Sunday, November 27, 2022
No menu items!
HomeNewsCrimeहाईवे पर वाहन चालकों से लूटपाट करने वाले गैंग का सरगना साथी...

हाईवे पर वाहन चालकों से लूटपाट करने वाले गैंग का सरगना साथी संग गिरफ्तार

हाईवे पर वाहन चालकों से लूटपाट करने वाले गैंग का सरगना साथी संग गिरफ्तार
संदेश थाना क्षेत्र से पुलिस ने शुक्रवार की रात दोनों को धर दबोचा
लुटेरों के पास से एक देसी सिक्सर, दो गोली और दो मोबाइल बरामद
लूट की साजिश करते पकड़ा गया सरगना, निशानदेही पर धराया साथी
सरगना की ट्रक के खलासी को गोली मारने सहित लूट के दो मामलों में थी तलाश
आरा। भोजपुर में नासरीगंज-सकड्डी स्टेट हाईवे पर वाहन चालकों से लूटपाट करने वाले गिरोह का पुलिस ने खुलासा किया है। इस दौरान पुलिस ने गैंग के सरगना सहित दो लुटेरों को गिरफ्तार भी किया है। संदेश थाना क्षेत्र से शुक्रवार की रात दोनों को धरदबोचा गया है। इनके पास से एक देसी सिक्सर, दो गोली और दो मोबाइल भी बरामद किये गये हैं। गिरफ्तार लुटेरों में संदेश थाना क्षेत्र के तीर्थकौल गांव निवासी अमित कुमार सिंह और सिरकीचक गांव निवासी विक्की कुमार है। अमित कुमार सिंह गिरोह का सरगना बताया जा रहा है। उसकी ट्रक के खलासी को गोली मारने सहित लूट की दो मामलों में तलाश थी। उसने लूट के दोनों मामलों में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली है। एएसपी हिमांशु की ओर से शनिवार को आरा में प्रेस कांफ्रेंस में यह जानकारी दी गयी। एएसपी ने बताया कि शुक्रवार की रात अपराधियों की धरपकड़ को लेकर उनके नेतृत्व में छापेमारी की जा रही थी। उस दौरान तीर्थकौल गांव के अमित कुमार सिंह को देसी सिक्सर और गोली के साथ पकड़ा गया। उसने पूछताछ में साथियों के साथ लूटपाट की बात स्वीकार की। उसकी निशानदेही पर उसके साथी विक्की कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया। छापेमारी टीम मे अगिआंव इंस्पेक्टर गौतम कुमार, संदेश थानाध्यक्ष दीपक कुमार झा और एएसआई बजरंगी प्रसाद आर्य शामिल थे।

मार्च में लूटपाट की घटनाओं को अंजाम देकर पुलिस के लिये बन गये थे सिरदर्द

एएसपी हिमांशु ने बताया कि अमित कुमार सिंह और उसके साथी संदेश इलाके में लगातार लगातार लूटपाट की घटनाओं को अंजाम दे रहे थे। खासकर स्‌टेट हाईवे 81 पर वाहन चालकों को टारगेट कर रहे थे। इसके कारण वह पुलिस के लिये सिरदर्द बन गये थे। एएसपी ने बताया कि विगत आठ मार्च की सुबह संदेश के तीर्थकौल पेट्रोल पंप के पास लूटपाट के दौरान बालू लदे ट्रक के खलासी को गोली मार दी गयी थी। उसके ठीक आठ दिन बाद 16 मार्च को भी हथियार के बल पर वाहन चालक से लूटपाट की गयी थी। दोनों मामलों में अमित कुमार सिंह का नाम आया था। खलासी को गोली मारने में पहले ही तीन लुटेरों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है। तीनों ने अमित कुमार सिंह को ही लूटपाट का सरगना बताया गया था। उसके बाद से ही उसकी और उसके साथियों की तलाश की जा रही थी। उन्होंने बताया कि गिरोह के अन्य सदस्यों के बारे में भी जानकारी मिली है। सभी की गिरफ्तारी को लेकर छापेमारी की जा रही है।
….

MD WASIM
MD WASIM
Journalist
- Advertisment -
chhotki singhi firing
chhotki singhi firing
chhotki singhi firing
chhotki singhi firing

Most Popular