Tuesday, February 7, 2023
No menu items!
Homeअन्यचर्चित खबरशाहपुर पूर्व नपं चेयरमैन हत्याकांड: हत्या को दी गयी थी छह लाख...

शाहपुर पूर्व नपं चेयरमैन हत्याकांड: हत्या को दी गयी थी छह लाख की सुपारी, तीन लाख लेकर शूटर ने दागी थी गोलियां

shahpur np ex chairman murder case:खबरे आपकी

  • पुलिस के हत्थे चढ़े शूटर ने पुलिस की पूछताछ में किया खुलासा
  • पीरो इलाके से पकड़ा गया कुख्यात अपराधी और शूटर तिवारी यादव
  • हत्या में इस्तेमाल पिस्टल, एक गोली और करीब दो किलो गांजा बरामद
  • अब शूटर की बाइक चलाने वाले अपराधी की तलाश कर रही पुलिस
  • जेल में बंद अपराधियों के इशारे पर हत्या की वारदात को दिया गया अंजाम
  • हत्या सहित दो अन्य मामलों में भी वांटेड था गिरफ्तार शूटर

खबरे आपकी: आरा। भोजपुर की शाहपुर नगर पंचायत के पूर्व मुख्य पार्षद वशिष्ठ प्रसाद उर्फ मंटू सोनार की पूर्व की दुश्मनी में हत्या की गयी थी। उसके लिए जेल में बंद अपराधियों द्वारा लाख की सुपारी दी गयी थी। उसमें तीन लाख रुपए लेकर शूटर द्वारा पूर्व चेयरमैन को गोलियां दाग दी गयी थी। शूटर की गिरफ्तारी और पूछताछ के बाद इसका खुलासा हुआ है। गिरफ्तार शूटर गड़हनी थाना क्षेत्र के एकौना गांव निवासी जनार्दन यादव का पुत्र मनीष कुमार उर्फ तिवारी यादव है। उसे रविवार को पीरो थाना क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया है। उसके पास से हत्या में इस्तेमाल एक पिस्टल, एक गोली, एक मोबाइल और करीब दो किलो गांजा बरामद किया गया है। गिरफ्तार शूटर पूर्व से भी हत्या और हत्या के प्रयास के मामले में वांछित था। उसके खिलाफ पूर्व से नारायणपुर थाने में दोनों मामले दर्ज हैं।

एसपी संजय कुमार सिंह द्वारा सोमवार को प्रेस कांफ्रेंस में यह जानकारी दी गयी। बताया कि हत्या की तफ्तीश में गोली मारने वाले की पहचान गड़हनी थाने के एकौना निवासी मनीष कुमार उर्फ तिवारी यादव के रूप में की गयी थी। उसके बाद पीरो एसडीपीओ राहुल सिंह के नेतृत्व में विशेष टीम गठित कर उसकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही थी।इस क्रम में रविवार को पीरो थाना क्षेत्र से उसको गिरफ्तार कर लिया गया। पूछताछ में उसने तीन लाख की सुपारी लेने की बात स्वीकार की है। उसकी निशानदेही पर हत्या के समय उसकी बाइक चलाने वाले की धरपकड़ के लिए छापेमारी की जा रही है। टीम में पीरो थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर नंद किशोर प्रसाद सिंह, डीआईयू इंचार्ज इंस्पेक्टर शंभू भगत, शाहपुर थानाध्यक्ष प्रमोद कुमार, सहार थानाध्यक्ष शिवेंद्र कुमार, नारायणपुर थानाध्यक्ष नीता कुमारी, गड़हनी थानाध्यक्ष राजीव रंजन कुमार, हसन बाजार ओपी इंचार्ज संतोष कुमार रजक, डीआईयू के दारोगा नित्यानंद शर्मा, सुदेह कुमार और राकेश कुमार शामिल थे।

shahpur np ex chairman murder case: पुरानी रंजिश में रची गयी थी हत्या की साजिश, चुनाव का विवाद भी कारण

