Saturday, May 15, 2021
No menu items!
Homeअन्यचर्चित खबरपिरौंटा बैंक डकैती कांडः तीन दिनों की रेकी के बाद वारदात को...

पिरौंटा बैंक डकैती कांडः तीन दिनों की रेकी के बाद वारदात को दिया अंजाम

Pironta Bank Robbery Case – कैश ले जाने वाले वाहन के आधार पर बैंक की रेकी कर रहे थे लुटेरे

Pironta Bank Robbery Case-बैंक डकैती के बाद लुटेरों के भागने में इस्तेमाल बाइक और मोबाइल बरामद

पूछताछ के बाद जेल भेजे गये चारों लाइनर, लुटेरों की तलाश में छापेमारी

एसपी बोले: गिरफ्तारी नहीं होने पर की जायगी कुर्की की कार्रवाई

खबरे आपकी बिहार/आरा शहर से सटे मुफस्सिल थाना क्षेत्र के पिरौंटा गांव स्थित पंजाब नेशनल बैंक की शाखा मेंतीन दिनों तक रेकी के बाद डकैती की वारदात को अंजाम दिया गया। अपराधी कैश ले जाने वाले वाहन के आधार पर बैंक की रेकी कर रहे थे। डकैती के दिन भी लुटेरे कैश वाहन की रेकी करते बैंक तक पहुंचे थे। गिरफ्तार लाइनरों से पूछताछ के बाद पुलिस ने इसका खुलासा किया है। लाइनरों की निशानदेही पर पुलिस ने डकैती के बाद लुटेरों के भागने में इस्तेमाल बाइक और मोबाइल भी बरामद कर लिया है।

इधर, पूछताछ के बाद चारों लाइनरों को जेल भेज दिया गया। इनमें शहर टाउन थाना क्षेत्र के गौसगंज निवासी विक्की गुप्ता उर्फ अमित कुमार, राहुल कुमार उर्फ आर्यन राज, सत्यजीत गोंड उर्फ संजीत और मुफस्सिल थाना क्षेत्र के भकुरा गांव निवासी गोलू कुमार उर्फ नीतीश कुमार सिंह शामिल हैं।

Pironta Bank Robbery Case
SP-Bhojpur

एसपी राकेश कुमार दूबे ने बताया कि चारों लाइनर को गिरफ्तार कर लिया गया है। इनसे पूछताछ के बाद लूट में शामिल सभी अपराधियों की पहचान कर ली गयी है। इन चारों की निशानदेही पर लुटेरों के भाइने में इस्तेमाल बाइक और तीन मोबाइल भी बरामद कर लिये गये हैं। बताया कि चारों लाइनर बैंक के बाहर की गतिविधियों, कैश गाड़ी की आवागमन और पुलिस की सूचना का आदान-प्रदान कर रहे थे। एसपी ने बताया कि लुटेरों की गिरफ्तारी के लिये छापेमारी की जा रही है।

Pironta Bank Robbery Case
Pironta Bank Robbery Case

बता दें कि 27 अप्रैल की दोपहर पीएनबी की पिरौंटा शाखा में धावा बोलकर अपराधियों ने दो लाख 38 हजार रुपये लूट लिये थे। ग्रामीणों के विरोध को देखते हुये फायरिंग भी की गयी थी। उसमें एक लुटेरे को ही गोली लग गयी थी। बाद में इलाज के दौरान उसकी मौत हौ गयी थी। उसकी पहचान बड़हरा के नेकनाम टोला निवासी अभिषेक सिंह के रूप में की गयी थी। घटना के बाद लूटेरों की गिरफ्तारी और पैसे की बरामदगी को लेकर ट्रेनी डीएसपी जीतेश पांडेय के नेतृत्व में एक विशेष टीम बनायी गयी है। टीम में मुफस्सिल थानाध्यक्ष अनिल कुमार, टाउन थानाध्यक्ष शंभू भगत, नवादा थानाध्यक्ष संजीव कुमार, कोईलवर थाना इंचार्ज कुंवर गुप्ता, दारोगा देवमुनी सिंह, मीना कुमारी, राजीव रंजन कुमार और डीआईयू के अफसर व जवान शामिल थे।

डकैती के बाद बाइक से भागे अपराधी, पैसों का कर लिया बंटवारा

Pironta Bank Robbery Case बैंक डकैती की वारदात को अंजाम देने के बाद लाइनरों की मदद से चारों लुटेरे बाइक से भाग निकले। उसके बाद एक बागीचे में पैसे का आपस में बंटवारा कर लिया। लाइनर के पास से बरामद मोबाइल और पूछताछ से इस बात का खुलासा हुआ है। जानकारी के अनुसार एक लाइनर के पास से मिले मोबाइल में लूटे गये पैसे का फोटो मिला है। उससे पूछताछ में लुटेरों के भागने और बंटवारे की बात सामने आयी है। बताया जा रहा है कि लुटेरे दियारा होते यूपी की ओर भाग निकले हैं। पुलिस उनकी गिरफ्तारी के लिये लगातार छापेमारी कर रही है। एसपी ने बताया कि गिरफ्तारी के लिये छापेमारी की जा रही है। गिरफ्तारी नहीं होने की स्थिति में उनके खिलाफ कुर्की की कार्रवाई भी की जायेगी।

पढ़े :- पिरौंटा लूट कांडः-मोबाइल सर्विलांस के आधार पर पुलिस ने तीन लाइनर को दबोचा

बड़हरा, बिहिया भाया आरा पिरौंटा पहुंची बैंक डकैत गिरोह

Pironta Bank Robbery Case पिरौंटा बैंक लूटकांड का पूरा कनेक्शन आरा, बड़हरा और बिहिया से जुड़ा है। पुलिस की ओर से यह जानकारी दी गयी। पुलिस के अनुसार डकैती में पांच अपराधी शामिल थे। जबकि चार अपराधी लाइनर का काम कर रहे थे। डकैती में शामिल एक अपराधी अपने साथी की गोली से मारा गया। जबकि चार भागने में सफल रहे थे। मारा गया अपराधी बड़हरा के नेकनाम टोला का रहने वाला था। भागने वालों में भी तीन बड़हरा इलाके के ही रहने वाले हैं। एक अपराधी बिहिया इलाके का रहने वाला है। वहीं लाइनर में तीन शहर के गौसगंज, जबकि एक मुफस्सिल के भकुरा गांव का रहने वाला है। चारों गिरफ्तार कर लिये गये हैं।

- Advertisment -
Slider
Slider

Most Popular