Monday, March 4, 2024
No menu items!
HomeNewsभाई की शादी में गोली लगने से आरा कोर्ट के स्टेनोग्राफर की...

भाई की शादी में गोली लगने से आरा कोर्ट के स्टेनोग्राफर की मौत

Amarendra को जयमाल के दौरान की गयी हर्ष फायरिंग के दौरान लगी गोली

पटना के सिगौरी थाना क्षेत्र के मुरारचक गांव की बुधवार की रात की घटना

इलाज के दौरान पटना के निजी अस्पताल में शनिवार की रात तोड़ा दम

आरा: पटना जिले के सिंगौरी थाना क्षेत्र के मुरारचक गांव में भाई की शादी में हर्ष फायरिंग में कोर्ट के स्टेनोग्राफर की मौत हो गयी। इलाज के दौरान शनिवार की रात पटना के एक अस्पताल में उन्होंने दम तोड़ दिया। मृतक चांदी थाना क्षेत्र के सलेमपुर गांव निवासी जयमंगल सिंह का 28 वर्षीय पुत्र अमरेंद्र कुमार उर्फ पप्पू कुमार थे। वह आरा व्यवहार न्यायालय में स्टेनोग्राफर थे। घटना एक दिसंबर की रात की है।

बताया जा रहा है कि अमरेंद्र कुमार के बड़े भाई अप्पू कुमार की एक दिसंबर को शादी थी। बारात पटना के मुरारचक गांव गयी थी। वहां जयमाल के दौरान किसी के द्वारा हर्ष फायरिंग की जा रही थी। उसी दौरान अमरेंद्र के कनपट्टी के पास गोली लग गई थी। उसमें वह गंभीर रूप से जख्मी हो गये थे। उनका इलाज पटना के एक निजी अस्पताल में कराया जा रहा था। चार दिन चले इलाज के बाद शनिवार की रात उन्होंने दम तोड़ दिया। उसके बाद अस्पताल प्रशासन की सूचना पर स्थानीय पुलिस द्वारा शव का पोस्टमार्टम कराया गया।

Amarendra: अपनी शादी में छोटे भाई को खोने से अप्पू बेहाल

Amarendra Kumar
Amarendra Kumar

खबरे आपकी बारात में हर्ष फायरिंग ने फिर एक परिवार की खुशियां छीन ली। जिस घर में शादी और बहू आने की खुशी होनी थी।वहां रोना-धोना मचा था और घर में मातम पसरा हुआ था। वहीं दूल्हा बने बड़े भाई अप्पू का भी हाल बेहाल था। उसे छोटे भाई को खोने का गम सबसे अधिक था। एक तरफ उसे नयी नवेली दुल्हन मिली, तो दूसरी तरफ प्यारा छोटा भाई हमेशा के लिये बिछड़ गया था। उसे सबसे ज्यादा दुख इस बात का था कि उसी की शादी और उसकी आंखों के सामने ही छोटे भाई को गोली लग गयी। उसे विश्वास नहीं हो रहा था कि जो छोटा भाई उसकी शादी में नाच रहा था। वह दुनिया में नहीं रहा।

दो भाइयों में छोटे थे अमरेंद्र, मौत गम में बदली शादी की खुशी

अमरेंद्र कुमार उर्फ पप्पू की मौत की खबर मिलते ही परिवार में मातम पसर गया। बड़े भाई की शादी की खुशी गम में बदल गयी और घर में रोना-धोना मच गया। बताया जा रहा है कि अमरेंद्र कुमार दो भाइयों में छोटे थे। उनके परिवार में मां निर्मला देवी और बड़ा भाई पप्पू कुमार है। बड़े भाई भारतीय रेलवे में ट्रैफिक असिस्टेंट के पद पर कार्यरत हैं और वर्तमान में पश्चिम बंगाल के आसनसोल में पोस्टेड हैं। उनके पिता पेशे से किसान है। घटना के बाद मृतक के घर में हाहाकार मच गया है। मां सहित परिवार के सभी सदस्यों का रो-रोकर बुरा हाल था। इधर, स्टेनोग्राफर अमरेंद्र कुमार की मौत से आरा कोर्ट में भी शोक की लहर दौड़ गयी। उनके साथ काम करने वाले कर्मी और वकील उनकी मौत से काफी दुखी और मायूस थे।

- Advertisment -

Most Popular