Thursday, October 22, 2020
No menu items!
Home बिहार Bhojpur लसाढ़ी के वीर सपूतों को आज शहादत दिवस पर याद किया गया

लसाढ़ी के वीर सपूतों को आज शहादत दिवस पर याद किया गया

Lassadhi पूर्व विधायक बिजेन्द्र यादव, विधानपरिषद राधाचरण साह, जिलाधिकारी रोशन कुशवाहा ,पुलिस अधीक्षक हर किशोर राय सहित कई गणमान्यों ने श्रद्धा सुमन अर्पित किया।

बिहार: आरा – 15 सितंबर 1942 को भोजपुर जिला के लसाडी (Lassadhi) चासी, ढकनी, गांव के वीर सपूतों ने ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ बिगुल फूंक कर जंग-ए- आजादी में अपनी कुर्बानी देकर अमर शहीद हो गए। ब्रिटिश हुकूमत की बर्बरता के खिलाफ इस ऐतिहासिक जन प्रतिरोध में लसाढ़ी, ढ़कनी व चासी गांव के महादेव सिंह, बासुदेव सिंह, जगरनाथ सिंह, सभापति सिंह, गिरिवर सिंह, रामानंद पांडेय, रामदेव साह, सीतल लोहार, केशव सिंह के अलावे एक महिला अकली देवी शहीद हुई।

आज लसाडी (Lassadhi) गांव में शहीदों के शहादत दिवस पर आयोजित समारोह में जनता के सेवक लोकप्रिय नेता पूर्व विधायक विजेन्द्र यादव ने माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित किया।

इस अवसर पर जदयू नेता बिजेन्द्र यादव ने कहा कि इस Lassadhi गांव के किसान अंग्रेजों से मुकाबला तो करते ही थे। साथ ही आसपास के गांव ढकनी, चासी आदि के किसानों को भी अंग्रेजों से मुकाबला करने के लिए प्रेरित करते थे।

आज शहीद दिवस पर अंग्रेजों के जुल्म के खिलाफ पूर्वजों की शहादत पर गर्व करते ग्रामीण कहते है एक बार इस गांव में अंग्रेज कलक्टर आया तो यहां उसका जोरदार विरोध हुआ था। ग्रामीणों ने लाठी और भाला द्वारा ही उसे खदेड़ दिया था। इस सूचना से क्रोधित होकर ब्रिटिश पार्लियामेंट ने लसाढ़ी गांव को नेस्तनाबूद करने का आदेश दिया था। लसाढ़ी गांव के नौजवानों को जब इस बात की सूचना मिली तो वह तनिक भी भयभीत नहीं हुए थे।

नौजवानों ने योजना बनाकर गांव के पास स्थित पुल को तोड़ डाला और नहर को काट डाला। उन्होंने अंग्रेजी प्रशासन की चुनौती को स्वीकार करते हुए इसका जवाब देने की कुशल रणनीत बनाई। रणनीति यह थी कि जब अंग्रेज सिपाही गांव में आयेंगे तो मिर्च की बुकनी उनकी आंखों में झोंक कर उनकी बंदूक छीन ली जाएगी।

भोजपुर में संदेश थाना क्षेत्र के चिल्होस गांव में सरेराह गर्म पानी डाल कर शख्स की हत्या

अंग्रेज सैनिक अपनी योजना के अनुसार 15 सितंबर 1942 को 3 बजे भोर में गांव को चोरों तरफ से घेर लिया। गांव के बाहरी हिस्से में मौजूद महादेव सिंह नामक किसान के मकान को निशाना बनाया। महादेव सिंह के परिवार वालों ने अंग्रेज सैनिकों से डटकर मुकाबला किया। साथ ही तीन सैनिकों को मार गिराया। तदोपरांत आग बबूला होकर सैनिकों ने गृह स्वामी की हत्या कर दी। इसके बाद गांव को निशाना बनाकर चारों ओर से स्टेनगनों, एल.एम.जी. जैसे अत्याधुनिक हथियारों से गोलियों की बौछार कर दी। परिणाम स्वरूप 12 लोग शहीद हो गए।

आज इस अवसर पर भोजपुर बक्सर के विधानपरिषद जदयू नेता राधा चरण साह, भोजपुर जिलाधिकारी रौशन कुशवाहा,भोजपुर पुलिस अधीक्षक हर किशोर राय एवं अन्य कई गणमान्य लोगों ने शहीदों के याद में दीप प्रज्वलित किया एवं उन्हें माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित किया।

Ara news कुख्यात प्रीतम यादव समेत 23 अपराधियों को नोटिस, हाजिर होने का आदेश

Bhojpur news राजद कार्यकर्ताओं की टिकट दावेदारी से वर्तमान विधायकों की स्थिति पर पड़ता असर

- Advertisment -
Slider
Hareram-shop.jpg
Slider

Most Popular

आपसी सद्भाव एवं विकास में तरारी को अवव्ल बनाना लक्ष्य: सुनील पांडेय

Tarari Sunil Pandey जनसम्पर्क में मिल रहा सभी वर्गों का समर्थन लोगो ने कहाः इस बार यह क्षेत्र...

आरा में कोविड के गाइडलाइन का अनुपालन नहीं करने पर प्राथमिकी

FIR Ara -भाजपा नेता सुशील कुमार सिंह के खिलाफ पर नवादा थाना में दर्ज करायी गयी एफआईआर FIR Ara...

तेजस्वी यादव ने शाहपुर के दियारा में कहा 10 लाख बेरोजगारों को देंगे काम

Tejashwi Yadav Shahpur राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह के साथ पहुंचे तेजस्वी यादव राजद प्रत्याशी राहुल तिवारी के समर्थन में बोले

198 शाहपुर विधानसभा बना हॉट सीट, रोमांचक मुकाबले के असार

198 Shahpur - राजनीत के दिग्गज परिजनों की प्रतिष्ठा की लड़ाई बनी शाहपुर 198 Shahpur बिहार विधानसभा चुनाव 2020...