Tuesday, April 13, 2021
No menu items!
Home News सिवान की चर्चित नृत्यांगना सृष्टि प्रिया व पुषपांजलि राज ने कथक युगलबंदी...

सिवान की चर्चित नृत्यांगना सृष्टि प्रिया व पुषपांजलि राज ने कथक युगलबंदी से समां बांधा

Kathak dancer – संगीत विद्यालय में कला संध्या का हुआ आयोजन

मो.वसीम खबरे आपकी  Kathak dancer आरा शहर के जमीरा कोठी स्थित श्री शत्रुंजय संगीत विद्यालय के तत्वाधान में शुक्रवार को कला संध्या कार्यक्रम का आयोजन हुआ। उद्घाटन संगीत द्वारक लीला सिंह ने किया। इस अवसर पर विद्यालय की केंद्राधीक्षक नीरजा सिंह ने कहा कि जमीरा कोठी की संगीत परम्परा अति प्राचीन है। यहां सदैव कलाकारों का आगमन होता है। देश के विभिन्न हिस्सों से संगीतज्ञों का आगमन आरा के लिए गौरव की बात है।

इस अवसर पर सिवान की Kathak dancer चर्चित नृत्यांगना सृष्टि प्रिया व पुषपांजलि राज ने कथक की युगलबंदी से सबका मन मोह लिया। द्वय नृत्यांगनाओं ने कथक की शुरुआत शिव वंदना से की। इसके बाद तीन ताल में उपज, थाट, आमद, परण इत्यादि प्रस्तुत कर समां बांधा। कथक का समापन होली “रंग डालूंगी नंद के लालन पे पर भाव प्रस्तुत किया।

पढ़े :-  आरा के संगीत की अनुगूंज सात समंदर पार कनाडा तक

इसके बाद युवा गायक रोहित ने राग यमन में तीन ताल की बंदिश “सखी ए री आली पिया बिन” ठुमरी “सैया रूठ गए मैं मनाती रही” व होली “ना मारो मोहे पिचकारी भिंजेगी मोरी साड़ी” प्रस्तुत कर वाहवाही लूटी। संचालन व धन्यवाद ज्ञापन नीरजा सिंह ने किया।

पढ़े :- आरा की कथक नृत्यांगना सोनम कुमारी ने प्रस्तुत किया लाइव कथक

- Advertisment -
Slider
Slider

Most Popular