोखा भी बरामद किया गया है। बताया जा रहा है कि पूर्व चेयरमैन पार्षद वशिष्ठ प्रसाद उर्फ मंटू सोनार की गोली मारने के बाद अपराधी फायरिंग करते हुए भाग निकले। इधर,सूत्रों की माने तों अपराधियों की संख्या छह थी। लेकिन एक बाइक पर सवार दो अपराधी ही अंधाधुंध फायरिंग कर रहे थे। बाइक चला रहे अपराधी का कद लंबा, जबकि पीछे बैठा अपराधी छोटे कद का था। वही ताबड़तोड़ फायरिंग कर रहा था। कहा जा रहा है कि अपराधियों द्वारा भागते समय भी फायरिंग की जा रही थी। ताकि कोई उन्हें पकड़ने की कोशिश नहीं करें। इससे नगर में दहशत मच गयी और आसपास की दुकानों के शटर गिरने लगे।

News of Shahpur Bhojpur: टोपी पहने अपराधी द्वारा पूर्व चेयरमैन को मारी गयी गोली

शाहपुर नगर पंचायत के पूर्व मुख्य पार्षद वशिष्ठ प्रसाद की हत्या में शामिल अपराधियों की पहचान के लिए पुलिस सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है। वहीं होटल संचालक सहित मौके पर मौजूद लोगों से पूछताछ के आधार पर भी सुराग लिया जा रहा है। इसमें पुलिस को काफी अहम क्लू भी हाथ लगा है। सूत्रों के अनुसार दो हमलावरों की पहचान भी कर ली गयी है। बताया जा रहा है कि कि टोपी पहने एक अपराधी द्वारा पूर्व चेयरमैन को गोली मारी गयी है। इधर, होटल वाले के अनुसार गोली मारने के बाद अपराधी तुरंत भाग निकला। बाहर आने के बाद पल्सर बाइक पर बैठ अपने सहयोगी के साथ पुरब की ओर भाग निकले। एसपी के अनुसार सीसीटीवी फुटेज का विश्लेषण किया जा रहा है। सीसीटीवी के कुछ क्लू मिला है। उसके आधार पर आगे काम किया जा रहा है।

अपराधियों की गिरफ्तारी को सड़क पर उतरे लोग, तीन घंटे जाम रहा हाइवे

News of Shahpur Bhojpur

पूर्व चेयरमैन सह निवर्तमान मुख्य पार्षद पति मंटू सोनार की हत्या से उनके समर्थकों व परिजनों का गुस्सा भड़क उठा। आक्रोशित लोग सड़क पर उतर गये और गैस एजेंसी के समीप बेंच रख हाईवे जाम कर दिया। इस दौरान पुलिस के खिलाफ नारेबाजी भी की गयी। जाम कर रहे लोगों की ओर से अपराधियों की जल्द गिरफ्तारी और उच्चस्तरीय जांच की मांग कर रहे थे। इससे हाईवे पर करीब तीन घंटे तक आवागमन बाधित रहा।‌ बताया जा रहा है कि दोपहर करीब ढ़ाई बजे पूर्व चेयरमैन को गोली मारे जाने की सूचना मिलते ही उनके समर्थक आक्रोशित हो उठे। बाद में आरा से उनकी मौत की सूचना आते ही गुस्साए सड़क पर उतर गये। लोगों का कहना था पूर्व में हमला होने और मांग करने के बाद भी उनको आर्म्स का लाइसेंस नहीं दिया गया। नतीजा हुआ कि उनकी हत्या कर दी गयी। तब मौके पर मौजूद एसपी के आश्वासन पर लोगों का गुस्सा शांत हुआ और आवागमन बहाल किया जा सका।

पोस्टमार्टम के दौरान मृतक के शरीर से मिला गोली का दो बुलेट

शाहपुर नगर पंचायत वार्ड नंबर-10 निवासी निवर्तमान वार्ड पार्षद सह चेयरमैन पति वशिष्ठ प्रसाद उर्फ मंटू सोनार के शव का पोस्टमार्टम सदर अस्पताल में कराया गया। पोस्टमार्टम के दौरान उनके शरीर से गोली का दो बुलेट बरामद किया गया। उसे जांच के लिए पुलिस द्वारा सुरक्षित रख लिया गया है। बताया जा रहा है कि अपराधियों द्वारा उन्हें काफी नजदीक से तीन गोलियां मारी गयी थी। उसमें एक गोली दाहिने साइड सीने और दो गोली हाथ में कंधे के आसपास लगी है।

