Saturday, March 6, 2021
No menu items!
Home News आरा जेल में जिला प्रशासन का छापा,बंदियों में मचा रहा हड़कंप

आरा जेल में जिला प्रशासन का छापा,बंदियों में मचा रहा हड़कंप

Raid in Ara jail – आरा जेल में जिला प्रशासन का छापा, चुनौटी सहित अन्य प्रतिबंधित सामान बरामद

डीएम व एसपी के नेतृत्व में मंगलवार की सुबह अफसरों ने धावा बोला

दो घंटे तक चली तलाशी में मिले बेल्ट, तार और कपड़ा टांगने वाले लोहे के अकुआ

Raid in Ara jail आरा। स्थानीय मंडल कारा में मंगलवार की सुबह जिला प्रशासन द्वारा औचक छापेमारी की गयी। इस दौरान खैनी की चुनौटी, तार, बेल्ट और कपड़ा टांगने वाला लोहे के अक्सु सहित अन्य प्रतिबंधित सामान बरामद किये गये। करीब दो घंटे तक चली छापेमारी से बंदियों में हड़कंप मचा रहा। जानकारी के अनुसार डीएम रोशन कुशवाहा और एसपी हर किशोर राय के नेतृत्व में सुबह 5 बजकर 20 मिनट पर प्रशासन की टीम जेल में पहुंच गयी। उसके बाद जेल के सभी वार्डों के अंदर और बाहर सघन तलाशी ली गयी। किचेन से लेकर शौचालय और अस्पताल तक की जांच की गयी। ठीक दो घंटे बाद सवा 7 बजे टीम वापस लौट गयी। इस दौरान लावारिस हालत में फेंके गये खैनी रखने वाले दो पीस चुनौटी, दो बेल्ट, एक पीस कूदने वाली रबर की रस्सी, दो फीट खराब तार, एक स्विच और 14 पीस कपड़ा टांगने वाले लोहे के अक्सु बरामद किये गये। इसे लेकर कारा अधीक्षक युसूफ रिजवान द्वारा टाउन थाना में सनहा दर्ज कराया गया है। 

पहली बार छापेमारी में जेल से नहीं मिले मोबाइल

Raid in Ara jail आरा। जेल में कारा प्रशासन की सख्ती का असर दिखने लगा है। शायद यही वजह रही कि मंगलवार की सुबह जिला प्रशासन की छापेमारी में मोबाइल नहीं मिल सका। ऐसा पहली बार हुआ, जब जेल में मोबाइल नहीं बरामद किया जा सका है। बता दें कि जेल मोबाइल सहित अन्य आपत्तिजनक सामानों की बरामदगी को लेकर अक्सर सुर्खियों में रहता है। उसे देखते हुये कारा अधीक्षक युसूफ रिजवान द्वारा आरा में योगदान करने के बाद सुरक्षा कड़ी कर दी गयी है। गेट पर कड़ी जांच के बाद ही बंदियों और सुरक्षाकर्मियों को जेल के अंदर जाने की अनुमति दी जाती है। वहीं जेल में हमेशा तलाशी अभियान भी चलता रहता है। इससे बंदियों पर काफी हद तक अंकुश लग सका है। इसके बावजूद जेल की दक्षिणी ओर से जेल में मोबाइल सहित अन्य सामान फेंक दिये जाते हैं। हालांकि कारा प्रशासन की सक्रियता के कारण बंदियों तक पहुंचने से पहले ही बाहर से फेंके गये सामानों की बरामदगी की जाती रही है। इसके बाद भी बंदियों तक मोबाइल पहुंच जाते हैं। लेकिन इस बार जेल से मोबाइल का नहीं मिलना कारा प्रशासन के लिये अच्छी बात रही। 

छापेमारी में शामिल थे जिला पुलिस बल के 117 अफसर और जवान

Raid in Ara jail आरा। जेल में छापेमारी को लेकर जिला प्रशासन काफी सतर्क था। सुरक्षा को लेकर सख्त व्यवस्था की गयी थी। इसे लेकर प्रशासन काफी संख्या में फोर्स लेकर पहुंचा था। डीएम और एसपी के नेतृत्व में चली छापेमारी में सदर एसडीओ वैभव श्रीवास्तव और एसडीपीओ पंकज कुमार रावत के अलावे जिला पुलिस बल के 117 अफसर और जवान शामिल थे। इनमें दारोगा और एएसआई स्तर के अधिकारी के अलावे पुरुष व महिला सिपाही, सैप के जवान और होमगार्ड भी शामिल थे।

Khabreapki.com देखें- खबरें आपकी – फेसबुक पेज – वीडियो न्यूज – अन्य खबरें

Komal Tola Narayanpur Bhojpur – पति ही निकला पत्नी का कातिल, विरोधी को फंसाने के लिये कर दी थी हत्या 

Chhath Puja in England – लंदन में बिहिया की प्रियंका लगातार आठ साल से करती आ रही छठ

पढे पुरी खबर विस्तार से – सामाजिक समरसता का अनूठा उदाहरण है महापर्व छठ

- Advertisment -
Slider
Slider

Most Popular