Tuesday, April 13, 2021
No menu items!
Home मनोरंजन कला राग चारूकेशी व पारंपरिक होली से रंगों की बौछार

राग चारूकेशी व पारंपरिक होली से रंगों की बौछार

Kathak dancers – कथक नृत्यांगनाओं ने नृत्य प्रस्तुति में सबका मन मोह लिया

खबरे आपकी बिहार/आरा:- Kathak dancers शिवादी क्लासिक सेंटर ऑफ आर्ट एंड म्यूजिक के तत्वाधान में आयोजित कार्यक्रम “फाग मचो है न्यारी” में मची होली की धूम। कार्यक्रम का उद्घाटन संगीतकार अरूण सहाय ने किया। कार्यक्रम में शिवादी संस्था के उभरते कलाकारों में अंबे, राजा, अभिजीत, राजनंदनी, वैष्णवी भाटिया व संदीप ने भजन व होली “होली खेले नंदलाल बृज में” प्रस्तुत कर शुभारंभ किया।

वहीं गायिका विदुषी विमला देवी ने राग चारुकेशी में तीन ताल की बंदिश “मुरली बजावत छैल छबीले” तराना व होली “होली खेलत कृष्ण मुरारी” प्रस्तुत कर समा बांधा। वहीं युवा गायक रोहित कुमार ने “कन्हैया घर चलो गुईयां आज खेले होली” प्रस्तुत कर वाहवाही लूटी।

पढ़े:- बाइक सवार बदमाश झपट्टा मार छीन ले गये रूपये, सुराग पाने में जुटी पुलिस

नृत्य संरचना फाग मचो है न्यारी की प्रस्तुति में कथक नृत्यांगना सोनम कुमारी, सृष्टि प्रिया, स्मृति, मीनाक्षी, स्नेहा, दीप्ति, अंतरा, नेहा, अंजली, संजना, मुस्कान व संजना ने सबका मन मोह लिया। तबले पर सूरज कांत पांडेय, हारमोनियम पर श्रेया पांडेय, गिटार पर सागर व ढोलक पर मंगलम भारद्वाज ने संगत से रंग भर दिया। मंच संचालन अमित कुमार व धन्यवाद ज्ञापन आदित्या श्रीवास्तव ने किया।

Kathak dancers

पढ़े:- दाखिल खारिज करने के नाम पर ऑफिस में रिश्वत ले रहा था सीआई

- Advertisment -
Slider
Slider

Most Popular