Tuesday, March 2, 2021
No menu items!
Home राजनीत आरा में जाप सुप्रीमो व पूर्व सांसद पप्पू यादव समेत सात के...

आरा में जाप सुप्रीमो व पूर्व सांसद पप्पू यादव समेत सात के खिलाफ प्राथमिकी

बड़हरा बीडीओ के बयान पर कृष्णागढ़ थाने में दर्ज करायी गयी (Jap FIR) प्राथमिकी

बिना अनुमति चुनावी सभा व कोविड-19 के गाइडलाइन का पालन पर कार्रवाई

आरा में कोविड-19 के गाइडलाइन का उल्लंघन और प्रशासनिक अनुमति लिये बगैर चुनावी सभा करने के मामले में जाप (Jap) सुप्रीमो व कार्यकर्ताओं पर कानूनी गाज गिरी है। इस मामले में जाप सुप्रीमो व पूर्व सांसद पप्पू यादव समेत पार्टी के सात नेताओं के खिलाफ प्राथमिकी (FIR) दर्ज करायी गयी है।

जाप के युवा इकाई के जिला अध्यक्ष, उनके भाई, गायक भी आरोपित

कृष्णागढ़ थाना के बभनगांव खेल मैदान में बुधवार को हुई थी सभा

इसमें जाप की युवा इकाई के जिलाध्यक्ष रघुपति यादव, उनके भाई विजय यादव, भोजपुरी गायक राकेश मिश्रा, हरिओम यादव, शेखर दूबे और ॠषिकेश सिंह को भी आरोपित किया गया है। प्राथमिकी (Jap FIR) बड़हरा के प्रखंड विकास पदाधिकारी के बयान पर कृष्णागढ़ थाने में करायी गयी है। मामला दो रोज पूर्व बड़हरा प्रखंड के बभनगांवा खेल मैदान में चुनावी सभा से संबंधित है। भोजपुर एसपी हर किशोर राय द्वारा प्राथमिकी की पुष्टि की गयी है।

प्राथमिकी के अनुसार 16 सितंबर को बभनगांवा खेल मैदान में जाप द्वारा चुनावी सभा आयोजित की गयी थी। उसमें जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष सहित करीब 6 सौ कार्यकर्ताओं ने भाग लिया था। इसमें कोविड-19 गाइडलान का पालन नहीं किया गया। साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का भी ख्याल नहीं रखा गया। इससे कोरोना जैसी महामारी फैलने का खतरा उत्पन्न हो गया। यह भी कहा गया है कि सभा के लिये अनुमति भी नहीं ली गयी थी।

प्राथमिकी दर्ज कराये जाने पर जाप नेताओं व कार्यकर्ताओं में गहरी
नाराजगी

बोले जाप नेताः पप्पू यादव की बढ़ती लोकप्रियता से घबरा गई है सरकार

इधर, प्राथमिकी दर्ज (Jap FIR) कराये जाने पर जाप नेताओं कार्यकर्ताओं में गहरी नाराजगी देखी जा रही है। पार्टी द्वारा केस वापस लेने की मांग की गयी। कहा गया है कि केस वापस नहीं लिये जाने पर चरणबद्ध आंदोलन किया जायेगा। जाप युवा जिला अध्यक्ष रघुपति यादव, प्रदेश सचिव अविनाश कुमार उर्फ लड्डू यादव, जाप छात्र परिषद के जिलाध्यक्ष रितेश कुमार और सुप्रसिद्ध एंकर ऋषिकेश सिंह ने आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि अभी पिछले दिनों महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा भी आरा में लॉकडाउन उल्लंघन करते हुए मीटिंग की गयी थी। कुछ दिन पहले स्थानीय विधायक ने भी अपने कार्यकर्ताओं के साथ लॉकडाउन का उल्लंघन करते हुए बैठक किया था। उन लोग पर केस क्यों नहीं दर्ज किया गया? सिर्फ जन अधिकार पार्टी को ही क्यों जिला प्रशासन और सरकार द्वारा निशाना बनाया जा रहा है। कहा कि देवेंद्र फडणवीस और स्थानीय विधायक पर भी लॉकडाउन उल्लंघन का केस दर्ज होना चाहिये। कहा कि पप्पू यादव की बढ़ती लोकप्रियता से सरकार घबरा गई है और राजनीतिक साजिश के तहत जाप सुप्रीमो और उनके नेताओं पर केस दर्ज कराया जा रहा है। जन अधिकार पार्टी के नेता डरने वाले नहीं हैं।

भोजपुर Bhojpur में आसन्न विधानसभा आम चुनाव 2020 की तैयारियां जोरों पर

आरा में महिला मरीज के पेट से डॉ. विकास सिंह ने ऑपरेशन कर निकाला 20 किलो का ट्यूमर

संभल कर रहे इस बार बिहार में चुनाव भी है और कोरोना भी..

- Advertisment -
Slider
Slider

Most Popular