Saturday, September 24, 2022
No menu items!
HomeNewsCrimeआरा में प्रॉपर्टी डीलर की गोली मार हत्या, शव रेलवे ट्रैक पर...

आरा में प्रॉपर्टी डीलर की गोली मार हत्या, शव रेलवे ट्रैक पर फेंका

आरा में प्रॉपर्टी डीलर की गोली मार हत्या, शव रेलवे ट्रैक पर फेंका

दु:साहस

नवादा थाना क्षेत्र के पश्चिमी रेलवे गुमटी स्थित आउटर सिग्नल के पास मिला शव

दायां पैर कटा हुआ, तो बायें पैर की अंगुली का नाखून भी उखाड़ मिला

उदवंतनगर थाना क्षेत्र के गोढ़ना स्थित घर से रविवार की शाम को निकले थे प्रॉपर्टी डीलर

घटनास्थल से एक मोबाइल, तौलिया और तीन फीट की एक रस्सी बरामद

जमीन खरीद-बिक्री और पैसे के लेनदेन के विवाद में हत्या की आशंका

परिजन गांव के ही तीन लोगों पर लगा रहे हत्या करने का आरोप

भाई के बयान पर तीन लोगों के खिलाफ हत्या की प्राथमिकी दर्ज

मामले की छानबीन में जुटी पुलिस, आरोपितों की तलाश शुरू

आरा। शहर से सटे उदवंतनगर थाना क्षेत्र के गोढ़ना गांव निवासी एक युवा प्रॉपर्टी डीलर की डीलर की गोली मार‌ हत्या कर दी गयी। उसके बाद शव को रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया गया। प्रॉपर्टी डीलर का दायां पैर कटा हुआ था, जबकि बायें पैर की एक अंगुली का नाखून भी उखाड़ था। शरीर के अन्य जगहों पर भी जख्म के गहरे निशान पाये गये हैं। उनका शव सोमवार की सुबह नवादा थाना क्षेत्र में पश्चिमी रेलवे गुमटी स्थित आउटर सिग्नल के समीप रेलवे ट्रैक के पास से बरामद किया गया।‌ घटनास्थल से प्रॉपर्टी डीलर का मोबाइल, एक तौलिया और तीन फीट की एक रस्सी भी बरामद की गयी है। मृतक गोढ़ना गांव निवासी साहेब चौधरी के 35 वर्षीय पुत्र जीतेंद्र चौधरी थे। वह रविवार की करीब सात बजे से ही घर से गायब थे। परिजन पैसे की लेनदेन और जमीन की खरीद-बिक्री के विवाद में गांव के ही तीन लोगों पर हत्या करने का आरोप लगा रहे हैं। इधर, सुबह हत्या कर फेंका गया शव मिलने से इलाके में सनसनी मच गयी। सूचना मिलने पर जीआरपी के साथ नवादा थानाध्यक्ष अविनाश कुमार सिंह घटनास्थल पर पहुंचे और छानबीन की। उसके बाद शव का पोस्टमार्टम कराया गया। एएसपी हिमांशु भी सदर अस्पताल पहुंचे और परिजनों से घटना की पूरी जानकारी ली। इधर, पुलिस मामले की जांच में जुटी है। पुलिस के अनुसार हत्या के बाद शव ट्रैक पर रख दिये जाने से किसी ट्रेन की चपेट में आने से एक पैर कट कर अलग होने की आशंका है। एएसपी ने बताया कि मामले की छानबीन की जा रही है। पैसे के लेनदेन सहित हर एंगल से जांच की जा रही है। जांच के बाद ही कुछ स्पष्ट हो सकेगा। परिजनों की ओर से कुछ लोगों के नाम बताये जा रहे हैं। उनकी शिकायतों के आधार पर आरोपितों की धरपकड़ को छापेमारी की जा रही है।

