Thursday, February 2, 2023
No menu items!
HomeNewsमंडल कारा आरा के जेलर और कक्षपाल सहित तीन कर्मी सस्पेंड

मंडल कारा आरा के जेलर और कक्षपाल सहित तीन कर्मी सस्पेंड

  • ऑपरेशन क्लीन: जेल से 35 मोबाइल बरामद
    • डीएम के आदेश पर जेल में तीन दिनों तक चले अभियान में मिली मोबाइल व चार्जर
    • लापरवाही और संलिप्तता में जेलर और दो कक्षपालों पर गिरी निलंबन की गाज
    • मोबाइल इस्तेमाल करने वाले बंदियों पर प्राथमिकी, 15 को दूसरे जेल भेजने की अनुशंसा

Operation Clean Ara Jail खबरे आपकी आरा मंडल कारा: आरा में एक बार फिर काफी संख्या में मोबाइल मिले हैं। अबकी बार 35 मोबाइल और तीन चार्जर बरामद किये गये हैं। डीएम राजकुमार के आदेश पर तीन दिन तक चले ऑपरेशन क्लीन के दौरान मोबाइल की बरामदगी की गयी है। तलाशी के दौरान जेल प्रशासन द्वारा पांच से छह फीट जमीन खोदकर सारे मोबाइल निकाले गये। इधर, एक साथ इतनी काफी संख्या में मोबाइल मिलने से जेल और जिला प्रशासन में खलबली मच गयी। इस मामले में जेल अधीक्षक द्वारा जेलर सरवन इमाम खान, रक्षित उच्च कक्षपाल मो. एजाज और कक्षपाल जीतेंद्र कुमार को निलंबित कर दिया है। तीनों को लापरवाही और संलिप्तता के आरोप में निलंबित किया गया है। कुछ कक्षपालों के स्थानांतरण की अनुशंसा भी की गयी है। वहीं मोबाइल इस्तेमाल करने वाले बंदियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी जा रही है।

जेल अधीक्षक संदीप कुमार की ओर से शनिवार को प्रेस बयान जारी कर यह जानकारी दी गयी है। वहीं भोजपुर डीएम की ओर से दोषी कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए मुख्यालय से अनुशंसा की गयी है। बताया गया कि डीएम के आदेश पर 29 नवंबर से एक दिसंबर के बीच जेल में बीच ”आपरेशन क्लीन” अभियान चलाया गया। इस दौरान जेल के वार्ड एक संख्या से छह और सात 14 नंबर के पीछे बाथरूम के आसपास जमीन के नीचे से 35 मोबाइल बरामद किये गये। गौरतलब हो कि पिछले 28 नवंबर को जिला प्रशासन द्वारा की गयी छापेमारी में भी मोबाइल, सिगरेट, गांजा और हेरोईन की पुड़िया सहित अन्य आपत्तिजनक सामान बरामद किया गया था। उस मामले में सहायक जेलर गौतम कुमार सहित दो को निलंबित कर दिया गया था। उसके बाद डीएम की ओर से ऑपरेशन क्लीन चलाने का आदेश दिया गया था। ऐसे में 35 मोबाइल बरामद होने से जेल की सुरक्षा पर सवाल उठने लगे हैं।

Ravi
kids

Operation Clean Ara Jail:पांच से छह फीट जमीन खोद छिपा रखे गये थे मोबाइल

Operation Clean Ara Jail

कारा अधीक्षक के अनुसार जिलाधिकारी के निर्देश पर जेल में 29 नवंबर से एक दिसंबर के बीच ऑपरेशन क्लीन चलाया गया। उसके तहत जेल की सघन तलाशी ली गयी। उस बीच जमीन में गड्ढे खोद कर मोबाइल छुपाये जाने की सूचना मिली। उस आधार पर जमीन खोदने का काम शुरू किया गया। इस दौरान वार्ड एक संख्या से छह और सात से14 नंबर वार्ड के पीछे बाथरूम के आसपास पांच से छह फीट जमीन खोद एक-एककर 35 मोबाइल निकाले गये।

कक्षपालों पर गिरोह बनाकर जेल में मोबाइल पहुंचाने का आरोप

कारा अधीक्षक संदीप कुमार के अनुसार कुछ कक्षपालों द्वारा गिऱोह बना कर जेल में मोबाइल सप्लाई करने की सूचना मिल रही है। उसकी सूचना कारा मुख्यालय को भेज दी गई है। कुछ चिन्हित कक्षपालों के स्थानांतरण की भी अनुशंसा कर दी गई है। वहीं संदेहास्पद कक्षपालों पर निगरानी भी रखी जा रही है। इधर, सूत्रों का कहना है कि बंदियों से पैसे लेकर मोबाइल पहुंचाने का खेल चल रहा है। इसके लिए बंदियों से चार से पांच हजार रुपए लिये जाते हैं। इधर, प्रशासनिक महकमे में चर्चा है कि जेलर की ओर से मोबाइल बरामदगी की सूचना डीएम को दिये जाने के बाद उनको सस्पेंड कर दिया गया है।

जेल से मोबाइल के जरिए गैंग के संचालन की सूचना पर की गयी कार्रवाई

आरा के मंडल कारा में बंद अपराधियों द्वारा मोबाइल से गिरोह का संचालन किए जाने की खबरों के बाद जेल और जिला प्रशासन श एक्शन मोड में आ गया है। शाहपुर के पूर्व नपं चेयरमैन की हत्या में जेल कनेक्शन सामने आने के बाद डीएम और एसपी के नेतृत्व में 28 नवंबर को जेल में छापेमारी की गयी थी। उस दौरान आठ मोबाइल, पांच सिमकार्ड, चार चार्जर, मादक पदार्थ और 15 हजार नकदी बरामद किया गया था, उसे मामले में 14 बंदियों के खिलाफ प्राथमिकी भी दर्ज कराई गई थी। उसे देखते हुए यह डीएम द्वारा ऑपरेशन क्लीन चलाने का निर्देश जारी किया गया था।

- Advertisment -
khabreapki
खबरे आपकी
khabreapki-youtube
khabreapki-youtube

Most Popular