Thursday, June 20, 2024
No menu items!
HomeNewsबिहारसजा दिलाने में भोजपुर पुलिस सूबे में सेकेंड टॉपर, 63 अपराधियों को...

सजा दिलाने में भोजपुर पुलिस सूबे में सेकेंड टॉपर, 63 अपराधियों को दिलायी सजा

Bhojpur police second topper:खबरे आपकी

  • नवंबर 2022 में भोजपुर पुलिस की उपलब्धि
  • पुलिस मुख्यालय की ओर से जारी रैंकिंग में भोजपुर को मिला दूसरा स्थान
  • पिछले साल भी अपराधियों को सजा दिलाने में टॉप पर रहा था भोजपुर

खबरे आपकी बिहार/आरा: भोजपुर पुलिस अपराधियों को सजा दिलाने में सूबे में फिर से अव्वल रही है। नवंबर 2022 में सजा दिलाने में भोजपुर सेकेंड टॉपर है। बिहार पुलिस मुख्यालय की ओर से जारी रैंकिंग में इस बार भोजपुर को सूबे में दूसरा स्थान मिला है। पुलिस मुख्यालय द्वारा अपने ट्विटर हैंडल पर प्रेस बयान जारी कर यह जानकारी दी गयी है।

Election Commission of India
Election Commission of India

Bhojpur police second topper: पुलिस मुख्यालय के अनुसार नवंबर 2022 में सूबे में 594 मामलों में 729अपराधियों को सजा दिलायी गयी है। इसमें भोजपुर पुलिस विभिन्न कांडों के 63 अपराधियों को सजा दिला कर दूसरे नंबर पर रही है। इसे भोजपुर पुलिस की अनुसंधान की सफलता कही जा रही है।

पहले स्थान पर पटना पुलिस रही है। वहां नवंबर में 140 अपराधियों को सजा दिलायी गयी है। 50 अभियुक्तों को दोषसिद्ध करा बक्सर तीसरे नंबर पर रहा है। मोतिहारी और सीतामढ़ी 36/36 अभियुक्तों को सजा दिला संयुक्त रूप से चौथे स्थान पर है।

Ara Crime - CCTV of Firing -  आरा में फायरिंग का सीसीटीवी वीडियो
Ara Crime - CCTV of Firing - आरा में फायरिंग का सीसीटीवी वीडियो

भागलपुर 35 अपराधियों को सजा दिला पांचवें, वैशाली छठे, नालंदा सातवें नंबर, औरंगाबाद आठवें, दरभंगा नौवें और सुपौल दसवें नंबर पर है। पुलिस मुख्यालय की ओर से बयान में कहा गया है कि शासन द्वारा कानून का राज स्थापित करने की नीति के क्रियान्यवन के तहत गंभीर कांडों में स्पीडी ट्रायल के जरिये अपराधियों को सजा दिलायी जा रही है। इसी क्रम में नवंबर माह में सूबे में 729 अपराधियों को सजा दिलायी गयी है। इनमें कुछ चर्चित केस भी शामिल हैं।

बता दें कि साल 2021 में भोजपुर पुलिस अपराधियों को सजा दिलाने में अव्वल रही थी। पिछले साल भोजपुर में 124 को सजा दिलायी गयी थी। उसमें दस को फांसी, 36 को आजीवन कारावास और 12 को दस साल की सजा मिली थी।

MD WASIM
MD WASIM
Journalist
- Advertisment -
khabre
khabre

Most Popular