क्राइम कंट्रोल का पाठ पढ़ा रहे थे एसपी, बदमाशों ने पूर्व चेयरमैन की कर दी हत्या

भोजपुर एसपी संजय कुमार सिंह रविवार को जगदीशपुर में अनुमंडल के थानाध्यक्षों के साथ बैठक कर रहे थे। उसमें थानाध्यक्षों को क्राइम कंट्रोल और अपराधियों की धरपकड़ का पाठ पढ़ाया जा रहा था। तभी अपराधियों ने बगल के शाहपुर नगर में पूर्व नपं चेयरमैन की गोली मार हत्या कर दी गयी। इससे पुलिस महकमे में सनसनी मच गयी। सूचना मिलने पर एसपी बैठक छोड़कर सभी अफसरों के साथ शाहपुर निकल गये। इससे शाहपुर में बाजार पुलिस छावनी में तब्दील हो गया।

  • पहले विपक्षी गुट के टारगेट पर थे पूर्व चेयरमैन मंटू, दूसरे अटेंपट में हत्या
  • सात सितंबर को भी मारी गयी थी गोली, तब बच गयी थी जान
  • पिछली बार दो लाख सुपारी देकर कराया गया था मंटू पर हमला

News of Shahpur Bhojpur:शाहपुर नगर पंचायत के पूर्व चेयरमैन वशिष्ठ प्रसाद उर्फ मंटू सोनार काफी दिनों से विपक्षी गुट के टारगेट पर थे। पहले से ही उनकी हत्या की साजिश की जा रही थी। उसे लेकर पहले भी एक बार उन पर हमला किया जा चुका था। गोली भी मारी गयी थी। तब उनकी जान बच गयी थी, लेकिन दूसरे अटेंपट में गोली उनके सीने के पार हो गयी और मौत हो गयी। बता दें कि इसी साल सात सितंबर को पूर्व मुख्य पार्षद को करीब से दो गोली मारी गयी थी। उसमें गंभीर रूप से जख्मी हो गए थे। बाद में पटना में इलाज के बाद वह बच गये थे। उस दो लाख की सुपारी देकर उन पर हमला कराया गया था। उस मामले में गिरफ्तार बदमाशों द्वारा सुपारी लेकर हत्या की नीयत से उनको गोली मारने की बात स्वीकार की गयी थी। उनके भाई छोटक सोनार की मानें तो अभी कुछ रोज पहले ही वह पटना से गोली निकलवा कर घर लौटे थे। इस बीच रविवार को फिर अपराधियों द्वारा उनको फिर से निशाना बना डाला गया। अबकी बार उनकी मौत हो गयी।

पुलिस बोली: पूर्व चेयरमैन ने गार्ड लेने से किया था इंकार

पूर्व चेयरमैन वशिष्ठ प्रसाद उर्फ मंटू सोनार की हत्या के बाद कई तरह की चर्चा चल रही है। पुलिस पर भी सवाल उठ रहे हैं। उनके समर्थकों का कहना है कि मांग करने के बाद ही उनको आर्म्स का लाइसेंस नहीं दिया गया। इधर, पुलिस का कहना है कि सात सितंबर की घटना के बाद एसपी द्वारा पूर्व चेयरमैन और उनकी पत्नी को अपने कार्यालय में बुलाया गया था। तब एसपी द्वारा वशिष्ठ प्रसाद व उनकी पत्नी जुगनू देवी को समझा-बुझाकर मामले को शांत करने तथा सुरक्षा गार्ड लेने की बात कही गई थी। इधर, एसपी के अनुसार पूर्व चेयरमैन द्वारा गार्ड लेने से इनकार कर दिया था। उसके कारण उन्हें गार्ड मुहैया नहीं कराया जा सका।

एक रोज पहले भी हुआ था विवाद, दोनों पक्षों ने दर्ज करायी थी प्राथमिकी

News of Shahpur Bhojpur शाहपुर पूर्व चेयरमैन वशिष्ठ प्रसाद उर्फ मंटू और दूसरे पक्ष के बीच शनिवार को भी विवाद व मारपीट हुई थी।उसे लेकर दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर प्राथमिकी दर्ज करायी थी। उनमें वशिष्ठ प्रसाद उर्फ मंटू को भी आरोपित किया गया था। एक पक्ष की ओर से विद्यासागर प्रसाद द्वारा पूर्व मुख्य पार्षद वशिष्ठ प्रसाद उर्फ मंटू समेत सात लोगों के खिलाफ मारपीट को लेकर प्राथमिकी दर्ज करायी है।विद्यासागर प्रसाद ने आरोप लगाया गया है कि वह अपने भतीजा मुना प्रसाद के साथ शाहपुर थाने में बाइक से एक केस के मामले में जमानत का रिकाल देने आ रहे थे। तभी शाहपुर पीएनबी के पास घेर कर आरोपियों द्वारा मारपीट की गई। वहीं दूसरे पक्ष के चिटुर सोनार की ओर से प्रथम पक्ष के विद्यासागर प्रसाद समेत चार के खिलाफ अपहरण करने की कोशिश और मारपीट के मामले में प्राथमिकी दर्ज कराई है । दोनों पक्षों के बीच पूर्व के विवाद में घटना घटने की बात बताई जाती है।

- Advertisment -
khabreapki
खबरे आपकी
khabreapki-youtube
khabreapki-youtube

Most Popular