Tuesday, May 28, 2024
No menu items!
HomeNewsबिहारवांछित को लेकर बिहार-यूपी के सीमावर्ती इलाके में चल रही ताबड़तोड़ छापेमारी

वांछित को लेकर बिहार-यूपी के सीमावर्ती इलाके में चल रही ताबड़तोड़ छापेमारी

wanted Umashankar Mishra: आरा जेल से एक महीने के लिए पेरोल पर छूटकर घर आया और फिर जेल नहीं लौटा वांछित उमाशंकर मिश्रा भोजपुर पुलिस के लिए बड़ी चुनौती बन गया है। उमाशंकर मिश्रा अपने पिता के श्राद्धकर्म को लेकर जेल से सितंबर 2022 में एक महीने के लिए पेरोल पर छूटकर घर आया हुआ था फिर वापस जेल नहीं लौटा। इस पर कोर्ट से कुर्की का वारंट जारी हो गया। नौ नवंबर 2022 को पुलिस ने सोनवर्षा स्थित वांछित के घर पर कुर्की-जब्ती की थी। तथा वांछित पर पांच हजार रुपये का इनाम भी घोषित हुआ है ।

इस दौरान 8 मई 2023 की रात पुलिस ने करनामेपुर ओपी के सोनवर्षा गांव में दो गुटों के करीबियों के घरों पर छापेमारी कर एक रायफल एक बंदूक एवं करीब 70 गोली बरामद की थीं। इस मामले में उमाशंकर मिश्रा एवं उसके दो पुत्रों समेत छह को नामजद किया गया था।

Election Commission of India
Election Commission of India

वांछित इनामी उमाशंकर मिश्रा (wanted Umashankar Mishra) की पुन: गिरफ्तारी नहीं होने पर पटना हाईकोर्ट सख्त है। हाईकोर्ट ने सख्ती दिखाते हुए सूबे के डीजीपी व एसपी को पांच जुलाई को उपस्थित होने का निर्देश दिया है।

वही एसपी प्रमोद कुमार के आदेश पर डीआइयू समेत जिले की टीम सोनवर्षा निवासी वांछित की गिरफ्तारी के लिए बिहार-यूपी के सीमावर्ती इलाके में ताबड़तोड़ छापेमारी कर रही है। जगदीशपुर एसडीपीओ राजीव चन्द्र सिंह को भी विशेष रूप से लगाया गया है। गिरफ्तारी नहीं होने को लेकर हाईकोर्ट भी सख्त है। इधर, पुलिस वांछित के दो करीबियों को भी उठाकर सुराग हासिल करने के प्रयास में लगी है।

Shobhi Dumra - News
Vishnu Nagar Ara Crime
Shobhi Dumra - News
Vishnu Nagar Ara Crime
previous arrow
next arrow

बता दें की भाजपा के तत्कालीन प्रदेश उपाध्यक्ष रहे स्व. विशेश्वर ओझा हत्याकांड के मुख्य गवाह कमल किशोर मिश्रा की हत्या में नामजद वांछित आरोपित उमांशकर मिश्रा को पुलिस ने पकड़ा था। पेरोल पर छूटकर घर आया और फिर जेल नहीं लौटा।

- Advertisment -
Vikas singh
Vikas singh
Vikas singh
Vikas singh

Most Popular

Don`t copy text!