Wednesday, March 3, 2021
No menu items!
Home News वज्रपात का कहर- छीन गयी एक साथ नौ घरों की खुशियां

वज्रपात का कहर- छीन गयी एक साथ नौ घरों की खुशियां

गांव व बधार से रुक-रुककर आती रही मौत की खबरें

किसी की मांग सुनी हो गयी, तो किसी की गोद

गांव से लेकर सदर अस्पताल तक मची रही अफरातफरी

मृतक के परिजनों की चीत्कर से माहौल हुआ गमगीन

आरा में वज्रपात का कहर- छीन गयी एक साथ नौ घरों की खुशियां
आरा। भोजपुर के लोगों के लिये शनिवार का दिन काला साबित हुआ। पूरे दिन इंद्र का वज्र लोगों पर कहर बनकर गिरता रहा। वहीं मानों शनि भगवान भी लोगों से नाराज हो गये हैं। ठनका से एक-एक कर नौ लोगों की जान चली गयी। साथ ही दर्जन भर लोग झुलसकर अस्पताल पहुंच गये। पूरे दिन मौत का खेल चलता रहा। गांव व बधारों से रुक-रुककर लोगों की मौत की खबरें आती रही। इससे पूरे जिले में हाहाकर मची रही। वहीं वज्रपात से एक साथ नौ घरों की खुशियां छीन गयी। किसी की गोद सूनी हो गयी, तो किसी का सुहाग उजड़ गया। सुबह से शाम तक चले मौत के खेल का गवाह सदर अस्पताल को बनना पड़ा। जहां शाम होते ही मृतकों के शवों का आने का सिलसिला शुरू हो गया। इसके साथ ही परिजनों और उनके रोने-धोने की आवाज भी बढ़ती चली गयी। मृतकों के परिजनों की चीत्कार से पूरे अस्पताल का माहौल गमगीन हो उठा था। चारों ओर चीखने व चिल्लाने की आवाज सुनाई दे रही थी। इस कारण गांव से लेकर सदर अस्पताल तक अफरातफरी बनी रही। बता दें कि शनिवार की दोपहर करीब 12 बजे से जिले में आफत की बारिश के साथ ठनका गिरना शुरू हो गया। उसके साथ ही ठनका से लोगों के मरने व झुरसने का सिलसिला भी शुरू हो गया। दिन चढ़ने के साथ ही मरने वालों की संख्या भी बढ़ती गयी। शाम होते-होते मृतकों की संख्या नौ तक जा पहुंची।

आरा में वज्रपात का कहर- छीन गयी एक साथ नौ घरों की खुशियां

शिक्षिका के संक्रमित पाये जाने की सूचना के बाद साथी शिक्षकों में भय

तीन भाइयों में सबसे छोटा था बिट्‌टू, परिजन बेहाल

ठनका गिरने से नौ लोगों की मौत के बाद उन सभी के घरों में कोहराम मचा था। सभी के परिजनों का बुरा हाल था। उदवंतनगर थाना क्षेत्र के कुसुम्हा गांव निवासी छात्र अभिषेक कुमार उर्फ बिट्टू तीन भाइयों में सबसे छोटा था। परिवार में मां संचिता देवी, भाई अमरदीप कुमार व बबलू कुमार है। छोटे बेटे के वियोग में मां बेहार थी। वह बार-बार बेहोश हो जा रही थी। इसी तरह मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के चंदा गांव निवासी अंजय साह पांच भाई व एक बहन में सबसे बड़ा था। उसके परिवार में मां राजरानी देवी, पत्नी बबीता देवी, दो पुत्र निरंजन कुमार, मारुति नंदन व दो पुत्री रागनी कुमारी व नंदनी कुमारी है। घटना के बाद उसके घर में रोना-धोना मचा है।

आरा में वज्रपात का कहर- छीन गयी एक साथ नौ घरों की खुशियां

भोजपुर में ठनका गिरने से छह लोगो की मौत, सात झुलसे

गांव व बधार से रुक-रुककर आती रही मौत की खबरें

वहीं कृष्णगढ़ थाना क्षेत्र के बभनगांवा गांव निवासी मृतक अमरजीत यादव चार भाई में तीसरे स्थान पर था। उसकी तीन बहन धनमुन्नी देवी, चुन्नमुन्नी देवी एवं नेहा कुमारी है। घटना के बाद मां उर्मिला देवी के आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे थे। वही उदवंनगर के बेलाऊर में ठनका गिरने से मृत विनोद पासवान मूल रूप से कोईलवर थाना क्षेत्र के बीरमपुर का रहने वाला है। वह विगत 20 वर्षों से वह अपने ससुराल बेलाउर में रह रहा था। उसके परिवार में उसकी पत्नी आशा देवी, पुत्र दुर्गा पासवान, संतोष पासवान, छोटक, राजेश, श्रवण, विशाल एवं एक पुत्री नैनाझरी कुमारी है। बेलाऊर निवासी रजनीश राय की मौत के बाद उसके घर में हाहाकार मच गया। बताया जाता है कि उसके माता-पिता की पहले ही मौत हो चुकी थी। तीन साल पहले छोटे भाई की हत्या हो गई थी। एक बहन है। मृतक के परिवार में उसकी पत्नी नेहा देवी, पुत्री अनिका कुमारी व पुत्र विक्रम कुमार है।

आरा में वज्रपात का कहर- छीन गयी एक साथ नौ घरों की खुशियां

कोरोना के 11 पॉजिटिव मरीज मिले-कोरोना पॉजिटिव लोगों में एक पुरुष तथा दो महिला पुलिसकर्मी भी शामिल

और भी पढ़े – खबरें आपकी-फेसबुक पेज

आरा में वज्रपात का कहर- छीन गयी एक साथ नौ घरों की खुशियां

आरा में वज्रपात का कहर- छीन गयी एक साथ नौ घरों की खुशियां

- Advertisment -
Slider
Slider

Most Popular