Tuesday, April 13, 2021
No menu items!
Home News जीपीएस ट्रैकिंग सिस्टम से पहली बार पुलिस पर कार्रवाई, मचा हड़कंप

जीपीएस ट्रैकिंग सिस्टम से पहली बार पुलिस पर कार्रवाई, मचा हड़कंप

SP Bhojpur : जीपीएस ट्रैकिंग के जरिये एसपी के पेट्रोलिंग में फंस गयी तीन थानों की पुलिस

थानेदार सहित दस पुलिस कर्मी सस्पेंड, ड्राइवर सहित दो को जेल

खबरे आपकी आरा। भोजपुर में ट्रक चालकों से अवैध वसूली में पुलिस द्वारा बड़ी कार्रवाई की गयी है। एसपी (SP Bhojpur) के आदेश पर थाने के एक ड्राइवर सहित दो पुलिस वालों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। वहीं एक थानेदार सहित 10 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है। इनमें तीन एएसआई, डीएपी के चार और बीएमपी के दो जवान शामिल हैं। दो थानाध्यक्षों से शोकॉज भी किया गया है। जबकि होमगार्ड के तीन जवानों को छह माह के लिये कार्यमुक्त कर दिया गया है। जीपीएस ट्रैकिंग सिस्टम के आधार पर यह कार्रवाई की गयी है।

ईमादपुर थानाध्यक्ष किये गये सस्पेंड, तो चांदी व संदेश के थानेदार से शोकॉज

भोजपुर जिले के चांदी, संदेश और इमादपुर थाना के पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई की गाज गिरी है। इनमें ईमादपुर के थानेदार को सस्पेंड किया गया है। चांदी थाना के चालक शिव कुमार सेन और संदेश थाना के होमगार्ड के जवान सह चालक धनंजय यादव को जेल भेज दिया गया है। इस मामले में तीनों थाने के पेट्रोलिंग टीम पर भी गाज गिरी है। वसूली के समय मौजूद पेट्रोलिंग टीम के सभी कर्मी सस्पेंड कर दिये गये हैं।

एसपी हर किशोर राय ने यह जानकारी दी। SP Bhojpur उन्होंने बताया कि 22 व 23 फरवरी की रात जीपीएस ट्रैकिंग से सभी थानों के पेट्रोलिंग वाहनों की जांच की गयी। इसमें तीन थानों की पेट्रोलिंग वाहनों की गलती पायी गयी। जांच के क्रम में अवैध वसूली की बात भी सामने आयी। उसके बाद चांदी थाना के डीएपी चालक के अलावे संदेश थाने के एक होमगार्ड जवान सह ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया गया। इस मामले में चांदी और संदेश के थानेदार से शोकॉज भी किया गया है। ईमादपुर सहित तीनों थाने की पेट्रोलिंग टीम में शामिल अफसर और जवानों को सस्पेंड कर दिया गया। प्राइवेट चालक रखने के आरोप में ईमादपुर थानेदार मो. साजिद को भी सस्पेंड कर दिया गया। बताया जा रहा है कि जीपीएस ट्रैकिंग के आधार पर जिले की पहली कार्रवाई है। इससे अवैध वसूली करने वाले पुलिस कर्मियों में हड़कंप मचा है। 

जीपीएस ट्रैकिंग के जरिये एसपी के पेट्रोलिंग में फंस गयी तीन थानों की पुलिस

आरा। लोगों की सुरक्षा के लिये रात में पेट्रोलिंग करने वाली तीन थानों की पुलिस एसपी (SP Bhojpur) की ट्रैप में फंस गयी। एसपी ने देर रात जब जीपीएस के जरिये पेट्रोलिंग वाहनों की ट्रैकिंग शुरू की, तो एक-एक कर रात्री गश्ति में निकले तीन थानों के अफसर व जवान फंसते गये। उसके बाद सभी को सस्पेंड कर दिया गया। हुआ यह कि एसपी 22 और 23 परवरी की रात जीपीएस से सभी थानों के पेट्रोलिंग वाहनों की जांच शुरू की। करीब दो घंटे तक लगातार चेकिंग की गयी। इस दौरान तीन थानों की पेट्रोलिंग पार्टी को गलत पाया गया। इनमें ईमादपुर, चांदी और संदेश थाना की पेट्रोलिंग पार्टी शामिल थी। हालांकि अन्य थानों के पेट्रोलिंग वाहनों की स्थिति संतोषजनक पायी गयी। 

पेट्रोलिंग वाहनों में लगे कैमरे युक्त जीपीएस, वॉयस और वीडियो मॉनिटरिंग 

पढ़े :- अब कोलकाता का ईडन गार्डन नही रहा सबसे बड़ा स्टेडियम

आरा। पेट्रोलिंग में निकले अफसरों व जवानों की मनमानी रोकने के लिये थानों के पेट्रोलिंग वाहनों में जीपीएस सिस्टम लगाया गया है। इन वाहनों में कैमरे युक्त जीपीएस लगाये गये हैं। इससे पेट्रोलिंग वाहन के अंदर और बगल में हो रही गतिविधियों की जानकारी मिलती रहती है। जीपीएस की नियंत्रण कक्ष एसपी अॉफिस में है। ऐसे में एसपी अपने दफ्तर में बैठ कर ही पेट्रोलिंग वाहनों की वॉयस और वीडियो मॉनिटरिंग करते रहते हैं। एसपी ने बताया कि सभी पेट्रोलिंग गाड़ियों में जीपीएस सिस्टम लगाये गये हैं। उसमें वॉइस वीडियो मॉनिटरिंग का भी सिस्टम है। रैंडम चेकिंग के दौरान सोमवार की रात में उनके द्वारा चेक किया जा रहा था। करीब दो घंटे तक लगातार मॉनिटरिंग की गयी। उस दौरान तीन जगह ही  त्रुटियां पायी गई। एसपी ने बताया अधिकतर जगहों की स्थिति संतोषजनक थी। कहा कि चेकिंग लगातार की जाती रहेगी, ताकि ज्यादा सुधार हो पाये। 

संदेश व चांदी थानाध्यक्ष पर भी गाज गिरनी तय

पढ़े :- एक लोडेड कट्टा, एक लोडेड पिस्टल, मैगजीन, होलस्टर और 13 गोलियां बरामद

आरा। अवैध वसूली के मामले में चांदी और संदेश थानाध्यक्ष पर गाज गिरनी तय मानी जा रही है। इस मामले में एसपी द्वारा दोनों थानाध्यक्षों से शोकॉज भी किया गया है। एसपी की मानें तो संतोषजनक जवाब नहीं देने पर दोनों अफसरों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी। बता दें कि दोनों थानों की पेट्रोलिंग टीम को ट्रक चालकों से अवैध वसूली में शामिल पाया गया है। दोनों थानों के डीएपी व होमगार्ड चालकों को गिरफ्तार भी किया गया है। इस मामले में दोनों थानों में प्राथमिकी भी दर्ज करायी गयी है। इधर, गिरफ्तारी के बाद चांदी थाने के चालक को तत्काल सस्पेंड कर दिया गया है। अब उसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई भी शुरू की जायेगी।

- Advertisment -
Slider
Slider

Most Popular