Saturday, May 15, 2021
No menu items!
HomeNewsबकरी डबल मर्डर केस : बुजुर्ग एवं विक्षिप्त को जलाकर हत्या करने...

बकरी डबल मर्डर केस : बुजुर्ग एवं विक्षिप्त को जलाकर हत्या करने में प्राथमिकी दर्ज

Bakari Double Murder Case-चौकीदार के बयान पर केस कर छानबीन में जुटी पुलिस

बुजुर्ग को जलाने में विक्षिप्त को किया गया आरोपित

विक्षिप्त की हत्या में भीड़ पर की गयी प्राथमिकी

खबरे आपकी बिहार/आरा: Bakari Double Murder Case भोजपुर के उदवंतनगर थाना क्षेत्र के बकरी गांव में बुजुर्ग और विक्षिप्त की जलाकर हत्या करने में प्राथमिकी दर्ज कर ली गयी है। दोनों मृतकों के परिजनों द्वारा केस करने से इनकार किये जाने के बाद चौकीदार के बयान पर मामले दर्ज किये गये हैं। दोनों की हत्या को लेकर अलग-अलग दो प्राथमिकी दर्ज की गयी है। स्थानीय पुलिस के अनुसार बकरी गांव निवासी बुजुर्ग डिग्री चौधरी को जलाने में ज्ञानचक गांव निवासी मुटुर यादव उर्फ पगला को आरोपित किया गया है। वहीं मुटुर उर्फ पगला की हत्या में भीड़ व अज्ञात लोगों पर केस किया गया है। पुलिस दोनों मामलों की छानबीन कर रही है। इधर, पुलिस विक्षिप्त की हत्या के मामले में भीड़ में शामिल लोगों की पहचान की जा रही है। हालांकि अबतक इस मामले में किसी की पहचान और धरपकड़ की सूचना नहीं है। बता दें कि सोमवार की दोपहर बकरी गांव के बधार में आम और गेहूं की रखवाली कर रहे डिग्री चौधरी नामक एक बुजुर्ग को एक सनकी द्वारा जिंदा जला दिया गया था। इसके आरोप में भीड़ द्वारा ज्ञानचक गांव के एक विक्षिप्त मुटुर यादव उर्फ पगला की हाथ-पैर बांध कर जमकर पिटाई की गयी। अधमरा हो जाने के बाद उसे जला दिया गया था। 

पढ़े :- डबल मर्डर सनसनी – बुजुर्ग को जिंदा जलाने वाले आरोपित को भीड़ ने मार डाला, शव भी जलाया

सोमवार की रात दोनों शव का हुआ पोस्टमार्टम

Bakari Double Murder Case बकरी गांव में सोमवार को जलाकर मारे गये दोनों लोगों के शवों का सोमवार की रात पोस्टमार्टम किया गया। उसके बाद दोनों शव उनके परिजनों को सौंप दिये गये। सूत्रों अनुसार पहले उदवंतनगर के बकरी गांव निवासी बुजुर्ग डिग्री चौधरी के शव को परिजन गांव ले गए। उसके बाद उनकी हत्या के आरोपित ज्ञानचक गांव निवासी मुटूर यादव उर्फ पगला के परिजनों को पुलिस द्वारा सूचना दी गई। तब उसके परिजन अस्पताल पहुंचे और शव ले गये। इस दौरान थाना इंचार्ज ज्योति कुमारी दल बल के साथ मुस्तैद रही।

भोजपुर में पहले भी टूटता रहा भीड़तंत्र का कहर, ली जाती रही जान

बिहिया में तीन साल पहलले किया गया था महिला डांसर की चीरहरण

भोजपुर जिले में भीड़ तंत्र का कहर पहले भी टूटता रहा है। भीड़ का कानून अपने हाथ में लेने की घटना नहीं है। पहले भी भीड़ द्वारा ऑन द स्पॉट फैसला सुनाया जाता रहा है। तीन साल पहले तो एक छात्र की हत्या के बाद बिहिया में महिला डांसर का सरेशाम चीरहरण कर दिया दिया गया था। उसे निर्वस्त्र कर पूरे बाजार में दौड़ा कर पिटाई की गयी थी। तब काफी बवाल मचा था। वह घटना 21 अगस्त 2018 की है। बिहिया में एक छात्र की हत्या कर शव को रेलवे ट्रैक पर फेंके जाने से आक्रोशित लोगों ने जमकर उपद्रव मचाया था। नगर के रेड लाईट एरिया इलाके की दुकानों में जमकर लूटपाट, तोडफोड़ और आगजनी की गई थी। तब भीड़ द्वारा एक महिला डांसर को निर्वस्‍त्र कर बाजार में घुमाया गया था। स्थिति पर नियंत्रण करने के लिए पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी थी।

Bakari Double Murder Case
Bakari Double Murder Case

चोरी के आरोप में पहले की जा चुकी है तीन लोगों की हत्या

इससे पहले 5 मई 2018 को चांदी थाना क्षेत्र के रूपचकिया गांव में एक किराना दुकानदार के घर में चोरी करने के आरोप में एक संदिग्ध युवक को भीड़ ने धर दबोचा था। उसके बाद लाठी-डंडे से बेरहमी पूर्वक पीटकर उसकी हत्या कर दी गई। जबकि उसका दूसरा साथी भाग निकला। घटना रात करीब बारह बजे की थी। उसे सूटकेस चुराकर ले जाने का आरोप में पकड़ा गया था। वहीं 19 जून 2019 को भी भीड़ द्वारा कानून हाथ में लिया गया था। तब चोरी के आरोप में पीट-पीटकर एक युवक को मार डाला गया था। घटना शहर के गौसगंज की थी। तब एक घर में चोरी करने के प्रयास से घुसे युवक को पकड़ कर पिटाई कर दी गयी थी।

पढ़े :- रनी नहर से शुरू हुआ बवाल पवना बाजार तक पहुंचा और होने लगी दौड़ा-दौड़ी

- Advertisment -
Slider
Slider

Most Popular