Tuesday, March 2, 2021
No menu items!
Home News आरा : दहेज में तीन लाख रुपये नहीं मिले तो विवाहिता को...

आरा : दहेज में तीन लाख रुपये नहीं मिले तो विवाहिता को जहर देकर मार डाला

मुफस्सिल थाना के हसनपुरा गांव की शनिवार सुबह की घटना

आरा मुफस्सिल थाना क्षेत्र के हसनपुरा गांव में दहेज के लिए एक विवाहिता को जहर देकर मार डाला। उसने इलाज के दौरान एक प्राइवेट अस्पताल में दम तोड़ दिया। मायके के लोगों द्वारा ससुराल वालों पर जहर देकर मार डालने का आरोप लगाया जा रहा है।

मृत विवाहिता हसनपुरा गांव निवासी विकास कुमार की 21 वर्षीया पत्नी ममता देवी है। वहीं सूचना मिलते ही स्थानीय थाना पहुंची और शव का पोस्टमार्टम कराया गया। इस सिलसिले में ममता देवी के पति, ससुर, सास व ननद के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है।

पटना के मनेर थाना क्षेत्र के छितनावां गांव निवासी कामेश्वर प्रसाद के अनुसार उनकी बेटी ममता कुमारी की शादी इसी साल 30 जून को हसनपुरा गांव निवासी राजेश राय के पुत्र विकास कुमार के साथ हुई थी। तब उन्होंने उपहार के तौर पर एक बाइक व तीन लाख रुपये नगद दी थी।

बावजूद इसके शादी के कुछ दिन बाद से ही ससुराल वाले तीन लाख रुपये की मांग करने लगे। इसको को लेकर उनकी बेटी के साथ मारपीट व प्रताड़ित किया जाने लगा। इसकी शिकायत मिलने पर ।वह बेटी को विदा करा गांव लेकर चले गये थे। दो दिन पूर्व ही उसका पति राजेश कुमार ससुराल पहुंचा और भविष्य में अच्छे से रखने की बात कह बेटी ममता को विदा करा अपने घर हसनपुरा ले आया।

वहां आने के बाद उसने फिर से मारपीट शुरू कर दी। ममता के चचेरे भाई ने ससुराल वालों पर दहेज में तीन लाख रुपये मांगने, अक्सर मारपीट करने और जहर देकर हत्या करने का आरोप लगाया है। उसने बताया मारपीट कर जबरन मेरी बहन को जहर दे दिया है। जब उसकी हालत बिगड़ गई, तो उसे आरा के एक प्राइवेट अस्पताल में इलाज के लिए ले गए। जहां से उसे पटना रेफर कर दिया गया था।

पटना ले जाने की अभी तैयारी चल रही थी। इसी क्रम में उसने दम तोड़ दिया। इसके बाद ससुराल वाले शव को छोड़कर भाग गये। उसने बताया कि जब बहन जिंदा थी। तभी उसने किसी अन्य व्यक्ति के मोबाइल से घटना की सूचना दी। सूचना मिलने पर वे लोग अस्पताल पहुंचे। तब तक बहन की मृत्यु हो चुकी है।

शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद मामले की छानबीन में जुटी पुलिस

वहीं सूचना मिलते ही मुफस्सिल थाना इंचार्ज ज्योति कुमारी अस्पताल पहुंची और मृत विवाहिता के परिजनों से घटना की पूरी जानकारी ली। बताया जाता है कि ममता के पिता बाहर में प्राइवेट कंपनी में काम करते हैं। ममता अपने पांच बहनों व एक भाई में पांचवे स्थान पर थी। मृतका के परिवार में मां सुनैना देवी, चार बहन प्रियंका देवी, सुमन देवी, नीतू देवी, पुष्पा कुमारी व एक इकलौता भाई सुनील कुमार है। घटना के बाद मृतका के घर में कोहराम मच गया है।

देखें: – खबरे आपकी – फेसबुक पेज

आरा शहर के सभी दुकानों को प्रतिदिन खोलने का जिला प्रशासन ने लिया निर्णय

डिजिटल समारोह में हारमोनियम व कथक की प्रस्तुति ने समां बांधा

- Advertisment -
Slider
Slider

Most Popular