Wednesday, December 1, 2021
No menu items!
Homeअन्यचर्चित खबरडीजीपी के आदेश पर धनकुबेर सिपाही सस्पेंड

डीजीपी के आदेश पर धनकुबेर सिपाही सस्पेंड

Constable suspended-सस्पेंशन के दौरान सिपाही का मुख्यालय पुलिस केंद्र लखीसराय होगा

खबरे आपकी आरा। भ्रष्टाचार और आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने में फंसे भोजपुर के सहार थाना क्षेत्र के मुजफ्फरपुर गांव निवासी सिपाही सह बिहार पुलिस मेंस एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष नरेंद्र कुमार धीरज पर आखिरकार विभागीय गाज गिर गयी। सिपाही को सस्पेंड कर दिया गया है। इस दौरान उनका मुख्यालय लखीसराय पुलिस केंद्र बनाया गया है।

पढ़ें:- ब्रेस्ट कैंसर एवं सर्वाइकल (बच्चेदानी के मुंह) के कैंसर से कैसे बचें?

Constable suspended-डीजीपी के आदेश पर पुलिस महा निरीक्षक के सहायक द्वारा जारी किया गया आदेश

सिपाही सह बिहार पुलिस मेंस एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष नरेंद्र कुमार धीरज के खिलाफ विभागीय करवाई को लेकर पुलिस महानिदेशक के आदेश पर महानिरीक्षक के सहायक (कल्याण) द्वारा आदेश जारी कर दिया गया है। जारी आदेश पत्र में कहा गया है कि पद का दुरुपयोग और आपराधिक षड़यंत्र कर परिसंपत्ति अर्जित करने के आरोप में आर्थिक अपराध इकाई थाने में सिपाही नरेंद्र कुमार धीरज के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है। यह सरकारी जनसेवक आचार नियमावली का उल्लंघन है।

पढ़ें:- मुखिया के बॉडीगार्ड के पास से तीन पिस्टल, मैगजीन और 35 गोलियां बरामद

भ्रष्टाचार और आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने में फंसा सिपाही

बताते चलें कि  सिपाही नरेंद्र कुमार धीरज और भाई-भतीजों के खिलाफ आर्थिक अपराध इकाई थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है। उस कांड को लेकर पिछले 21 सितंबर को सभी भाइयों और भतीजे के मकान सहित अन्य प्रतिष्ठानों पर ईओयू द्वारा छापेमारी की गयी थी। उसमें करीब साढ़े नौ करोड़ की संपत्ति का पता चला था। बताया गया था कि संपत्ति आय से कई सौ गुणा अधिक थी। 

पढ़ें:- परिजनों ने कबूला गुनाह, बोले: फोटो भेज राजेश ने तुड़वा दी थी शादी,जेल गयी कातिल प्रेमिका 

- Advertisment -
Jain Ornaments ad
Raj Auto AD
Sambhawana School Ad
Kids Campus Mission School AD
Jain Ornaments ad
Raj Auto AD
Sambhawana School Ad
Kids Campus Mission School AD
Nagarmal Ad
Heart care centre ad
Modern x Ray AD
Maa sharde Ad
Nagarmal Ad
Heart care centre ad
Ad
Modern x Ray AD
Maa sharde Ad

Most Popular