Saturday, March 6, 2021
No menu items!
Home अन्य चर्चित खबर जगदीशपुर उपद्रव कांड:- पूजा समितियों और चौकीदार पर गाज, थानाध्यक्ष से भी...

जगदीशपुर उपद्रव कांड:- पूजा समितियों और चौकीदार पर गाज, थानाध्यक्ष से भी शोकॉज

Bairahi Jagdishpur-युवक को गोली मारने में पांच लोगों पर प्राथमिकी, मुख्य आरोपित गिरफ्तार

बिना लाइसेंस मूर्ति रखने में पूजा समिति के पांच सदस्यों पर केस

जगदीशपुर के बैरही गांव में शनिवार को अश्लील गाने के विवाद में मचा था उपद्रव

खबरे आपकी आरा। Bairahi Jagdishpur भोजपुर जिले के जगदीशपुर थाना क्षेत्र के बैरही गांव उपद्रव कांड में पुलिस व प्रशासन का एक्शन शुरू हो गया है। इस मामले में कार्रवाई भी तेज हो गयी है। लापरवाही के मामले में थानाध्यक्ष से शोकॉज किया गया है। स्थानीय चौकीदार के खिलाफ भी कार्रवाई की जा रही है। इधर, बिना लाइसेंस के प्रतिमा स्थापित करने और विसर्जन के मामले में पूजा समितियों पर केस किया गया है।

दूसरी ओर अश्लील गाना बजाने का विरोध करने पर युवक को गोली मारे जाने में भी पांच लोगों पर प्राथमिकी दर्ज की गयी है। पुलिस ने इस मामले में मुख्य आरोपित को गिरफ्तार भी कर लिया गया है। वह बैरही गांव का मोनू कुमार है। उस पर युवक को गोली मारने का आरोप है।

एसपी हर किशोर राय ने बताया कि बिना लाइसेंस मूर्ति स्थापित करने में दोनों पूजा समितियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा रही है। इस मामले में लापरवाही बरतने में Bairahi Jagdishpur स्थानीय चौकीदार के खिलाफ भी विभागीय कार्रवाई की जा रही है। वहीं जगदीशपुर एसडीओ द्वारा थानेदार से भी इस मामले में शोकॉज किया गया है। उन पर भी विधि-व्यवस्था के प्रति लापरवाही व वरीय अफसरों के आदेश का अवहेलना का आरोप लगा है।

बता दें कि शनिवार की दोपहर बैरहीं Bairahi Jagdishpur गांव में मूर्ति विसर्जन के दौरान अश्लील गाना बजाने को लेकर दो पक्षों में भिड़ंत हो गयी थी। तब विकास कुमार नामक युवक को गोली मार दी गयी थी। उसके बाथ जमकर बवाल मचा था। चार वाहनों, डीजे और जेनरेटर को फूंक दिया गया था। एक पिकअप वैन भी क्षतिग्रस्त कर दी गयी थी।

विवाद के बाद सोनू ने की थी हवाई फायरिंग और मोनू ने मारी थी गोली

बैरही गांव में अश्लील गाना बजाने का विरोध करने पर युवक को गोली मारे जाने के मामले में प्राथमिकी दर्ज करा दी गयी है। जख्मी युवक की मां सीतामनी देवी के बयान पर गांव के जर्नादन सिंह के पुत्र मोनू कुमार और सन्नी कुमार सहित पांच लोगों को आरोपित किया गया है। कहा गया है कि विवाद के दौरान सन्नी कुमार ने हवाई फायरिंग की थी। जबकि मोनू कुमार ने गोली मार दी थी। घटना के बाद इंस्पेक्टर सह थानाध्यक्ष शंभू भगत ने छापेमारी कर मोनू कुमार को गिरफ्तार कर लिया है। इधर, गांव में पुलिस पदाधिकारी के साथ जवान कैम्प कर रहे हैं।

पूजा कमेटी के सदस्यों पर पुलिस ने दर्ज करायी एफआईआर

पढ़े :- बक्सर के तीन सगी बहनों का फेसबुकिया प्यार बना वेलेंटाइन डे सनसनी

आरा। विर्सजन के दौरान बवाल के बाद पुलिस फूल एक्शन में आ गयी है। बिना लाइसेंस मुर्ति स्थापित करने में थाना इंचार्ज के बयान पर दोनों पूजा समितियों के पांच सदस्यों के खिलाफ केस किया गया है। उसमें बिना लाईसेंस मूति स्थापित करने, विर्सजन में डीजे तेज साउड में गाना बजाना, नियमों का पालन नहीं करना और माहौल बिगड़ने सहित कई आरोप लगाये गये हैं। पुलिस अब आरोपित को गिरफ्तार के लिए छापेमारी कर रही है।

बड़ा सवाल: बिना लाइसेंस पूजा समितियों ने कैसे रख दी मूर्ति

आरा। बैरही उपद्रव कांड के बाद स्थानीय प्रशासन पर अंगूली उठने लगी है। लोग इस घटना को स्थानीय प्रशासन की चूक बता रहे हैं। हालांकि अब इस मामले में प्रशासनिक द्वारा कार्रवाई शुरू कर दी गयी है। लेकिन सबसे बड़ा सवाल यह कि बिना लाइसेंस गांव में दो पूजा समितियों द्वारा मूर्ति कैसे रख दी गयी। इतना ही नहीं विसर्जन में भी प्रशासन के नियमों की धज्जी उड़ा दी गयी। आखिर यह सब कैसे हो गया? स्थानीय पुलिस और उसका तंत्र कैसे फेल हो गया?

पढ़े :- नाबालिग को प्रेमजाल शादी का प्रलोभन देकर भगाने वाला दो बच्चे का बाप गिरफ्तार

बताया जा रहा है कि बैरही गांव में प्रशासन द्वारा मूर्ति स्थापित करने का लाइसेंस नहीं दिया गया था। इसके बावजूद प्रतिमा रखी गयी। प्रशासन के आदेश के विपरीत 20 फरवरी को मूर्ति विसर्जन की गयी। तेज आवाज में डीजे भी बजाये गये। इन सबके बावजूद पुलिस को इनकी भनक नहीं लग सकी। वह भी तब जब स्थानीय चौकीदार भी उसी गांव का है। लोग कहते हैं कि चौकीदार के मोहल्ले के बगल में ही यह सब हुआ। फिर भी चौकीदार द्वारा थाने को सूचना नहीं दी गयी। वहीं थाने द्वारा भी गांव में गश्त नहीं लगायी जा सकी। उसका नतीजा आज सामने है।

- Advertisment -
Slider
Slider

Most Popular