Wednesday, December 1, 2021
No menu items!
HomeNewsभोजपुर में पुलिस संस्मरण दिवस पर शहीदों को किया गया नमन

भोजपुर में पुलिस संस्मरण दिवस पर शहीदों को किया गया नमन

Police Remembrance Day-पुलिस केंद्र में शहीद पुलिस कर्मियों को किया गया याद, दी गयी श्रद्धांजलि

शहीद स्मारक पर पुष्प अर्पित कर दी गयी सलामी, कर्तव्यों का पालन की ली गयी प्रतिज्ञा

खबरे आपकी आरा। शहर के पुलिस लाइन मैदान में गुरुवार (21अक्टूबर) को पुलिस संस्मरण दिवस का आयोजन किया गया। इस अवसर पर शहीद अफसरों और जवानों को नमन किया गया। एसपी विनय तिवारी सहित अन्य अफसरों द्वारा शहीद स्मारक पर पुष्प अर्पित की गयी। दो मिनट का मौन रख शहीदों को शोक सलामी दी गयी। वहीं श्रद्धांजलि सभा आयोजित कर शहीदों की कुर्बानियों को याद किया गया। साथ ही शहादत देने वाले पुलिस कर्मियों द्वारा स्थापित आदर्शों से प्रेरणा लेते हुए शौर्यपूर्ण भाव से कर्तव्यों का पालन करने की प्रतिज्ञा ली गयी।

पढ़ें:- प्रेमी संग मिलकर पत्नी ने किया पति का कत्ल: राज खुलते ही प्रेमी फरार

Police Remembrance Day- पुलिस कर्मियों को श्रद्धांजलि

Police Remembrance Day-October 2021
Police Remembrance Day

एसपी ने कहा कि कर्तव्यों बलि बेदी पर अपने प्राण न्योछावर करने वाले पुलिस कर्मियों को श्रद्धांजलि देने के लिये देश में हर साल 21 अक्टूबर को संस्मरण दिवस आयोजित किया जाता है। पिछले साल देश में 377 पुलिस कर्मियों ने देश की रक्षा करते हुये अपने प्राणों की आहूति दे दी थी। वीरगति को प्राप्त होने वालों में बिहार पुलिस के अफसर और जवान भी थे। उनमें शहीदों में इंस्पेक्टर अश्विनी कुमार, दारोगा दिनेश राम, प्रवीण कुमार पंकज, हवलदार कांति कुमारी, सिपाही सोहन लाल और अर्जुन दयाल शामिल हैं। उन्होंने कहा कि सैकड़ों पुलिकर्मियों ने देश में अमन चैन, भाईचारा व सामाजिक सहिष्णुता कायम रखने के लिए अपने प्राणों की आहूति दी है। हम उनके बलिदानों के समक्ष नतमस्तक हैं। कहा कि अपने देश और समाज की सुरक्षा के लिए शहादत देना गौरव की बात है। इस अवसर पर मुख्यालय डीएसपी विनोद कुमार , जगदीशपुर एसडीपीओ श्याम किशोर रंजन, पीरो एसडीपीओ राहुल सिंह और मेजर आरबी चौधरी सहित अन्य पुलिस अधिकारी और कर्मी मौजूद थे।

 पढ़ें:- नियम का उल्लंघन: दो अध्यक्ष सहित 20 सदस्य पर नामजद प्राथमिकी, 10 अज्ञात भी आरोपित

1959 में चीन के कायराने हमले के बाद से मनाया जा रहा संस्मरण दिवस

Police Remembrance Day संस्मरण दिवस को मनाने की शुरुआत 1959 में चीन की कायराना हमले में जवानों की शहादत के बाद हुई थी। तब चीन द्वारा पीछे से किये गये हमले में देश के 11 जवान शहीद हो गये थे। बताते चलें कि 21 अक्टूबर 1959 को लद्दाख के हॉट स्प्रिंग (क्यान) में चीनी घुसपैठ रोकने को लेकर केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल सीआरपीएफ के 20 जवानों की टुकड़ी गश्त पर थी। तभी घात लगाए चीनी सैनिकों ने अचानक उस टुकड़ी पर हमला कर दिया था। इस हमले में हमारे 11 जवान शहीद हो गए थे। इन जवानों की शहादत में हर साल, 21 अक्टूबर को पुलिस संस्मरण दिवस मनाया जाता है।

पढ़ें:- जिंदगी इम्तिहान लेती है… गाने वाले दारोगा दिलीप कुमार निराला की जिंदगी की शुरु हुई परीक्षा

- Advertisment -
Jain Ornaments ad
Raj Auto AD
Sambhawana School Ad
Kids Campus Mission School AD
Jain Ornaments ad
Raj Auto AD
Sambhawana School Ad
Kids Campus Mission School AD
Nagarmal Ad
Heart care centre ad
Modern x Ray AD
Maa sharde Ad
Nagarmal Ad
Heart care centre ad
Ad
Modern x Ray AD
Maa sharde Ad

Most Popular