Sunday, June 23, 2024
No menu items!
HomeNewsबिहारमुख्यमंत्री के इस्तीफे की मांग: बिहार विधानमंडल के दोनों सदनों में प्रदर्शन

मुख्यमंत्री के इस्तीफे की मांग: बिहार विधानमंडल के दोनों सदनों में प्रदर्शन

Demand for resignation of Bihar CM: विपक्षी सदस्यों ने बुधवार को विधानसभा व विधानपरिषद में वेल में आकर नारेबाजी की और उग्र प्रदर्शन किया। टेबल पटके और कुर्सियां तक उठा लीं। इसके बाद सत्ता पक्ष भी उग्र हो गया और दोनों पक्षों में टकराव की स्थिति उत्पन्न हो गयी।

  • हाइलाइट :-
    • भाजपा ने बुधवार को सदन के अंदर और बाहर किया हंगामा एवं नारेबाजी
    • मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव की इस्तीफे की मांग

Demand for resignation of Bihar CM पटना: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के मंगलवार को विधानमंडल के दोनों सदनों में दिये गये वक्तव्य को लेकर भाजपा ने बुधवार को सदन के अंदर और बाहर हंगामा किया। इसके चलते दोनों सदनों की कार्यवाही बाधित रही। विपक्षी सदस्यों ने बुधवार को विधानसभा व विधानपरिषद में वेल में आकर नारेबाजी की और उग्र प्रदर्शन किया। टेबल पटके और कुर्सियां तक उठा लीं। इसके बाद सत्ता पक्ष भी उग्र हो गया और दोनों पक्षों में टकराव की स्थिति उत्पन्न हो गयी। विपक्षी हंगामे के कारण दोनों पालियों को मिलाकर विधानसभा की कार्रवाई 42 मिनट तो विधानपरिषद की महज 27 मिनट चली। इसके पहले विधानसभा के पोर्टिको में भाजपा विधायकों ने बैनर-पोस्टर लेकर प्रदर्शन किया।

सुबह विधानसभा की कार्यवाही जैसे ही शुरू हुई, भाजपा सदस्य मुख्यमंत्री के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। कुछ ही देर के बाद मुख्यमंत्री सदन के अंदर आए और अपनी सीट पर बैठ गए। तत्काल खड़े होकर विपक्षी सदस्यों से अपनी सीट पर जाने की अपील भी की। लेकिन, विपक्षी सदस्य उग्र बने रहे। विधानसभा अध्यक्ष अवध बिहारी चौधरी की अपील का भी उनके ऊपर कोई प्रभाव नहीं पड़ा।

विपक्ष के नेता विजय कुमार सिन्हा खुद वेल में आ गए। इसके बाद भाजपा विधायक टेबल पर मुक्का मारने लगे। एक विधायक ने कुर्सी उठा ली। इससे विधानसभा अध्यक्ष बेहद नाराज हो गए। उन्होंने ऐसा आचरण करने वाले विधायकों को बाहर करने की चेतावनी भी दी। उग्र प्रदर्शन से अध्यक्ष ने नाराजगी प्रकट करते हुए कहा कि विपक्ष को मुख्यमंत्री से इस्तीफा मांगने का अधिकार नहीं है।

संसदीय कार्य मंत्री विजय कुमार चौधरी ने कहा कि कल तक तो भाजपा सदस्य विरोध नहीं कर रहे थे,आज दिल्ली से दबाव पड़ा तो विरोध पर उतर आए? वहीं दूसरी पाली में विस दूसरी शुरू होते ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव की इस्तीफे की मांग पर विपक्षी सदस्य वेल में आकर नारेबाजी करने लगे। वहीं विधान परिषद की कार्यवाही शुरू होते ही विपक्षी सदस्यों ने हंगामा शुरू कर दिया। सभापति देवेश चंद्र ठाकुर की अपील के बाद भी विपक्षी सदस्य नहीं माने और वेल में जमकर नारेबाजी की। भाजपा सदस्यों ने कहा कि कल जो सदन में घटित हुआ, वह निंदनीय है।

