Thursday, June 20, 2024
No menu items!
HomeबिहारBhojpurवाहन चोरी गिरोह का पर्दाफाश, गैंग के पांच सदस्यों को भोजपुर पुलिस...

वाहन चोरी गिरोह का पर्दाफाश, गैंग के पांच सदस्यों को भोजपुर पुलिस ने किया गिरफ्तार

Vehicle theft gang Bhojpur: भोजपुर एसपी ने बताया की यह गैंग झारखंड से लग्जरी गाड़ियां चुराकर बिहार के अलग-अलग शहरों में और बिहार से लग्जरी गाड़ियां चुराकर झारखंड के अलग-अलग शहर में बिक्री करता है।

  • हाइलाइट :-
    • गैंग के सदस्यों के पास से करीब दर्जन भर से अधिक फर्जी मुहर और गाड़ी के ऑनर बुक के अलावा दस्तावेज बरामद
    • यह गैंग परिवहन और इंश्योरेंस विभाग के कर्मचारियों की मिलीभगत से चोरी की गाड़ियों को ओरिजनल रूप देने का प्रयास करता था

Vehicle theft gang Bhojpur आरा: भोजपुर पुलिस ने अंतरराज्यीय वाहन चोरी गिरोह का पर्दाफाश किया है। साथ ही गैंग के पांच सदस्यों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। इसके अलावा चोरी की छह से अधिक गाड़ियां भी बरामद की गई है। इसमें पांच स्कार्पियो और एक कार है। इसकी जानकारी शनिवार की सुबह एसपी प्रमोद कुमार ने प्रेस वार्ता में दी। उन्होंने बताया कि यह गैंग झारखंड से लग्जरी गाड़ियां चुराकर बिहार के अलग-अलग शहरों में और बिहार से लग्जरी गाड़ियां चुराकर झारखंड के अलग-अलग शहर में बिक्री करता है। गैंग के सदस्यों के पास से करीब दर्जन भर से अधिक फर्जी मुहर और गाड़ी के ऑनर बुक के अलावा दस्तावेज बरामद किए गए है। परिवहन और इंश्योरेंस विभाग के कर्मियों की मिलीभगत से कागजात तैयार कर खरीद-बिक्री किए जाने की बातें शुरुआती जांच में सामने आ रही है।

Election Commission of India
Election Commission of India

पुलिस ने मूल रूप से बक्सर जिले के ब्रह्मपुर निवासी धर्मेंद्र यादव, जगदीशपुर के मुंशी टोला निवासी विनोद कुमार बिहिया गांव निवासी पिंटू कुमार, रंजीत कुमार और बक्सर जिले के नया भोजपुर निवासी मों अमजद को गिरफ्तार किया गया है। इसमें गिरफ्तार धर्मेंद्र यादव किसी इंश्योरेंस कंपनी से जुड़ा बताया जा रहा है ‌।‌ एसपी ने बताया कि पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी झारखंड के दुमका समेत अन्य शहरों से चुराई गई लग्जरी गाड़ियों को बिहार के भोजपुर समेत अन्य शहरों में बिक्री की जा रही है ‌। इस दौरान एक स्कॉर्पियो चोरी के सिलसिले में दुमका पुलिस की टीम आरा पहुंची। जिसके बाद सदर एएसपी चन्द्र प्रकाश के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया। टीम ने नवादा थाना के पासवान चौक के समीप से चोरी की स्कार्पियो के साथ सबसे पहले बक्सर के ब्रह्मपुर निवासी धर्मेंद्र यादव और जगदीशपुर के मुंशी टोला निवासी विनोद कुमार को गिरफ्तार किया।

इसके बाद दोनों की निशानदेही पर टीम ने बिहिया समेत अन्य जगहों से चोरी की चार स्कार्पियो और एक आर्टिका कार को बरामद किया। साथ ही तीन अन्य सदस्यों पिंटू,रंजीत और अमजद को धर दबोचा गया। गिरफ्तार धर्मेंद्र के आरा शहर के पश्चिमी ओवरब्रिज आवास के पास स्थित घर और निजी आफिस में छापेमारी के दौरान दर्जनों फर्जी मुहर, आनर बुक,आईडी और रजिस्टर जब्त किया गया। टीम में नवादा इंस्पेक्टर शंभू भगत समेत अन्य पदाधिकारी शामिल थे। एसपी ने बताया कि यह गैंग परिवहन और इंश्योरेंस विभाग के कर्मचारियों की मिलीभगत से चोरी की गाड़ियों को ओरिजनल रूप देने का प्रयास करता था। इसके बाद कागज़ तैयार कर इसकी बिक्री महंगे दामों में करते थे। अधिकांश लोग झांसे में आकर इन गाड़ियों को खरीद भी लेते थे। पुलिस संलिप्त कर्मचारियों को चिह्नित करने में लगी हुई है ‌। जांच में जो भी दोषी पाए जाएंगे उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। अनुसंधान अभी जारी है।

Ara Crime - CCTV of Firing -  आरा में फायरिंग का सीसीटीवी वीडियो
Ara Crime - CCTV of Firing - आरा में फायरिंग का सीसीटीवी वीडियो
- Advertisment -
khabre
khabre

Most Popular