Monday, March 1, 2021
No menu items!
Home धर्म पर्व-त्योहार नई पीढ़ी को संस्कृति और संस्कार से परिचित कराता है बसंतोत्सव -...

नई पीढ़ी को संस्कृति और संस्कार से परिचित कराता है बसंतोत्सव – डाॅ. कुमार द्विजेन्द्र

Basantutsav – संभावना आवासीय उवि में “बसंतोत्सव-2021” का हुआ भव्य सांस्कृतिक आयोजन

खबरे आपकी :- Basantutsav आरा शहर के शुभ नारायण नगर मझाउवा स्थित ‘शांति स्मृति’ संभावना आवासीय उच्च विद्यालय में मंगलवार को बसंत पंचमी के पावन अवसर पर विद्या की अधिष्ठात्री देवी मां सरस्वती का पूजन उत्सव तथा “बसंतोत्सव-2021” का भव्य सांस्कृतिक आयोजन किया गया। सरकार द्वारा जारी कोरोना गाइडलाइन को ध्यान में रखते हुए यह आयोजन दो सत्रों में संपन्न हुआ।

समारोह के प्रथम सत्र में पूरे विधि विधान से मां सरस्वती का पूजन किया गया तथा वैदिक मंत्रों के साथ हवन यज्ञ संपन्न हुआ। विद्यालय के छात्राओं ने अपने मधुर सामूहिक स्वर में मां सरस्वती की संगीतमय आरती प्रस्तुत किया। मां सरस्वती के जयकारे तथा वैदिक मंत्रों के उच्चारण से पूरा वातावरण भक्तिमय हो गया। समारोह के द्वितीय सत्र में विद्यालय का वार्षिक सांस्कृतिक उत्सव “बसंतोत्सव-2021” का विधिवत उद्घाटन विद्यालय के निदेशक डॉ. कुमार द्विजेंद्र ने किया।

नई पीढ़ी को संस्कृति और संस्कार से परिचित कराता है बसंतोत्सव – डाॅ. कुमार द्विजेन्द्र

पढ़े :- लालू यादव के बेहद करीबी जगदानंद सिंह पर भड़के तेजप्रताप ने लगाये गंभीर आरोप

इस अवसर पर छात्र-छात्राओं, शिक्षक-कर्मचारियों तथा अभिभावकों को बसंत पंचमी की शुभकामनाएं देते हुए निदेशक डॉ. कुमार द्विजेंद्र ने कहा कि यह Basantutsav आयोजन सिर्फ एक धार्मिक व सांस्कृतिक आयोजन ही नहीं, बल्कि नई पीढ़ी को अपनी संस्कृति और संस्कार से परिचित कराने का एक व्यापक अभियान है। इस तरह के सांस्कृतिक आयोजनों से बच्चों में नैतिक मूल्यो की नींव डाली जाती है। ताकि बच्चे बड़े होकर अपने इस संस्कृति और संस्कार को आगे बढ़ा सके। उन्होंने वर्तमान युवा पीढ़ी में नैतिक मूल्यों के ह्रास पर चिंता व्यक्त की।

Basantutsav बसंतोत्सव-2021 के अवसर पर कोरोना से संबंधित दिशा-निर्देश का पालन करते हुए विद्यालय के छात्र-छात्राओं ने संगीत शिक्षक सरोज कुमार के निर्देशन में भक्ति संगीत की सांस्कृतिक प्रस्तुति देकर दर्शक दीर्घा में बैठे लोगों को भाव विभोर कर दिया। इस अवसर पर दीक्षा, शोभा, शारदा, प्रिया, सुप्रिया, राखी एवं अन्य छात्र-छात्राओं ने आकर्षक सरस्वती वंदना, देवी गीत, श्रृंगार गीत को प्रस्तुत किया।

संस्कृति और संस्कार से जुड़े मूल्यों को आगे बढ़ाएं बच्चें-डॉ.अर्चना

धन्यवाद ज्ञापन करते हुए विद्यालय की प्राचार्या डॉ. अर्चना सिंह ने कहा कि हमारी युवा पीढ़ी पर पश्चात संस्कृति हावी न हो सके। इसके लिए हमें अपनी संस्कृति और संस्कार से जुड़े गीत, संगीत एवं मूल्यों को आगे बढ़ाना होगा। उन्होंने कोरोना संक्रमण से मुक्ति के लिए मां सरस्वती से प्रार्थना की तथा विश्वास व्यक्त किया कि मां सरस्वती की कृपा से हमारे देश ही नहीं, बल्कि पूरे विश्व से यह संकट बहुत जल्द दूर हो जाएगा।

मंच संचालन विद्यालय के उप प्राचार्य राघवेंद्र कुमार वर्मा ने किया। मंचीय परिकल्पना कला शिक्षक विष्णु शंकर एवं संजीव सिन्हा ने किया। इस अवसर पर विद्यालय के सभी शिक्षक- शिक्षिकाएं, छात्र-छात्राएं तथा अभिभावक सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए उपस्थित रहें।

पढ़े :- पुलिस को मिला हथियारों का जखीरा,भोजपुर के पीरो के रहने वाले हैं गिरफ्तार तस्कर

- Advertisment -
Slider
Slider

Most Popular