Thursday, January 27, 2022
No menu items!
Homeराजनीतमांगो को लेकर वार्ड सचिव संघ ने किया एक दिवसीय भुख हडताल

मांगो को लेकर वार्ड सचिव संघ ने किया एक दिवसीय भुख हडताल

खबरे आपकी आरा। Ward Secretary Union वार्ड सचिव संघ भोजपुर के द्वारा एक दिवसीय भुख हड़ताल जेपी स्मारक के पास किया गया। जिसकी अध्यक्षता जिलाध्यक्ष प्रीतम कुमार सिंह ने की। जिसमें वार्ड सचिव संघ जिला भोजपुर के द्वारा बिहार के 11,4691 वार्ड सचिवों के मुख्य तीन मांगों वार्ड सचिवों को स्थाई किया जाए, वार्ड सचिवों को सम्मानजनक मानदेय दिया जाय, वार्ड सचिवों को सरकारी कर्मी का दर्जा दिया जाए।

Ward Secretary Union:ताजमहल बनाने से कम महत्व की नहीं सात निश्चय योजना

हडताल के दौरान वक्ताओं ने कहा की मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की महत्वाकांक्षी सात निश्चय योजना कहीं ताजमहल बनाने से कम महत्व की नहीं है, क्योंकि दुनिया के आठ अजूबों में ताजमहल का नाम आता है। वैसे ही विकास के नाम पर देश दुनिया में विकास पुरुष के नाम से नीतीश कुमार प्रसिद्ध है। मैट्रिक पास योग्यता वाले वार्ड सचिवों को कार्य भूमिका निभाने के लिए बिहार सरकार द्वारा वार्ड में चयनित किया गया है। लगभग चार वर्षों से विकास के कार्यों में भली भांति अहम भुमिका निभा रहे है। इसके एवज में किसी भी तरह का कोई भी मानदेय सरकार की तरफ से हम वार्ड सचिवों को नहीं दिया जा रहा है।

विकास पुरुष मुख्यमंत्री हम वार्ड सचिवों के जन्मदाता है। मुख्यमंत्री का कहना है कि न्याय के साथ विकास होगा, बावजूद इसके वार्ड सचिवों का विकास नही हो रहा है और नही सचिवों के साथ न्याय हो रहा है। जबकि वार्ड सचिवों के द्वारा वार्ड के विकास कार्यों के पूर्ण करने में अपनी समस्त उर्जा को लगा दिया गया। अब नही वार्ड सचिवों का प्रतियोगिता परीक्षा का उम्र बचा है और हमारी आर्थिक स्थिति भी अतिदयनीय हो चुकी है।

Ward Secretary Union 2
Ward Secretary Union 2

वार्ड सचिवों ने कोरोना काल में भी जब सभी प्रतिनिधीगण अपनी जान बचा कर घरों में छिपे थे। तब वार्ड सचिवों ने वार्ड में मास्क, सेनेटाईजर, साबुन, इत्यादी समान का वितरण अपनी जान को जोखिम में डाल कर और अपने परिवार की फिक्र छोड़कर वार्ड की जनता का सेवा किया। इसके एवज में सरकार ने हम पर लाठिया बरसवाई। अब सभी वार्ड सचिवों के पास मरने के अलावे कोई भी रास्ता दिखाई नहीं दे रहा है। वक्ताओं ने सीएम से जल्द-जल्द मांगो पर ध्यान देने को कहा।

- Advertisment -
manish
aman p
anand
manoj

Most Popular