Wednesday, November 30, 2022
No menu items!
HomeNewsबिहारबाढ़ पीड़ितों का दर्द: बदरंग जीवन के खाली जायजे लियाता मिलत कुछुओ...

बाढ़ पीड़ितों का दर्द: बदरंग जीवन के खाली जायजे लियाता मिलत कुछुओ नइखे

Shahpur Flood Victims Pain- बाढ़ का पानी अब गांव के भीतर घरों में घुस गया

विस्थापन की जिंदगी,तटबंध पर छोटे-छोटे बच्चों के साथ शरण लिए हुए हैं बाढ़ पीड़ित

खबरे आपकी आरा/शाहपुर: बाढ़ के बेरंग पानी ने अब लोगो के जीनव को बदरंग कर दिया है। गंगा के जलस्तर में लगातार हो रही वृद्धि के कारण बाढ़ का पानी अब गांव के भीतर घरों में घुस गया। आलीशान मकानों के भीतर पहुंचे बाढ़ के पानी लोगो का जीनव दूभर कर दिया लोग अब मकानों के छतों पर चिमकी तान कर रहने को विवश हो गए है। वही तेज रफ्तार पानी के धार में अंचल क्षेत्र के दर्जनों गांवों के सैकड़ों झोपड़ीनुमा गरीबो के आशियानों को बहा ले गई या फिर उन्हें ध्वस्त कर दिया।

इन झोपड़ियों मे रहने वाले परिवार विस्थापन की जिंदगी जीने के लिए तटबंध पर आश्रय लेने पहुंचे हुए हैं। आश्रय स्थल पर भी उन्हें आसमानी आफत रूपी बारिश का सामना करना पड़ रहा है। साथ ही साथ ईंधन की कमी के कारण खाना पकाने में भी लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा। बाढ़ प्रभावित लोगों की माने तो और पशुओं के चारे भी समाप्त होने के कगार पर हैं और घरों में रखे खाद्यान्न भी। ऐसे में यदि सरकार द्वारा लंगर नहीं चढ़ाया जाता है तो लोग भुखमरी के कगार पर पहुंच जाएंगे।

पढ़े-छापेमारी करने गई भोजपुर पुलिस टीम पर बालू माफियाओं का हमला,आधा दर्जन गाड़िया क्षतिग्रस्त

Shahpur Bhojpur Flood Victims Pain बक्सर कोईलवर सुरक्षा तटबंध पर सैकड़ों की संख्या में दर्जन भर गांवों के लोग जगह-जगह अपने छोटे-छोटे बच्चों और बुजुर्गों के साथ शरण लिए हुए हैं। लेकिन घर बार छोड़कर पलायन कर चुके इन लोगों को बारिश के दौरान भारी मुसीबतों का सामना करना पड़ता है। इधर लोग प्रशासन की ओर टकटकी लगाए हुए हैं कि कब बाढ़ क्षेत्र घोषित हो और उनके लिए इस विपत्ति भरी घड़ी में राहत सामग्री उन तक पहुंच सके।

Shahpur Bhojpur Flood Victims Pain

करीब 50 गांवों के लोगों को अब नाव ही एकमात्र सहारा है। लेकिन नाव की कमी के कारण लोग प्रखंड मुख्यालय तक आने जाने में असमर्थ दिख रहे हैं। अंचल क्षेत्र के प्राय सभी गांव के सड़कों पर बाढ़ का पानी भर चुका है और आवागमन बाधित हो चुका है। अधिकारियों द्वारा गांव-गांव घूमकर बाढ़ का जायजा लिया जा रहा है। लेकिन लोगों को यह जायजा लेना भी आक्रोशित कर रहा है। क्योंकि पिछले कई दिनों से जायजा लेने का दौर जारी है। परंतु राहत का एक भी कार्य अब तक नहीं हो सका है।

पढ़े-अब डरावना लगने लगा है बाढ़ का पानी दियारांचल के कई गांवों में घुसा,मिट्टी कटाव से दहशत

Shahpur Bhojpur Flood Victims Pain तटबंध पर आश्रय लिए लोगों ने तंज कसते हुए कहा कि खाली जायजे लियाता मिलत कुछुओ नइखे। अंचलाधिकारी पंकज कुमार झा ने बताया कि अंचल के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में 15 सरकारी नावों का परिचालन शुरू करा दिया गया है। साथ ही 600 पॉलिथीन शीट तटबंध पर आश्रय लिए लोगो के बीच वितरण किया गया है। वही बांध पर ही प्रभावित लोगों के पेयजल के लिए 9 चापाकल का गड़ाव शुरू हो चुका है और 9 शौचालय भी बनवाया जा रहा है। जबकि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में प्रभावित लोगों तक चिकित्सकीय सहायता उपलब्ध कराने के लिए चिकित्सको की टीम बनाई गई है।

पढ़े-डस्टबीन खरीद मनमानी- जिलाधिकारी ने अफसरों और पंचायत प्रतिनिधियों को चेताया

- Advertisment -
Khabre Apki
Mantu Sonar Murder
Khabre Apki
Mantu Sonar Murder

Most Popular