Saturday, December 3, 2022
No menu items!
Homeअन्यचर्चित खबरभोजपुर: बालू घाट गोलीबारी में पांडेय गिरोह के शागिर्द सहित दो गिरफ्तार

भोजपुर: बालू घाट गोलीबारी में पांडेय गिरोह के शागिर्द सहित दो गिरफ्तार

Rajapur Mahuli sand ghat: गुरुवार की दोपहर महुली घाट पर की गयी थी गोलीबारी

  • कोईलवर थाना के राजापुर महुली बालू घाट से पुलिस ने दोनों को पकड़ा
  • दो गोली, एक खोखा, एक चार पहिया वाहन, दो बाइक और तीन मोबाइल बरामद

खबरे आपकी/आरा: भोजपुर के कोईलवर थाना क्षेत्र के राजापुर महुली बालू घाट के पास वर्चस्व को लेकर फिर गोलीबारी हुई। कुख्यात बालू माफिया सत्येंद्र पांडेय के गिरोह द्वारा दहशत पैदा करने के लिए फायरिंग की घटना को अंजाम दिया गया। हालांकि फायरिंग की घटना में किसी के जख्मी होने की सूचना नहीं है। उस मामले में पुलिस द्वारा त्वरित कार्रवाई करते हुए पांडेय गिरोह के एक शागिर्द सहित दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। उनमें कोईलवर के राजापुर गांव निवासी राहिल कुमार गुप्ता उर्फ विक्की और पटना के पालीगंज थाना क्षेत्र के मधवा गांव निवासी नीतीश कुमार हैं। मौके से 0.315 बोर की दो गोली, पिस्टल का एक खोखा, एक चारपहिया वाहन, दो बाइक और तीन मोबाइल भी जब्त किया गया है।

Rajapur Mahuli sand ghat:कोईलवर थाना राजापुर के सामने महुली घाट के पास हुई थी फायरिंग

एसपी संजय कुमार सिंह ने शनिवार को प्रेस कांफ्रेंस में यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि बीस अक्टूबर को कोईलवर थाने के राजापुर के सामने महुली घाट के पास फायरिंग होने की सूचना मिली। उस आधार पर एएसपी हिमांशु के नेतृत्व में टीम बना कर छापेमारी की गयी। उस दौरान हथियार तो नहीं बरामद हो सका, लेकिन खोखा, गोली, बाइक और एक चारपहिया वाहन बरामद की गयी। मौके से दोनों लोगों को गिरफ्तार भी किया गया। उसमें एक का संबंध सत्येंद्र पांडेय गिरोह से है। जब्त बाइक और चारपहिया वाहन की जांच की जा रही है। हथियार के बारे में जानकारी ली जा रही है। उन्होंने बताया कि छानबीन के दौरान वर्चस्व को लेकर फायरिंग किये जाने की बात सामने आ रही है। टीम में कोईलवर थाने के अपर थानाध्यक्ष मनीष कुमार, दारोगा विपुल कुमार, डीआईयू के दारोगा संजय कुमार सिन्हा और अवधेश कुमार शामिल थे।

खेत से बालू निकाले जाने का विरोध करने पर दहशत पैदा करने को की फायरिंग
बताया जा रहा है कि जेल में बंद कुख्यात माफिया सत्येंद्र पांडेय के पुत्र अंकित पांडेय द्वारा अपने साथियों के साथ राजापुर गांव के दो किसानों के खेत से बालू काटा जा रहा था। उस पर किसानों के घर के सदस्यों द्वारा विरोध किया गया था। उसके बाद दहशत पैदा करने के लिए अंकित पांडेय और उसके साथियों द्वारा राजापुर महुली घाट के पास फायरिंग की गयी थी। उसे लेकर कोईलवर थाने में पुलिस की ओर से नामजद और 10-15 अज्ञात के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी है। उसमें कोईलवर थाने के पचरूखिया गांव निवासी सत्येंद्र पांडेय के पुत्र अंकित पांडेय और राजापुर गांव के रहने वाले शुभम सिंह को नामजद आरोपित किया गया है।

पिता के जेल जाने के बाद अंकित संचालित कर रहा गिरोह
पचरूखिया गांव के कुख्यात बालू माफिया सत्येंद्र पांडेय का एक बकायदा गिरोह है। उसका मुख्य धंधा बालू घाटों पर अवैध कब्जा और वर्चस्व को लेकर फायरिंग करना है। सत्येंद्र पांडेय का आपराधिक इतिहास काफी लंबा है। बालू तस्करी के अलावे उस पर हत्या, रंगदारी और पुलिस पर फायरिंग सहित अन्य मामले हैं। इसी साल जनवरी माह में बालू घाट पर दोहरे हत्याकांड में भी उसके गैंग का नाम आया था। फिलहाल वह जेल में बंद है। पुलिस के अनुसार सत्येंद्र पांडेय के जेल जाने के बाद उसका पुत्र अंकित पांडेय गिरोह का संचालन कर रहा है। अभी तीस सितंबर को ही उसके ठिकानों से हथियार और गोलियों की खेप बरामद की गयी थी। हालांकि वह पुलिस के हाथ नहीं लगा था। उसके बाद गुरुवार की सुबह महुई बालू घाट पर फायरिंग में भी उसका नाम आ गया।

- Advertisment -
Khabre Apki
Mantu Sonar Murder
Khabre Apki
Mantu Sonar Murder

Most Popular