Saturday, October 16, 2021
No menu items!
Homeअन्यचर्चित खबरहत्याकांड के नौ आरोपितो के घर चस्पाया गया इश्तेहार

हत्याकांड के नौ आरोपितो के घर चस्पाया गया इश्तेहार

Accused of Vijay murder-बोले एसपीः आरोपितो के घर जल्द होगी कुर्की-जब्ती की कार्रवाई

पुलिस ने आरोपितो के घर पर इश्तेहार चस्पाकर हाजिर होने के लिए कराई मुनादी

खबरे आपकी आरा। Accused of Vijay murder भाकपा (माले) नेता व पूर्व वार्ड पार्षद गोपाल प्रसाद के पुत्र विजय कुमार की हत्या के मामले में शुक्रवार को पुलिस ने 9 आरोपितों के घर पर इश्तेहार चिस्पाकर तमिला किया। इनमें आरा के शीतल टोला निवासी धन जी यादव के भाई मनजी यादव, मोती टोला निवासी डोमन यादव, लक्ष्मीचरण के हाता निवासी चेतन, आनंद नगर सरकारी बांध निवासी डबल यादव, चंदवा सूर्य मंदिर निवासी भुलचुल उर्फ बुचुल यादव, रवि रंजन यादव, इब्राहिम नगर निवासी छोटू यादव, जमीरा निवासी मोहित कुमार समेत नौ के घर इश्तेहार चस्पाया गया। इस दौरान पुलिस ने आरोपितों को जल्द से जल्द कोर्ट में हाजिर होने के लिए मुनादी करायी गई। हाजिर नही होने पर कुर्की-जब्ती की कार्रवाई की जाएगी।

एसपी विनय तिवारी ने बताया कि हत्याकांड में फरार आरोपित अगर कोर्ट में समर्पण नही करते हैं, तो जल्द ही उनके घर की संपत्ति कुर्क की जाएगी। इश्तेहार का तमिला करवाने में टाउन थाना के दारोगा अविनाश कुमार, विजय कुमार सहित काफी संख्या में पुलिस बल उपस्थित थे।

Accused of Vijay murder- हत्याकांड में जेल कनेक्शन

बता दें कि 22 सितम्बर की शाम सदर अस्पताल गेट के समीप शहर में हथियार बंद अपराधियों ने भाकपा (माले) नेता व पूर्व वार्ड पार्षद गोपाल प्रसाद के बेटे विजय कुमार की गोली मार हत्या कर दी गयी। उसे ताबड़तोड़  आधा दर्जन से अधिक गोली मारी गई थी। इस हत्याकांड में जेल कनेक्शन सामने आया था। मामले में भागलपुर जेल में बंद आरा के कुख्यात गैंगस्टर धनजी यादव और उसके शागिर्दों समेत 12 लोगों के विरुद्ध नामजद प्राथमिकी दर्ज करायी गयी थी। मृत विजय कुमार के बेटे आयुष कुमार की तहरीर पर प्राथमिकी की गयी थी।

Accused of Vijay murder

घटना में शामिल आरोपित शहर के मोतीटोला, लक्ष्मीचरण के हाता, आनंदनगर, चंदवा, मुफस्सिल के पिपरहियां और पटना के मनेर के रहने वाले थे। आरोपितों में कुख्यात धनजी यादव का भाई और एक रिश्तेदार भी शामिल है। धनजी यादव, उसके भाई मनजी यादव और महावीर टोला मठिया निवासी धर्मेंद्र यादव पर हत्या की साजिश करने का आरोप लगाया गया था। अन्य पर हत्या में शामिल होने का आरोप है। हत्या का कारण एंबुलेंस चलाने के वर्चस्व का विवाद बताया गया था। कहा गया था कि उसके पिता और गणेश यादव का एंबुलेंस चलता है। गणेश यादव का एंबुलेंस चलाने और वर्चस्व कायम करने के लिये उसके पिता की हत्या की गयी। वहीं इस मामले में एसपी की ओर से गठित विशेष टीम द्वारा ने कुणाल और दीपू यादव उर्फ अविनाश रौशन को गिरफ्तार कर लिया है। दीपू यादव मनेर का रहने वाला और धनजी यादव के भाई का साला है। जबकि कुणाल पिपरहियां का रहने वाला है।

पढ़ें- आरा शहर के नगर थाना क्षेत्र पड़ोसी की पत्नी को भगा ले जाना वाला गिरफ्तार

पढ़ें- पार्टी में बना प्लान और शाम में गोलियों से भून दिया गया माले नेता का पुत्र

- Advertisment -
ad
ad
ad
ad
ad (2)
AD
ad
ad (2)
Ad

Most Popular