Thursday, March 4, 2021
No menu items!
Home News अग्रणी बैंक के नाते पीएनबी से जिले को विशेष अपेक्षाएं - डीएम

अग्रणी बैंक के नाते पीएनबी से जिले को विशेष अपेक्षाएं – डीएम

पारदर्शिता के साथ त्वरित निष्पादित होंगे ऋण प्रस्ताव – रजा

पीएनबी ने किया पीएलपी का उद्घाटन

18 ऋणधारकों को दिये गये 3.32 करोड़ ऋण

आरा । पंजाब नेशनल बैंक इस क्षेत्र का अग्रणी बैंक है। इसलिए जिलेवासियों को इस बैंक से काफी अपेक्षाएं हैं। लाॅकडाउन के बाद अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए बैंकों की भूमिका बढ़ गई है। उपरोक्त बातें जिलाधिकारी रौशन कुशवाहा ने आज पीएनबी लोन प्वाइंट का उद्घाटन करते हुए कहा। मंडल कार्यालय में रिटेल एग्रीक्लचर एमएसएमई ऋण (रैम) का विधिवत् उद्घाटन करते हुए उन्होंने कहा कि इस केन्द्र से अधिक से अधिक लोग सुविधाजनक तरीके से लाभ उठाएं, इसका विशेष ख्याल रखा जाए।

अग्रणी बैंक के नाते पीएनबी से जिले को विशेष अपेक्षाएं - डीएम

जिला बाल संरक्षण इकाई की सहायक निदेशक रश्मि चौधरी एवं इकाई की पूरी टीम के त्वरित प्रयास ने बच्ची को परिजनों से मिलवाया

उन्होंने कहा कि कोरोना के प्रति सावधानियां बरतें ताकि आप स्वयं, ग्र्राहक एवं परिजन सुरक्षित रहें। मण्डल प्रमुख मो0 माशूक रजा ने डीएम को आश्वस्त किया कि विभिन्न योजनाओं के तहत प्राप्त सही ऋण प्रस्ताव को पारदर्शिता के साथ त्वरित निष्पादन किया जाएगा। सहायक महाप्रबंधक पार्थो गांगुली ने पीएलपी के संदर्भ में विस्तृत जानकारी देते हुए डीएम, प्रबंधन एवं ग्राहकों को आश्वस्त किया कि इसके माध्यम से प्राप्त प्रस्तावों पर त्वरित कार्यवाही की जाएगी। ताकि ग्राहकों को ससमय ऋण प्रास हो सके।

अग्रणी बैंक के नाते पीएनबी से जिले को विशेष अपेक्षाएं - डीएम

दूरगामी नीति से होगा बिहार के पलायन का इलाज-लेखक-दिल्ली विश्वविद्यालय के सहायक प्रोफेसर है (समाजिक विज्ञान विभाग)

मौके पर नाबार्ड के डीडीएम रंजीत सिन्हा, मुख्य प्रबन्धक प्रवीण कुमार, विजय कुमार, अवधेश कुमार राय, विजय कुमार अग्रवाल एवं अग्रणी जिला मुख्य प्रबंधक जैनेन्द्र कुमार वर्मा सहित सभी कर्मी उपस्थित थे। विदित हो कि पंजाब नैशनल बैंक, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स एवं यूनाइटेड बैंक ऑफ इण्डिया का औपचारिक विलय हो गया था, किन्तु विधिवत् विलय आज हुआ है। पीएनबी देश का दूसरा सबसे बड़ा राष्ट्रीयकृत बैंक बन गया है। बैंक ने पीएनबी ऋण केंद्र (पीएलपी) की शुरूआत खुदरा ऋण, कृषि ऋण एवं एमएसएमई ऋण सुलभ एवं त्वरित रूप से ऋण प्रदान करने के लिए एक ही छत के नीचे किया है। इस दौरान विभिन्न शाखाओं के 18 ऋणधारकों को 3.32 करोड़ रूपए विभिन्न योजनाओं के तहत वित्त पोषित किए गए।

कांग्रेस व उसके नेता पाकिस्तान व चीन की भाषा बोल रहे हैं – उपमुख्यमंत्री

और भी पढ़े – खबरें आपकी-फेसबुक पेज

- Advertisment -
Slider
Slider

Most Popular