Sunday, November 27, 2022
No menu items!
HomeNewsCrimeचार दिन से लापता बुजुर्ग का शव बरामद

चार दिन से लापता बुजुर्ग का शव बरामद

चार दिन से लापता बुजुर्ग का शव बरामद
पुलिस ने शव का सदर अस्पताल में कराया पोस्टमार्टम
संदेश थाना क्षेत्र के बचरी गांव स्थित नहर के समीप रविवार की दोपहर बरामद हुआ शव

आरा/संदेश। भोजपुर में चार दिन से लापता एक बुजुर्ग का शव बरामद हुआ है। उनका शव संदेश थाना क्षेत्र के बचरी गांव स्थित नहर के समीप रविवार की दोपहर बरामद हुआ। शव मिलते ही गांव एवं आसपास के इलाके में सनसनी मच गई। सूचना मिलते ही स्थानीय थाना घटनास्थल पर पहुंची और शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम सदर अस्पताल में करवाया। जानकारी के अनुसार मृत बुजुर्ग धोबहा ओपी अंतर्गत बसंतपुर गांव निवासी 80 वर्षीय छोटन यादव है। इधर, मृतक के बड़े पुत्र डॉ. रामजी यादव ने बताया कि 15 मई को उनकी बहन रिषामुनि देवी के पति और उनके दामाद घर आकर उन्हें अपने भाई की शादी में लेकर संदेश थाना क्षेत्र के नसरतपुर गांव गए थे। वहां से उनकी भाई की बारात 16 मई को गई थी और 17 मई को वापस लौटी थी। 17 मई की सुबह जब उनकी बेटी ने पिता को खाना खाने के लिए कहा। तो उन्होंने कहा कि लघुशंका कर आने की बात कही। लेकिन वे घर वापस नही लौटे। इसके बाद परिजनों ने काफी खोजबीन की, लेकिन कुछ पता नहीं चल पाया। परिजनों ने उनके लापता होने का पोस्टर जगह-जगह पर चिपकाया। साथ ही उन्होंने जमीरा, कोईलवर एवं संदेश सहित अन्य जगहों पर ऑटो द्वारा अनाउंसमेंट भी किया। लेकिन उनका कुछ पता नहीं चल पाया। चार दिन बाद संदेश थाना क्षेत्र के बचरी गांव स्थित नहर के समीप उनका शव बरामद हुआ। स्थानीय थाना ने इसकी सूचना मृतक के परिजनों को दी। दूसरी ओर मृतक के पुत्र रामजी यादव ने बताया कि कुछ वर्ष पूर्व एक घटना घटी थी। जिसके बाद उनकी मानसिक स्थिति थोड़ी खराब हो गई थी। पुलिस द्वारा बनाए गए मृत्यु समीक्षा रिपोर्ट में मृतक बुजुर्ग की मौत कैसे हुई? यह स्पष्ट नहीं हो सका है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत का कारण पूरी तरह स्पष्ट हो पाएगा। बताया जाता है कि मृतक को चार पुत्र रामजी यादव, भरत यादव उर्फ भोला यादव, मंजू यादव,संजय यादव एवं एक पुत्री रिशामुनी देवी है। मृतक के बड़े बेटे डॉ.रामजी यादव पेशे से मवेशी चिकित्सक है। मृतक बुजुर्ग की पत्नी की वर्ष 2005 में स्वाभाविक मौत हो गई थी। घटना के बाद मृतक के घर में कोहराम मच गया है। घटना के बाद मृतक के परिवार के सभी सदस्यों का रो-रोकर बुरा हाल था।

KRISHNA KUMAR
KRISHNA KUMAR
Journalist
- Advertisment -
chhotki singhi firing
chhotki singhi firing
chhotki singhi firing
chhotki singhi firing

Most Popular