Monday, August 8, 2022
No menu items!
HomeNewsबिहारभोजपुर में बीमारी से महिला सिपाही की मौत, हार्ट अटैक की आशंका

भोजपुर में बीमारी से महिला सिपाही की मौत, हार्ट अटैक की आशंका

भोजपुर में बीमारी से महिला सिपाही की मौत, हार्ट अटैक की आशंका

अगिआंव बाजार थाना क्षेत्र के पिटरो गांव की शनिवार सुबह की घटना

तबीयत खराब होने पर गांव आयी थी कटिहार पुलिस बल में तैनात सिपाही

करीब तीन माह से बीमार चल रही थी सिपाही, सर में दर्द की रहती थी शिकायत

रात में खाना बना कर सभी को खिलाया, सोने के बाद सुबह नहीं जगी

आरा। भोजपुर जिले के अगिआंव बाजार थाना क्षेत्र के पिटरो गांव में शनिवार की अहले सुबह एक महिला सिपाही की मौत हो गई। कटिहार जिला बल की सिपाही पिंकी कुमारी तबीयत खराब होने पर अपने गांव आयी थी। हार्ट अटैक के कारण उसकी मौत होने की आशंका जताई जा रही है। सदर अस्पताल लाये जाने पर डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया गया। 25 वर्षीय सिपाही पिंकी कुमारी पिटरो गांव निवासी शशि प्रसाद की पुत्री थी। वह
कटिहार जिले के बारसोई थाना में पोस्टेड थी। उसके पिता के दोस्त ओम प्रकाश सिंह ने हृदय गति रुकने से मौत होने की आशंका जताई है। उन्होंने बताया कि पिंकी करीब तीन महीनों से बीमार चल रही थी। वह बराबर सर में दर्द की शिकायत करती थी। उसको लेकर उसका इलाज भी चल रहा था। वह दो महीना पहले भी मेडिकल छुट्टी पर घर आयी थी। बाद में ड्यूटी पर चली गई थी। लेकिन तबीयत खराब होने के कारण वह पिछले माह 24 मई को वह दुबारा मेडिकल ग्रांड पर आयी थी। शुक्रवार की रात खाना बनाकर उसने सभी परिवार वालों को खाना खिलाया। इसके बाद सभी के साथ गर्मी होने के कारण छत पर सोने चली गई। शनिवार सुबह करीब चार बजे घर के सभी लोग जग गये, लेकिन वह नहीं उठी। तब परिजनों ने उसे उठाया, लेकिन वह नहीं उठी। उसके बाद उसे इलाज के लिए आरा सदर अस्पताल लाया गया। जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलने पर टाउन थाना पुलिस अस्पताल पहुंची और शव को पोस्टमार्टम करवाया गया।

दारोगा बनने का सपना नहीं हो सका पूरा, मौत से घर में कोहराम

पिटरो निवासी सिपाही पिंकी कुमारी का दारोगा बनने का सपना पूरा नहीं हो सका। वह शुरू से ही दारोगा बनने का सपना देखती थी। इसे लेकर वह दारोगा की तैयारी भी कर रही थी। ओमप्रकाश सिंह ने बताया कि पिंकी ने इस बार एसआई की परीक्षा दी थी। लेकिन उसका रिजल्ट नहीं आया था। उसे लेकर वह कुछ टेंशन में भी रहती थी। हालांकि उसका कहना था कि अगली बार मौका मिला, तो वह जरूर परीक्षा निकाल लेगी। लेकिन उससे पहले ही उसकी मौत हो गयी। उन्होंने बताया कि पिंकी कुमारी ने वर्ष 16 जुलाई 2018 में को कटिहार में ही सिपाही के पद पर ज्वाइनिंग की थी। उसके बाद से ही वह कटिहार में है। उसकी मौत से घर में कोहराम मचा है। बताया जाता है कि पिंकी अपने तीन बहन और एक भाई में सबसे बड़ी थी। उसके परिवार में मां सुनैना देवी, बहन अमृता कुमारी, आराध्या और भाई अभिषेक कुमार है। घटना के बाद मां सुनैना देवी सहित परिवार के सभी सदस्यों का रो-रोकर बुरा हाल था।

MD WASIM
Journalist
- Advertisment -

Most Popular