Saturday, March 6, 2021
No menu items!
Home News आभूषण दुकान का ताला तोड़कर लाखों की चोरी, हंगामा और रोड जाम

आभूषण दुकान का ताला तोड़कर लाखों की चोरी, हंगामा और रोड जाम

Semaria Bazaar – अपराधियों की गिरफ्तारी और पुलिस की सुस्ती के खिलाफ सड़क पर उतरे लोग

बड़हरा थाना क्षेत्र के सेमरिया बाजार की बुधवार की रात की वारदात

खबरे आपकी आरा। भोजपुर जिले के बड़हरा थाना क्षेत्र के सेमरियां बाजार (Semaria Bazaar) स्थित एक जेवर दुकान में बुधवार की रात भीषण चोरी की घटना हुई। चोर दुकान का ताला तोड़ कर लाखों के जेवर और बर्तन ले भागे। चोरी की यह वारदात भोला कुमार सोनी की खुशी ज्वेलर्स और बर्तन भंडार में हुई। गुरुवार की सुबह चोरी की खबर मिलने से व्यवसायी और आम लोग आक्रोशित हो उठे। गुस्साये लोग सड़क पर उतर गये और जमकर बवाल काटा। टायर जलाकर रोड जाम कर दिया गया और पुलिस के खिलाफ नारेबाजी भी की गयी।

आरा-बड़हरा रोड पर करीब दो से तीन घंटे तक बाधित रहा आवागमन

टायर जला कर किया रोड जाम, पुलिस के खिलाफ की गयी नारेबाजी

मौके पर पहुंची बड़हरा थाना के अफसरों को भी लोगों का आक्रोश झेलना पड़ा। मौके पर पहुंचे थाने के एक दारोगा के व्यवहार से मामला और भी बिगड़ गया। उसके बाद लोग जबर्दस्त नारेबाजी करने लगे। चोरी की घटनाओं और पुलिस की सुस्ती के खिलाफ लोगों में काफी गुस्सा था। गुस्साये लोग चोरों को जल्द गिरफ्तार करने, बड़हरा थाने के अफसरों के खिलाफ कार्रवाई करने और एसपी को बुलाने की मांग कर रहे थे। इस कारण आरा-बड़हरा रोड पर करीब दो-तीन घंटे तक आवागमन बाधित रहा। बाद में अफसरों के आश्वासन पर लोगों का गुस्सा शांत हुआ।

बताया जाता है कि मटुकपुर निवासी भोला सोनी की सेमरियां बाजार (Semaria Bazar) पर गहने और बर्तन की दुकान है। रोज की तरह भोला सोनी दुकान बढ़ा कर बुधवार की शाम घर चले गये थे। इस बीच चोरों ने उनकी दुकान को निशाना बना डाला। इस दौरान दुकान ताला तोड़कर जेवर, बर्तन और नगदी की चोरी कर ली गयी। दुकानदार के अनुसार आठ से दस लाख से अधिक का नुकसान हुआ है। इधर, पुलिस चोरों की पहचान और धरपकड़ में जुट गयी है। 

मिफीजेस्ट, एसीक्लोफेनाक दवायें Expire होने के बाद भी लायी जा रही थी उपयोग में

पूछ रहे थे लोग: आखिर रात में कहां थी पुलिस, 

आरा। चोरी की घटना से लोगों में काफी उबाल देखा जा रहा था। खासकर बड़हरा पुलिस से लोग बेहद खफा था। रोड जाम के दौरान लोगों ने तीखे सवाल भी दागे। लोग पूछ रहे थे कि आखिर रात में पुलिस कहां थी? पेट्रोलिंग कर रही थी या सो रही थी? लोगों का कहना था कि हमलोग पुलिस के भरोसे दुकान बंदकर घर चले जाते हैं। लेकिन पुलिस भी सो जाती है। लोगों की मानें तो चोरी की घटना को अंजाम देने में चार से पांच घंटे लगे होंगे। लेकिन इस बीच पुलिस एक बार भी नहीं पहुंच सकी।

भोजपुर से बड़ी खबर: पूर्व के विवाद में युवक की गोली मारकर हत्या

जाम में शामिल लोगों कहना था कि पहले सेंधमारी की कोशिश की गयी। इसके तहत दुकान की दीवार तोड़ी गयी। उसमें चोर सफल नहीं हो सके, तो ताला तोड़ घटना को अंजाम दिया गया। लोगों की मानें तो दुकान का ताला तोड़ने के बाद तिजोरी तोड़ जेवर की चोरी की गयी। तिजोरी तोड़ने में कम से कम दो घंटे लगे होंगे। थाने से कुछ ही दूरी पर स्थित सेमरियां बाजार (Semaria Bazar) में मेन रोड पर दुकान में चोरी होती रही। लेकिन पुलिस को भनक तक नहीं लग सकी। इसका पुलिस की नाइट पेट्रोलिंग की पोल खुल रही है।

पूर्व मुख्यमंत्री की जयन्ती पर बिहिया में राजकीय समारोह आयोजित

- Advertisment -
Slider
Slider

Most Popular