Monday, April 15, 2024
No menu items!
Homeखेलमन की बात में 'प्रवासी खेल' की थीम को शामिल करने का...

मन की बात में ‘प्रवासी खेल’ की थीम को शामिल करने का अनुरोध

मन की बात में ‘प्रवासी खेल’ की थीम को शामिल करने का अनुरोध। भारत का संविधान भारतीय नागरिकता और किसी विदेशी देश की नागरिकता एक साथ रखने की अनुमति नहीं देता है, और किसी व्यक्ति को किसी भी रूप में भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए, किसीअन्य देश का नहीं बल्कि भारत का नागरिक होना चाहिए।

यही बात खेल के क्षेत्र में भी लागू होती है, और इसलिए, हमारे प्रवासी युवाओं के लिए किसी भी खेल प्रतियोगिता में आधिकारिक तौर पर भारत का प्रतिनिधित्व करना संभव नहीं है।

डॉ. शैलेंद्र कुमार
Holi Anand
Dr. Prabhat Prakash
Vishvaraj Hospital, Arrah
डॉ. शैलेंद्र कुमार
Holi Anand
Dr. Prabhat Prakash
Vishvaraj Hospital, Arrah

हमारे माननीय प्रधान मंत्री, श्री नरेंद्र मोदी जी ने नवंबर 2019 में खेल अधिकारियों के साथ एक बैठक में हमारे प्रतिभाशाली प्रवासी युवाओं को भारत में खेल प्रतियोगिताओं में भाग लेने के लिए आमंत्रित करने का एक तरीका खोजने की इच्छा व्यक्त की थी।

कांथी डी सुरेश ने  विशेष रूप से प्रतिभाशाली प्रवासी युवाओं को भारत में आमंत्रित करने और प्रतियोगिताएं आयोजित करने पर ध्यान केंद्रित करने के लिए एक नॉट फॉर प्रॉफिट एसोसिएशन- HIPSA (होलिस्टिक इंटरनेशनल प्रवासी स्पोर्ट्स एसोसिएशन) की स्थापना की है। उन्होंने मन की बात में ‘प्रवासी खेल’ की थीम को शामिल करने का अनुरोध किया है ।

HIPSA  के अनुसार भारतीय प्रवासी समुदाय के बारे में कुछ  तथ्य

32 मिलियन आबादी वाले भारतीय प्रवासी का दुनिया के 207 देशों में उपस्थिति के साथ सबसे बड़ा भौगोलिक विस्तार है

भारतीय प्रवासी देशों की अधिकतम संख्या अफ़्रीकी महाद्वीप में है और अफ़्रीकी महाद्वीप के 55 देशों में इनकी उपस्थिति है

प्रवासी भारतीयों की अधिकतम जनसंख्या 17 मिलियन से अधिक एशियाई महाद्वीप में है, इसके बाद उत्तरी अमेरिकी महाद्वीप में 6.3 मिलियन से अधिक प्रवासी भारतीय हैं।

दुनिया के 19 देशों में भारतीय प्रवासी आबादी 10% से अधिक है

7 देशों में भारतीय प्रवासी आबादी 25% से अधिक है

2023 तक 1 मिलियन से अधिक भारतीय छात्र वर्तमान में दुनिया के लगभग 85 देशों में पढ़ रहे हैं।

- Advertisment -
Vikas singh
Vikas singh
sambhavna
aman singh

Most Popular

Don`t copy text!