Monday, February 6, 2023
No menu items!
Homeअन्यचर्चित खबरआरा मंडल कारा का वीडियो वायरल, कक्षपाल से शोकॉज

आरा मंडल कारा का वीडियो वायरल, कक्षपाल से शोकॉज

Video of Ara Mandal Jail:खबरे आपकी

  • कक्षपाल पर बिना अनुमति अनाधिकृत व्यक्ति से वीडियो वायरल कराने का आरोप
  • कारा अधीक्षक द्वारा जेल आईजी और डीएम को भेजी गयी रिपोर्ट
  • सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में डंडा खेलते और खाना बनाते दिख रहे बंदी
  • अधीक्षक बोले: सरकारी कार्यक्रम का वीडियो गलत ढंग से किया गया वायरल

खबरे आपकी आरा: मोबाइल बरामदगी को लेकर सुर्खियों में आया आरा मंडल कारा एक बार फिर से चर्चा में आ गया है। इस बार जेल के अंदर एक वीडियो वायरल हो रहा है। उसमें बंदियों को पारंपरिक खेल का प्रदर्शन करते और खाना बनाते देखा जा रहा है।

वीडियो किसी न्यूज ग्रुप में चल रहा है। इधर, कारा अधीक्षक द्वारा इसे गंभीरता से लेते हुए कक्षपाल रवि रंजन कुमार से शोकॉज किया गया है। कक्षपाल पर साजिश के तहत बिना अनुमति सरकारी कार्यक्रम का वीडियो अनाधिकृत व्यक्ति को उपलब्ध कराने का आरोप लगाया गया है।

इसे लेकर कारा अधीक्षक संदीप कुमार द्वारा जेल आईजी और भोजपुर डीएम को रिपोर्ट भी भेजी गयी है। उसमें अफसरों को जेल की पूरी स्थिति से अवगत कराते हुए कक्षपाल रवि रंजन कुमार के खिलाफ कार्रवाई की अनुशंसा की गयी है।

बता दें कि शुक्रवार को एक यूट्यूब न्यूज ग्रुप की ओर से मंडल कारा का एक वीडियो वायरल करते हुए खबर चलायी गयी है। उसमें जेल में कार्यक्रम होता दिख रहा है। उस कार्यक्रम में कुछ बंदियों द्वारा कुछ लोगों को सम्मानित किया जा रहा है। ढोल नगाड़े बज रहे हैं और बंदियों द्वारा पारंपरिक खेल जैसे डंडा भांजने खेलते देखे जा रहे हैं। वायरल वीडियो में खाना बनते हुए भी दिखाया जा रहा है।

Video of Ara Mandal Jail: कारा अधीक्षक ने कहा: गत साल के गोवर्धन पूजा का वीडियो

आरा मंडल कारा का वीडियो वायरल, कक्षपाल से शोकॉज

कारा अधीक्षक संदीप कुमार ने बताया कि जेल में बंदियों में सुधार को लेकर कार्यक्रम होते रहते हैं। सभी कार्यक्रम ऑफिसियल होते हैं। उसका वीडियो और फोटोग्राफ सरकारी रेकॉर्ड में रखे जाते हैं। वायरल वीडियो पिछले साल के गोवर्धन पूजा का है। उसमें कुश्ती और खेल कूद प्रतियोगिता आयोजित की गयी थी। उसमें विजेता बंदी को मेडल और सर्टिफिकेट भी दिया गया था। बंदियों का उत्साहवर्द्धन भी किया गया था।

कहा कि जेल में लगातार कार्रवाई की जा रही है। कुछ को सस्पेंड भी किया गया है। निलंबित कक्षपालों के द्वारा वायरल कराया जा रहा है। जेल में खेल-कूद, पूजा-पाठ और संस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किए जाते रहते हैं।‌ जेल को बदनाम करने के लिए सरकारी रिकॉर्ड से छेड़ छाड़ कर वीडियो वायरल किया गया है।

सेल में डाले गये 30 बंदी, 36 का जेल ट्रांसफर करने की अनुशंसा

जेल की विधि-व्यवस्था को प्रभावित करने वाले बंदियों के खिलाफ कार्रवाई जारी है। इस कड़ी में तीस दागी बंदियों को सेल में डाल दिया गया है। इनमें अधिकतर वार्ड नंबर छह के बंदी हैं। इसके अलावा 36 अन्य बंदियों को दूसरे जेल में ट्रांसफर करने भी अनुशंसा की गयी है।

ऐसा माना जा रहा है कि मुख्यालय से आदेश मिलने के बाद इन बंदियों को भागलपुर जेल भेजा जाएगा। कारा अधीक्षक द्वारा बताया गया कि चिन्हित 30 बंदियों को सेल में डाला गया है। वहीं 36 बंदियों को दूसरे जेल में भेजने की अनुशंसा की गयी है। उन्होंने बताया कि जेल में लगातार तलाशी अभियान चलाया जा रहा है। जेल में किसी भी तरह की आपत्तिजनक गतिविधियां नहीं होने दी जाएगी।

बता दें कि ऑपरेशन क्लीन के दौरान मोबाइल बरामदगी के बाद से जेल में ताबड़तोड़ कार्रवाई की जा रही है। इसके तहत जहां कारा उपाधीक्षक समेत पांच कर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है। दूसरी ओर जेल में बैठ मोबाइल के जरिए भी आपराधिक षड़यंत्र करने वाले बंदियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करते हुए जेल ट्रांसफर भी किया जा रहा है।

MD WASIM
MD WASIM
Journalist
- Advertisment -
khabreapki
खबरे आपकी
khabreapki-youtube
khabreapki-youtube

Most Popular