लेशी सिंह ने कहा महिला सम्मान के लिए नीतीश कुमार का जीवन समर्पित

बिहार सरकार की खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री लेशी सिंह ने कहा कि नारी सशक्तीकरण के प्रणेता मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का महिलाओं के सम्मान व उत्थान के लिए जीवन समर्पित है। महिलाओं को आंगन की दहलीज से निकालकर पंचायती राज व्यवस्था में आधी हिस्सेदारी दिलाकर न केवल उनका सम्मान बढ़ाया, बल्कि महिला उत्थान के अनेक ऐतिहासिक कदम उठाकर उनके जीवन में नया रंग भरने का अवसर प्रदान किया। उनकी महिलाओं में लोकप्रियता से घबराकर भाजपा उन्हें नीचा दिखाने तथा अपमानित करने का साजिश रच रही है। इस साजिश को बिहार की महिलाएं कभी सफल नहीं होने देंगी। मंत्री ने कहा कि आज विधानसभा में भाजपा द्वारा मुख्यमंत्री को अपमानित करने का प्रयास किया गया।

बिहार विधानसभा अध्यक्ष व नेता विपक्ष के बीच तीखी तकरार

विधानसभा में अध्यक्ष अवध बिहारी चौधरी व नेता प्रतिपक्ष विजय सिन्हा के बीच बहस हो गई। अध्यक्ष ने कहा कि हंगामा करते रहेंगे तो सदन से बाहर कर देंगे। वहीं विजय सिन्हा ने आरोप लगाया कि अध्यक्ष सत्तापक्ष प्रवक्ता की तरह काम कर रहे हैं।

महिला मुद्दे पर राजनीति कर रही भाजपा अशोक चौधरी

भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी ने सीएम के बयान का बचाव किया है। कहा कि नीतीश कुमार ने जो बयान महिलाओं पर दिया था उस पर उन्होंने माफी मांग ली है। बयान को वापस ले लिया, लेकिन बीजेपी इस मुद्दे पर राजनीति कर रही है।

क्या प्रधानमंत्री ने माफी मांगी थी? शिवानंद तिवारी

राजद के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी ने भाजपा पर करारा प्रहार करते हुए कहा है कि क्या प्रधानमंत्री ने सोनिया गांधी और शशि थरूर की दोस्त के लिए इस्तेमाल की गई अपनी गाली-गलौज की भाषा के लिए माफी मांगी थी।

सीएम का बयान माफी के लायक नहीं विजय कुमार सिन्हा

नेता प्रतिपक्ष विजय कुमार सिन्हा ने बुधवार को कहा कि लोकतंत्र के मंदिर में मुख्यमंत्री का बयान अलोकतांत्रिक व असामान्य है। उनका बयान माफी के लायक नहीं है। सीएम के बयान ने महिला सदस्यों सहित पूरे बिहार को शर्मसार कर दिया है। नेता प्रतिपक्ष ने तेजस्वी यादव और राजद के ट्वीट की भी भर्त्सना की और कहा कि राजद के ट्वीट ने अश्लीलता की सीमा को पार कर दिया है। इनके ट्वीट को पढ़कर मां-बहन शर्मसार हो जाएंगी। तेजस्वी यादव को बिहार की जनता से माफी मांगनी चाहिये।

- Advertisment -
Ara Crime - CCTV of Firing - आरा में फायरिंग का सीसीटीवी वीडियो
Ara Crime - CCTV of Firing - आरा में फायरिंग का सीसीटीवी वीडियो
Ara Crime - CCTV of Firing - आरा में फायरिंग का सीसीटीवी वीडियो
Ara Crime - CCTV of Firing - आरा में फायरिंग का सीसीटीवी वीडियो

Most Popular