Thursday, February 2, 2023
No menu items!
Homeअन्यचर्चित खबरमोबाइल छुपाने को बंदियों ने खोद डाली जेल की जमीन, कारा प्रशासन...

मोबाइल छुपाने को बंदियों ने खोद डाली जेल की जमीन, कारा प्रशासन को भनक नहीं

  • सुरक्षा पर सवाल
    • डीएम के ऑपरेशन क्लीन ने खोल कर रख दी मंडल कारा की सुरक्षा की पोल
    • पूछ रहे लोग जमीन खोद रहे थे बंदी, तब कहां थे जेल के सुरक्षा कर्मी
    • चार दिन में 42 मोबाइल मिलने से कारा से जिला प्रशासन तक में खलबली

Operation Clean – Mandal Jail Ara खबरे आपकी आरा: ऑपरेशन क्लीन ने आरा के मंडल कारा की सुरक्षा की पोल खोल कर रख दी है। इस अभियान के दौरान तीन दिन में 35 मोबाइल बरामद किये गये। जमीन खोद कर मोबाइल निकाले गये। उससे दो-तीन रोज पहले भी जेल से आठ मोबाइल सहित अन्य सामान बरामद किए गए थे। ऐसे में अब मंडल कारा की सुरक्षा और थ्री स्तरीय जांच पर गंभीर सवाल उठने लगे हैं। अब तो हालात ऐसे हो गये हैं कि मोबाइल छुपाने को बंदियों द्वारा जेल की जमीन खोद डाली गयी। वह भी कई जगहों पर और पांच से छह फीट तक खुदाई की गयी। बावजूद उसके कारा प्रशासन को भनक नहीं लग सकी। यह हाल तब है जब हत्या, लूट और डकैती सहित संगीन मामलों के दर्जनों कुख्यात अपराधी जेल में बंद हैं। कारा प्रशासन द्वारा खुद पांच से छह फीट जमीन खोदकर मोबाइल निकाले जाने की बात स्वीकार की गयी है। ऐसे में लोग पूछ रहे हैं कि आखिर बंदी जब जेल की जमीन को खोद रहे थे, तब सुरक्षा कर्मी कहां थे?

दो रोज पहले ही जिला प्रशासन की छापेमारी और मोबाइल, सिम कार्ड, चार्जर सहित अन्य सामानों की बरामदगी के बाद कारा प्रशासन क्या कर रहा था? आखिर 35 मोबाइल उस समय क्यों नहीं बरामद किए जा सके? अगर छापेमारी के मोबाइल जेल के अंदर गये, तो फिर जांच में क्यों नहीं पकड़े जा सके? मंडल कारा प्रशासन को इन सवालों का जवाब खोजना मुश्किल है।

Ravi
kids
Operation Clean - Mandal Jail Ara

बता दें कि जेल की सुरक्षा काफी सख्त है। जेल के अंदर और बाहर सुरक्षाकर्मी 24 घंटे तैनात रहते हैं। रात में में भी सख्त पहरेदारी होती है। वाच टावर भी बनाये गये हैं। मुलाकातियों सहित जेल के अंदर जाने वालों की तीन स्तर पर जांच भी की जाती है। इसके बाद भी इतनी बड़ी संख्या में मोबाइल जेल के अंदर पहुंच जा रहा है। इधर, इस संबंध में भोजपुर डीएम राजकुमार का कहना है कि इस मामले जो भी दोषी होंगे, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। जेल की सुरक्षा में लापरवाही किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं की जायेगी। कारा अधीक्षक को नियमित और सघन जांच करने का आदेश दिया गया है। इसके अलावा जेल की स्थिति के संबंध में आइजी प्रिजन को विस्तृत रिपोर्ट भेजी गयी है।

Operation Clean – Mandal Jail Ara: कारा कर्मियों और बंदियों की सांठगांठ: काला सच आया सामने

मंडल कारा से 35 मोबाइल की बरामदगी ने जेल के काले सच को सामने ला दिया है। जेल में बंद कुख्यात बंदियों और कर्मियों की सांठगांठ भी उजागर हो गयी है। चंद पैसों की लालच में कुछ जेल कर्मियों द्वारा बंदियों तक मोबाइल सहित अन्य आपत्तिजनक सामान पहुंचा दिया जा रहा है। कारा अधीक्षक की ओर से भी इस बात की आशंका जतायी गयी है। उसे लेकर उनके द्वारा जेल आईजी को सूचना भी दी गयी है। साथ ही कुछ कक्षपालों पर गिरोह बनाकर बंदियों से सांठगांठ कर मोबाइल सप्लाई करने का आरोप भी लगाया गया है। बताते चलें कि पूर्व में भी बंदियों और जेल कर्मियों की सांठगांठ से मोबाइल सहित अन्य सामान कारा के अंदर तक पहुंच रहे थे। कुछ साल पहले बंदियों का मोबाइल से बात करने और ताश खेलने का वीडियो भी वायरल हुआ था। हालांकि हाल के कुछ साल से इस पर रोक लग गयी थी

- Advertisment -
khabreapki
खबरे आपकी
khabreapki-youtube
khabreapki-youtube

Most Popular