Thursday, October 6, 2022
No menu items!
Homeमनोरंजनकलाजीवन से मृत्यु तक मानव जीवन संगीतमय- देवेन्द्र वर्मा

जीवन से मृत्यु तक मानव जीवन संगीतमय- देवेन्द्र वर्मा

kathak Acting-राष्ट्रीय वेबिनार के माध्यम से “श्रुति श्रृंगार” कार्यक्रम का हुआ आयोजन

एचडी जैन कॉलेज के प्रदर्श कला विभाग का द्वितीय वार्षिकोत्सव मना

खबरे आपकी आरा शहर के एचडी जैन कॉलेज के प्रदर्श कला विभाग के द्वितीय वार्षिकोत्सव के अवसर पर राष्ट्रीय वेबिनार के माध्यम से “श्रुति श्रृंगार” कार्यक्रम का आयोजन हुआ। कार्यक्रम के पहले सत्र में “मानव जीवन और संगीत” विषय की परिचर्चा में प्राचार्य डॉ. शैलेन्द्र कुमार ओझा ने अध्यक्षता करते हुए कहा कि संगीत का सीधा प्रभाव मन और मस्तिष्क पर होता है। संगीत भारत की प्राचीनतम संस्कृति है, जिसका पूरा वर्णन सामवेद में निहित है।

पढ़े- सिवान की चर्चित नृत्यांगना सृष्टि प्रिया व पुषपांजलि राज ने कथक युगलबंदी से समां बांधा

मुख्य वक्ता नई दिल्ली से संगीतशास्त्री पंडित देवेन्द्र वर्मा ने कहा कि जीवन से मृत्यु तब मानव जीवन संगीतमय है। हृदय की धड़कन लयबद्ध हैं। संगीत के बिना स्वस्थ समाज की कल्पना भी नहीं हो सकती। प्रकृति में हर मौसम हर प्रहर के राग विधमान हैं। लोक संगीत जीवन के सुरों में पिरोए होने का प्रतिबिंब है। स्वाभाविकता के कारण रुदन व विलाप भी संगीत हैं। वहीं दूसरे सत्र में प्रदर्श कला विभाग के छात्र सूरज कांत पांडेय ने स्वतंत्र तबला वादन प्रस्तुत कर समा बांधा। रवि शर्मा व श्रेया पांडेय ने महाविद्यालय गान के साथ राग भोपाली में एकताल की बंदिश “पिया आ भी जाओ” व भजन “मन में बसे मोरा श्याम सूरतिया” प्रस्तुत कर दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया।

पढ़े- सिवान की चर्चित नृत्यांगना सृष्टि प्रिया व पुषपांजलि राज ने कथक युगलबंदी से समां बांधा

kathak Acting-कथक नृत्यांगना सोनम कुमारी ने ठुमरी ” छोड़ो-छोड़ो बिहारी नारी देखे” पर कथक के अभिनय अंग को बखूबी प्रस्तुत किया। प्रदर्श कला विभाग के आचार्य चंदन कुमार ठाकुर ने तबला विषय की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए दिल्ली घराने के कायदे का निकास प्रस्तुत किया। विभाग की संयोजिका डॉ. स्मिता जैन ने धन्यवाद ज्ञापन किया। कहा कि संगीत मानव को सुकून देने के साथ साथ शक्ति प्रदान करता है। तभी आजादी के लड़ाई में वन्देमातरम गाते हुए कितने ही सेनानी मुस्कुराकर कुर्बान हो गए। विषय प्रवेश एवं संचालन गुरु बक्शी विकास ने की।

आरा शहर के एचडी जैन कॉलेज के प्रदर्श कला विभाग के द्वितीय वार्षिकोत्सव के अवसर पर राष्ट्रीय वेबिनार के माध्यम से “श्रुति श्रृंगार” कार्यक्रम का आयोजन

कार्यक्रम में देश के कई प्रदेशों से संगीत विशेषज्ञों में डॉ. मुकेश गर्ग, विदुषी माधवी नानल, डॉ. कुलविंदर दीप, डॉ. लावण्य कीर्ति सिंह कव्या, डॉ. स्मिता वर्मा, डॉ. बाला लाखेंड, डॉ. अंकिता, पंडित अभिक सरकार समेत महाविद्यालय के डॉ. नरेंद्र कुमार सिंह, डॉ. पुष्पा द्विवेदी, डॉ. संजय कुमार त्रिपाठी, डॉ. कुमारी साधना प्रसाद, डॉ. अंजलि गुप्ता, डॉ. तबस्सुम बानो, डॉ. अरविंद कुमार समेत कई शिक्षक,कर्मचारी एवं छात्र छात्राएं सम्मिलित हुए।

KRISHNA KUMAR
KRISHNA KUMAR
Journalist
- Advertisment -
shayamji rai
shayamji rai shahpur
9999136320 9308750659
shayamji rai shahpur
k
Untitled design (1)
Untitled design (2)
Untitled design

Most Popular