Saturday, March 6, 2021
No menu items!
Home News बिहार मामा-भांजा मिल कर रहे थे हथियारों की तस्करी

मामा-भांजा मिल कर रहे थे हथियारों की तस्करी

Bihar arms smuggling – अनु के घर की जानी थी हथियारों की डिलेवरी

Bihar arms smuggling हथियार तस्कर गिरोह का मुख्य सप्लायर रोहतास के सूर्यपुरा थाना क्षेत्र के कर्मा गांव का जय हरि सिंह उर्फ पुन्नु सिंह है। वह अपने भांजा चरपोखरी के ध्रुवडीहां गांव के अनुज सिंह के साथ मिल कर तस्करी करता है, उसके कहने पर ही अनुज शनिवार को हथियारों की डिलेवरी करने जा रहा था। अनुज से पूछताछ के बाद एसपी द्वारा यह जानकारी दी गयी। एसपी के अनुसार हथियारों की यह बड़ी खेप अजीमाबाद थाना क्षेत्र के कमरियां गांव निवासी अनु देवी के पति राजकुमार सिंह को देनी थी। लेकिन डिलेवरी से पहले ही पुलिस को भनक लग गयी। नतीजा हुआ कि पुलिस को बड़ी सफलता मिल गयी।

एसपी ने बताया कि अनुज की निशानदेही पर राजकुमार सिंह के घर छापेमारी भी की गयी। लेकिन वह पकड़ में नहीं आ सका। वहीं मौके से उसकी पत्नी को गिरफ्तार किया गया। वह हथियारों की खेप रिसीव करने वाली थी। बताया जा रहा है कि इस गिरोह का कनेक्शन भोजपुर और रोहतास के अलावे अन्य जिलों से भी जुड़े होने की बात कही जा रही है। एसपी ने बताया कि इस मामले की छानबीन की जा रही है। मुख्य सप्लायर की गिरफ्तारी के लिये छापेमारी भी की जा रही है। उसके पकड़े जाने के बाद बहुत कुछ खुलासा होने की संभावना है। 

  • भांजे के घर बैठ हथियारों की सप्लाई की मॉनिटरिंग कर रहा था जय हरि

Bihar arms smuggling आरा। रोहतास के कर्मा गांव का रहने वाला जय हरि सिंह उर्फ पुन्नु सिंह अपनी टाटा नेक्शन गाड़ी से हथियारों की खेप लेकर ध्रुवडीहां गांव आया था। इसके बाद उसने भांजे के जरिये हथियारों की खेप कमरियां गांव भेजा था। वह खुद भांजे के घर बैठ नजर रखे हुये था। गिरफ्तारी के बाद अनुज सिंह ने पुलिस को यह जानकारी दी। एसपी के अनुसार अनुज ने बताया कि उसके मामा टाटा नेक्शन गाड़ी से हथियारों की खेप लेकर आये हैं। उनके कहने पर ही वह डिलेवरी करने जा रहा है। मामा के पास अभी भी अन्य हथियार हैं। इस पर तुरंत उसके घर छापेमारी की गयी। लेकिन तबतक उसका मामा गाड़ी छोड़कर भाग चुका था। गाड़ी की तलाशी के दौरान पिछली सीट के नीचे से 9 एमएम के तीन पिस्टल और 34 मैगजीन बरामद किये गये। 

  • मुंगेर से मंगाये जा रहे थे पिस्टल, 15 से 25 हजार रुपयों में बेचे जाते थे हथियार

Bihar arms smuggling आरा। नारायणपुर थाना क्षेत्र के खेड़ी के पास से पकड़ी गयी हथियारों की खेप मुंगेर से मंगाई जाती थी। उसके बाद इलाके में 15 से 25 हजार रुपये में बेच दी जाती है। पुलिस के अनुसार हथियार का मुख्य सप्लायर रोहतास जिले के सुर्यपुरा थाना क्षेत्र करमा गांव का निवासी है। वह अपने घर पर ही मुंगेर से हथियारों को मंगाता था। उसके बाद आसपास के इलाकों में इसकी सप्लाई करवाता था। उसी हथियारों की सप्लाई भोजपुर जिले के अजीमाबाद थाना क्षेत्र के कमरिया गांव की गई थी। लेकिन संयोग से पुलिस के हाथ लग गयी। पुलिस के मुताबिक हथियार 15 से 25 हजार रुपये में बेचे जाते थे। अंतरजिला हथियार तस्कर गिरोह के अन्य सदस्यों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है।

  • हथियारों की तस्करी में पहले भी जेल जा चुकी है अनु

Bihar arms smuggling आरा। अजीमाबाद थाना क्षेत्र के कमरियां गांव से गिरफ्तार अनु देवी पहले भी हथियार तस्करी में जेल जा चुकी है। उस सिलसिले में उसके खिलाफ अजीमाबाद थाना में प्राथमिकी भी दर्ज है। विदित हो कि 30 अगस्त 2018 को हथियार तस्कर के आरोप में कमरियां गांव निवासी राज कुमार सिंह के घर छापेमारी की गयी थी। तब उसके घर से सरसों तेल के डिब्बे में रखी गयी करीब तीन सौ गोलियां और दो पिस्टल बरामद की गयी थी। मौके से अनु देवी को गिरफ्तार किया गया था। हालांकि उस समय भी राज कुमार सिंह पकड़ में नहीं आ सका था। एसपी के अनुसार मुख्य सप्लायर जय हरि सिंह उर्फ पुन्नु सिंह भी रोहतास पुलिस के लिये वांटेड है। उसके खिलाफ रोहतास के थानों में कई मामले दर्ज हैं।

Khabreapki.com देखें- खबरें आपकी – फेसबुक पेज – वीडियो न्यूज – अन्य खबरें

हर्ष फायरिंग पर एसपी के तेवर तल्ख, सभी थानों को जारी हुआ आदेश

- Advertisment -
Slider
Slider

Most Popular