Tuesday, November 29, 2022
No menu items!
Homeअन्यनर्तकियों से छेड़छाड़ का विरोध करने पर दिया बड़ा अंजाम

नर्तकियों से छेड़छाड़ का विरोध करने पर दिया बड़ा अंजाम

Baban Singh murder case exposed: गड़हनी के रतनाढ़ हत्याकांड का खुलासा, चार दोस्तों ने घटना को दिया था अंजाम

19 जनवरी की रात रतनाढ़ नहर के पास गोली मार की गयी थी बुजुर्ग की हत्या

खबरे आपकी बिहार आरा। भोजपुर के गड़हनी थाना क्षेत्र के रतनाढ़ नहर के समीप मछहरा टोला निवासी अधेड़ बबन सिंह की हत्या का पुलिस ने खुलासा कर दिया। इस मामले में पुलिस ने एक आरोपित को गिरफ्तार किया है। वह रतनाढ़ गांव निवासी राकेश महतो उर्फ आरजू विराट है। उसके पास से 7.65 का एक खोखा और ग्लब्स बरामद किया गया है। उसने पुलिस की पूछताछ में हत्या में शामिल होने की बात भी स्वीकार कर ली है।

नाच प्रोग्राम के दौरान स्टेज पर चढ़ बदमाशों ने की थी छेड़छाड़

उसने बताया कि नर्तकियों से छेड़छाड़ का विरोध करने पर अधेड़ की हत्या की गयी थी। हत्या में शामिल अपने तीन दोस्तों का नाम भी बताया है। उनमें चरपोखरी थाना क्षेत्र के सेमरांव गांव निवासी सोनू यादव और छपरा टोला निवासी रवि यादव एवं पंकज कुमार शामिल हैं। सोनू यादव ने अधेड़ को गोली मारी थी। प्रभारी एसपी स्वपना मेश्राम की ओर से जारी प्रेस बयान में इस बात की जानकारी दी गयी है।

Baban Singh murder case exposed:रतनाढ़ नहर के पास गोली मार की गयी थी बुजुर्ग की हत्या

Baban Singh murder case

बताया गया कि 19 जनवरी की शाम गड़हनी थाना क्षेत्र के रतनाढ़ नहर के पास 59 वर्षीय बबन सिंह की गोली मार हत्या की गयी थी। उसे लेकर तीन अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गयी थी। हत्या की घटना के बाद अपराधियों की पहचान और गिरफ्तारी के लिये एएसपी हिमांशु के नेतृत्व में स्पेशल टीम का गठन किया गया था।

स्पेशल टीम ने तकनीकी अनुसंधान और सर्विलांस के जरिये राकेश महतो उर्फ आरजू विराट को रविवार की रात रतनाढ़ गांव से गिरफ्तार किया गया। पूछताछ में उसने पूरी घटना बता दी। उसकी निशानदेही पर हत्या में शामिल पंकज कुमार, सोनू यादव और रवि यादव की गिरफ्तारी के लिये छापेमारी की जा रही है। टीम में एएसपी के अलावे गड़हनी थानाध्यक्ष संतोष कुमार रजक, डीआईयू के दारोगा सुदेश कुमार और सिपाही मिथिलेश कुमार शामिल थे।

बिना निमंत्रण के नाच प्रोग्राम में पहुंचे चारोंदमाश और कर डाला बड़ा कांड

हत्या में गिरफ्तार राकेश महतो उर्फ आरजू विराट से पूछताछ के बाद एसपी द्वारा प्रेस बयान में कहा गया है कि मच्छारा टोला निवासी बबन सिंह के पिता का इसी साल आठ जनवरी को श्राद्धकर्म था। उसमें नाच का प्रोग्राम चल रहा था। राकेश महतो उर्फ आरजू विराट, पंकज कुमार रवि यादव और सोनू यादव भी बिना निमंत्रण के नाच देखने पहुंच गये। उस दौरान पंकज और सोनू स्टेज पर चढ़ गये और नर्तकियों के साथ छेड़छाड़ करने लगे। इसे देख बबन यादव द्वारा विरोध किया गया और दोनों को लप्पड़-थप्पड़ कर भगा दिया गया। इससे चारों काफी गुस्से में आ गये और बदला लेने की ठान ली।

अगिआंव बाजार से कर रहे थे पीछा कर रतनाढ़ के पास सूनसान देख मार दी गोली

नाच प्रोग्राम में छेड़छाड़ का विरोध और लप्पड़-थप्पड़ के प्रतिशोध में चारों ने अधेड़ की हत्या करने की ठान ली। उसके बाद चारों ने प्लानिंग की अधेड़ के पीछे पड़ गये। इसके तहत 19 जनवरी 22 को शाम में चारों दोस्त अगिआंव बाजार से ही अधेड़ का पीछा करते आ रहे थे। चारों हत्या के लिये किसी सुनसान जगह के फिराक में थे। इस दौरान रतनाढ-बेरथ रोड स्थित नहर के रोड पर सुनसान देख चारों ने अधेड़ को घेर लिया। उसके बाद सोनू यादव ने अधेड़ को गोली मार दी। घटना को अंजाम देने के बाद पंकज और सोनू काले रंग की अपाची से बेरथ की ओर भाग गये। जबकि राकेश और रवि आरा चले आये।

- Advertisment -

Most Popular