पूरी रात बजती रही मोबाइल की घंटी, सुबह चार बजे हुई बात

प्रॉपर्टी डीलर जीतेंद्र चौधरी के पिता साहेब चौधरी द्वारा बताया गया कि रविवार की की पूरी रात उससे बात करने की कोशिश की जाती रही। उस दौरान मोबाइल की घंटी बजती रही, लेकिन बात नहीं हो पा रही थी। दोनों ओर से कॉल आती और गयी, पर बात नहीं हो सकी थी। उन्होंने बताया कि जीतेंद्र शाम करीब सात बजे घर से निकला था। देर तक घर नहीं लौटा, तो उन्होंने छोटे बेटे से उसके मोबाइल पर कॉल करने को कहा। तब मोबाइल की घंटी हुई, लेकिन कॉल रिसीव नहीं हो सकी। उसके बाद रात करीब ग्यारह बजे उसके मोबाइल से कॉल आयी, लेकिन फिर कोई बात नहीं हो सकी। रविवार की अहले सुबह करीब चार बजे उसने अपने भाई को फोन कर उसकी बातों की रिकॉर्ड करने को कहा। उसके भाई ने उसकी बात की रिकॉर्डिंग की गयी। उस रेकॉर्डिंग क्लिप को पुलिस को सौंप दिया गया है। उन्होंने बताया कि गांव के ही दो लोगों को जीतेंद्र चौधरी ने जमीन खरीद-बिक्री के लिए पैसा दिया था। उनसे अपना पैसे मांगने लगा, तो कहासुनी हुई थी। उसको लेकर जीतेंद्र की उन लोगों से अनबन चली रही थी। उसी पैसे के लेनदेन के विवाद को लेकर उसकी गोली मारकर हत्या की गयी है। उसके बाद उसके शव को रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया गया।

मोबाइल व सीसीटीवी फुटेज से कातिलों तक पहुंचने में जुटी पुलिस

गोढ़ना गांव निवासी प्रॉपर्टी डीलर जीतेंद्र चौधरी की हत्या के बाद पुलिस की तफ्तीश तेज हो गयी है। पुलिस हर एंगल से कारणों की छानबीन कर रही है। वहीं कातिलों की पहचान और उनके पहुंचने के लिए तकनीकी जांच की मदद ली जा रही है। इसके तहत मोबाइल सीडीआर और सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले जा रहे हैं। जांच में जुटी पुलिस मोबाइल के जरिए प्रॉपर्टी डीलर के संपर्क में रहने वाले लोगों के बारे में जानकारी लेने में जुटी है। यह भी पता लगा रही है कि घटना के दिन प्रॉपर्टी डीलर से किन किन लोगों की बात हुई थी। परिजनों द्वारा दिये गये बातचीत की रिकॉर्डिंग की भी जांच की जा रही है। बता दें कि मृत जीतेंद्र चौधरी के परिजनों द्वारा मोबाइल से बातचीत की रिकॉर्डिंग पुलिस को सौंपी है।

हत्या को ट्रेन हादसे में बदलने को रेलवे ट्रैक पर फेंका शव

प्रॉपर्टी डीलर की हत्या करने के बाद कातिलों द्वारा घटना को ट्रेन हादसे में बदलने का प्रयास किया गया है। इसके तहत ही शव को रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया गया। पुलिस भी शुरुआती जांच में ट्रेन की चपेट में आने से मौत होना ही समझ रही थी। लेकिन बाद में जब गहराई से जांच की गयी, तो गोली मार हत्या करने के बात सामने आयी। एएसपी ने बताया कि शुरू में लगा कि ट्रेन से कटने से ही मौत हुई है। लेकिन बाद में जांच की गयी, तो हत्या किये जाने की बात सामने आयी। हालांकि एएसपी ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत का कारण पूरी तरह स्पष्ट हो सकेगा।
वैसे पुलिस का कहना है कि शव रेलवे ट्रैक पर रखने के कारण एक पैर कट कर अलग हो गया है।

