Tuesday, November 29, 2022
No menu items!
Homeन्यूज़-रू-ब-रूसकड्ड़ी गैंग रेप कांड मामले में तीन गिरफ्तार, दो की तलाश

सकड्ड़ी गैंग रेप कांड मामले में तीन गिरफ्तार, दो की तलाश

Accused arrested in Sakadi gangrape: गिरफ्तार आरोपितों में चाचा-भतीजा भी शामिल

पुलिस ने घटना में प्रयुक्त ई-रिक्शा को किया जप्त

एएसपी हिमांशु ने शनिवार की शाम प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दी जानकारी

बिहार/आरा खबरे आपकी आरा-पटना मार्ग पर कोईलवर थाना क्षेत्र के सकड्ड़ी के समीप तीन दिन पूर्व 15 वर्षीया किशोरी से हुए गैंग रेप कांड का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। पुलिस ने इस मामले में ई- रिक्शा चालक समेत तीन आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। इस मामले में पुलिस दो अन्य आरोपियों की सरगर्मी से तलाश कर रही है। गिरफ्तार आरोपी तो में चाचा-भतीजा भी शामिल है। पुलिस ने घटना में प्रयुक्त ई-रिक्शा को भी जप्त कर लिया।

Accused arrested in Sakadi gangrape: प्रेमी से मिलने पहुंची युवती के साथ चाचा-भतीजा ने किया दुष्कर्म

एएसपी हिमांशु ने शनिवार की शाम प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान जानकारी दी। उन्होंने बताया किएसपी ने बताया इस मामले में कोईलवर के सकड्डी निवासी मेघनाथ राम का पुत्र राजाराम उर्फ सुखदेव राम, चांदी थाना के भदवर निवासी सुरेन्द्र राय का पुत्र मंतोष कुमार एवं रामकुमार यादव का पुत्र बिक्कू को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार मंतोष और बिक्कू रिश्ते में चाचा- भतीजा है। मंतोष ई रिक्शा चालक है। राजाराम सकड्ड़ी में एक मकान का केयरटेकर है। भोजपुर जिले के एक गांव निवासी 15 वर्षीया किशोरी 31 मार्च को अपने प्रेमी से मिलने के लिए चांदी थाना क्षेत्र के चांदी बाजार पहुंच गई।

इस दौरान वह अपने प्रेमी की तलाश में चांदी बाजार में घूम रही थी। तभी चालक मंतोष उसे प्रेमी से मिलवाने का आश्वासन देकर अपने ई-रिक्शा बैठा लिया। इसके बाद वे उसका भतीजा विक्कू भी साथ हो गया। दोनो लडकी को लेकर सकड्डी निवासी राजाराम के कमरे में ले गये। जहां तीनों ने लड़की के साथ गैंग रेप किया। उसके बाद वे लड़की को एक जगह छोड़ कर फरार हो गए।

Accused arrested in Sakadi gangrape

इस दौरान बाइक सवार दो अन्य युवक लड़की को बाइक पर बैठाकर पुनः गलत कार्य के नियत से ले जा रहे थे। इसी बीच लड़की द्वारा हो-हल्ला किया गया। तब बाइक सवार ने सकड्ड़ी के समीप उसे गिरा दिया। जिसके बाद कोइलवर एवं गीधा ओपी पुलिस लड़की को इलाज के लिए सदर अस्पताल ले आई। इसके बाद लड़की का मेडिकल जांच कराया गया। जांच के दौरान उसके साथ गलत होने का पुष्टि हुआ। गिरफ्तार आरोपियों पर धारा 376 (डी) एवं पास्को एक्ट 17 के तहत महिला थाना में प्राथमिकी दर्ज की गई जिसकी अनुसंधानकर्ता विदाउट इंचार्ज पूनम कुमारी हैं।

पुलिस के लिए काफी चुनौतीपूर्ण था केस का उद्भेदन

एएसपी ने बताया कि किशोरी के साथ गैंगरेप की घटना पूरी तरह ब्लाइंड थी। इसका उद्भेदन पुलिस के लिए चुनौतीपूर्ण था। इसको लेकर गीधा ओपी अध्यक्ष पूनम तथा चांदी थाना की सब इंस्पेक्टर प्रियंका, डीआईयू के दारोगा सुदेह कुमार ने काफी मेहनत किया। तब जाकर पर इस कांड का खुलासा हुआ। बताया जाता है कि गीधा ओपी इंचार्ज एवं चांदी थाना की महिला सब इंस्पेक्टर प्रियंका ने लड़की को काफी विश्वास में लिया। तब जाकर उसने अपनी आपबीती सुनाई। इतना ही नहीं उसने ई-रिक्शा का कलर और उसके सीट का कलर बताया। पुलिस ने चांदी बाजार के सभी ई-रिक्शा चालकों को चिन्हित किया। जिसके बाद मंतोष की गिरफ्तारी हुई, उसके बाद परत दर परत राज खुलने लगा। उन्होंने बताया कि आरोपितों की गिरफ्तारी में शामिल पुलिस टीम को पुरस्कृत किया जाएगा।

गिरफ्तारी के वक्त लड़कियों को ही बैठा कर ले जा रहा था मंतोष

बताया जाता है कि मंतोष की जिस वक्त गिरफ्तारी हुई। वह उस समय लड़कियों को ही बैठा कर ले जा रहा था। जिस वक्त पीड़िता को अपने ई-रिक्सा पर बैठा कर ले गया था। उस दौरान उसे बोला था कि उसे अपना भाई समझना। पुलिस सूत्रों की माने तो वह आदतन अपराध करता है पहले भी वह कर चुका होगा, लेकिन उसके विरुद्ध किसी ने शिकायत दर्ज नहीं कराई।

पीड़िता का कोर्ट में कलम बंद हुआ बयान

गैंगरेप की शिकार पीड़िता का पुलिस ने कोर्ट में 164 का बयान कलमबंद कराया। इसके बाद उसका मेडिकल जांच सदर अस्पताल में कराया गया। मेडिकल जांच के दौरान उसके साथ गलत कार्य होने की पुष्टि हुई है।

शादीशुदा है तीनों आरोपित

बताया जाता है की गिरफ्तार तीनों आरोपित शादीशुदा है। मंतोष की बीवी की मौत हो चुकी है। उसे एक बच्ची है। जबकि राजाराम की पत्नी छोड़ कर चली गई है।

- Advertisment -

Most Popular