Shahpur np ex chairman murder case-तीन लाख लेकर शूटर ने दागी थी गोलियां

शाहपुर के पूर्व नपं चेयरमैन सह वशिष्ठ प्रसाद उर्फ मंटू की हत्या पुरानी रंजिश में की गयी थी। नगर पंचायत चुनाव का विवाद भी उनकी हत्या का कारण बना है। उसके लिए जेल से साजिश रची गयी थी और सुपारी दी गयी थी। एसपी की ओर से शूटर की गिरफ्तारी के बाद यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि पूर्व चेयरमैन की पहले से कुछ लोगों से पूर्व से विवाद था। चुनाव संबंधी विवाद भी सामने आ रहा है। उसे लेकर भी वैमनस्यता थी‌। उसमें कुछ आरोपित जेल में बंद हैं। उनमें चार आरोपितों की इस हत्याकांड में भूमिका सामने आयी है। उनलोगों के इशारे पर घटना को अंजाम दिया गया था। उसे लेकर जेल में छापेमारी की गयी थी और चारों से पूछताछ भी की गयी थी। बता दें कि पूर्व के विवाद में गत सितंबर माह में भी पूर्व चेयरमैन को गोली मारी गयी थी। उसमें कुछ को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था।

हत्या के समय जेल में बंद आरोपितों से सीधा संपर्क में था शूटर
एसपी के अनुसार पूर्व नपं चेयरमैन वशिष्ट प्रसाद उर्फ मंटू सोनार की हत्या की कुछ दिनों से साजिश की जा रही थी। उसे लेकर पिछले कुछ दिनों से रेकी भी की जा रही थी। घटना के दिन शूटर और लाइनर जेल में बंद आरोपितों से सीधे संपर्क में थे। जेल में बंद आरोपितों के इशारे पर ही लाइनर काम कर रहे थे।

शूटर ने महज पांच सेकंड में पूर्व चेयरमैन को दाग दी थी पांच गोलियां
Shahpur np ex chairman murder: शाहपुर नगर पंचायत के पूर्व मुख्य पार्षद को महज पांच सेकंड में पांच गोलियां दागी गयी थी। हत्या के बाद भागते समय भी शूटर की ओर से दो राउंड फायरिंग की गयी थी। शूटर की गिरफ्तारी के बाद एसपी द्वारा इसकी पुष्टि की गयी है। एसपी के अनुसार हत्या में इस्तेमाल पिस्टल की यह विशेषता है कि कुछ सेकेंड में लगातार कई राउंड फायरिंग की जाती है। बता दें कि 27 नवंबर की दोपहर पूर्व मुख्य पार्षद को उनके घर के सामने होटल में गोली मार कर हत्या कर दी गयी थी। बाइक सवार दो अपराधियों द्वारा उनको ताबड़तोड़ पांच गोलियां मारी गयी थी। उसमें मौके पर ही मौत हो गयी थी। उसके बाद जगदीशपुर एसडीपीओ राजीव चंद्र सिंह के नेतृत्व में टीम बना छापेमारी की जा रही है। हत्या को लेकर जेल में बंद अपराधियों सहित 13 के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी गयी थी। पुलिस द्वारा इस मामले में पूर्व में भी दो लाइनर सहित चार आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है।

हथियार व गांजा बरामदगी में आर्म्स और एनडीपीएस के तहत किया गया केस
शाहपुर नपं के पूर्व चेयरमैन की हत्या में गिरफ्तार शूटर एकौना गांव निवासी तिवारी यादव उर्फ मनीष कुमार का पहले से आपराधिक इतिहास रहा है। नारायणपुर थाने में उसके खिलाफ पहले से ही हत्या और हत्या के प्रयास के दो मामले दर्ज हैं। पुलिस के अनुसार इसी साल जून माह में चवरिया गांव के समीप दो दोस्तों को गोली मार दी गयी थी। उसमें एक की मौत हो गयी थी, जबकि दूसरा जख्मी हो गया था। उसी तरह इसी साल अगस्त में नारायणपुर बाजार में भी एक युवक को गोली मार दी गयी थी। दोनों मामलों में उसका नाम आया था और फरार चल रहा था। इधर, गिरफ्तार के समय उसके पास हथियार, गोली और गांजा की बरामदगी को लेकर पीरो थाने में उसके खिलाफ आर्म्स एक्ट और एनडीपीएस एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है।

- Advertisment -
khabreapki
खबरे आपकी
khabreapki-youtube
khabreapki-youtube

Most Popular