गला घोंटने और हाथ बांध कर लाये जाने के बाद हत्या की आशंका

प्रॉपर्टी डीलर को गोली मारने के अलावे गला घोंटने की भी आशंका जतायी जा रही है।हाथ बांध कर प्रॉपर्टी डीलर को रेलवे ट्रैक तक लाये जाने की भी आशंका पैदा हो रही है। घटनास्थल से मिली रस्सी और जख्म से इसका अंदेशा लगाया जा रहा है। पुलिस की मृत्यु समीक्षा रिपोर्ट की मानें तो प्रॉपर्टी डीलर का दायां पैर कट कर अलग हो गया था। बायें पैर की एक अंगुली का नाखून उखड़ा हुआ था। वहीं ललाट और दायी आंख और नीचे वाले होंठ पर कटने के गहरे निशान मिलने की बात कही गयी हैं। जीभ भी हल्की बाहर निकली हुई थी। दाढ़ी के पास छिद्र जैसा जख्म, तो दोनों हाथ में रस्सी बांधने का निशान पाया गया है।

गर्भवती पत्नी का उजड़ गया सुहाग, हत्या से घर में मचा कोहराम

प्रॉपर्टी डीलर जीतेंद्र चौधरी की हत्या से घर में कोहराम मचा है। पति के वियोग में गर्भवती पत्नी का रो-रोकर बुरा हाल है। बताया जाता है कि प्रॉपर्टी डीलर अपने दो भाई और तीन बहन में दूसरे स्थान पर था। उसके परिवार में पत्नी कंचन कुमारी और ढेढ़ साल की पुत्री जया कुमारी है। उसकी पत्नी अभी 6 माह की गर्भवती है। मां गीता देवी की मृत्यु वर्ष 2019 में बीमारी के कारण हो गई थी। मौत के बाद पत्नी कंचन कुमारी और बेटी सहित परिवार के सभी सदस्यों का रो-रोकर बुरा हाल था।

पैसा के लिए बुलाया, जबरन दारू पिलाया और फिर कर मार डाला

प्रॉपर्टी डीलर हत्याकांड में भाई के बयान पर तीन लोगों के खिलाफ प्राथमिकी

पैसे देने आरा जाने और डेढ़ घंटे में लौटने की बात कह निकले थे प्रॉपर्टी डीलर

आरा। गोढ़ना निवासी प्रॉपर्टी डीलर जीतेंद्र चौधरी की हत्या के मामले में प्राथमिकी दर्ज करा दी गयी। छोटे भाई राहुल कुमार के बयान पर तीन लोगों के खिलाफ केस किया गया है। उसमें उदवंतनगर थाने के गोढ़ना गांव निवासी प्रवीण कुमार, चकिया गांव निवासी सुनील साल उर्फ सहुआ और आरा जेल रोड निवासी एक युवक को आरोपित किया गया है। तीनों पर प्रॉपर्टी डीलर को घर से बुलाने और दारू पिलाने के बाद हत्या करने का आरोप लगाया गया है। प्राथमिकी में राहुल कुमार द्वारा कहा गया है कि उसका बड़े भाई जीतेंद्र चौधरी रविवार की शाम करीब साढ़े सात बजे पैदल एक आदमी को पैसे देने की बात कह घर से निकले थे। तब कहा था कि डेढ़ घंटे में घर आ जायेंगे। देर तक घर नहीं आये, तो उनके मोबाइल पर कॉल की गयी। बार-बार कॉल करने और रिंग होने के बाद भी बात नहीं हो सकी। सुबह करीब चार बजे उनका वॉयस मैसेज आया था। कुछ देर बाद चचेरे भाई राजा कुमार द्वारा बताया गया कि जीतेंद्र चौधरी का फोन आया था। बताया कि तीनों आरोपित पैसे के लिए उन्हें बुलाया था। वहां दारू पिलाने के बाद नशे में पश्चिमी रेलवे गुमटी के पास लेकर आये हैं और मार कर फेंक देने की बात कही जा रही है। उसके बाद पश्चिमी रेलवे गुमटी व स्टेशन सहित हर जगह उनकी खोजबीन की गयी, लेकिन कहीं पता नहीं चला। इस बीच सुबह करीब छह बजे जीआरपी द्वारा फोन पर रेलवे ट्रैक पर शव मिलने की सूचना दी गयी। इस पर वे लोग पहुंचे और शव की पहचान की।

MD WASIM
MD WASIM
Journalist
- Advertisment -

Most Popular