Tuesday, July 27, 2021
No menu items!
Homeअन्यचर्चित खबरढूढ़ती रही पुलिस और ठेकेदार को सरेराह गोलियों से भून भाग निकला...

ढूढ़ती रही पुलिस और ठेकेदार को सरेराह गोलियों से भून भाग निकला कुख्यात छोटू

Raju murder case-ठेकेदार हत्याकांड में छोटू मिश्रा और उसके सात गूर्गों के खिलाफ प्राथमिकी

एनकाउंटर में बच निकला छोटू अब पुलिस को खुलेआम देने लगा चुनौती

कुख्यात छोटू को पिछले छह माह से सरगर्मी से खोज रही आरा की पुलिस

आरा शहर की पुलिस जिस कुख्यात छोटू मिश्रा को एक साल से ढूढ़ रही है। वह शहर में सरेराह एक युवा ठेकेदार को गोलियों से भून कर भाग निकला। पुलिस उसके पीछे लगी रही, लेकिन वह बाइक पर सवार होकर हथियार लहराते निकल गया। हत्या के 36 घंटे बाद भी पुलिस को उसका क्लू नहीं मिल सका है। सूत्रों के मुताबिक वह शहर होते बक्सर जिले की ओर भाग निकला। ठेकेदार राजू यादव की हत्या में कुख्यात छोटू मिश्रा और उसके सात गूर्गों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है। छोटू मिश्रा और उसके गूर्गों पर जमीन के विवाद में ठेकेदार की हत्या करने का आरोप लगाया गया है। वहीं पोखरे पर कब्जे का विवाद भी बताया जा रहा है। अब पुलिस उसकी धरपकड़ में जुटी है। इसे लेकर ताबड़तोड़ छापेमारी की जा रही है।

पढ़ें-भगवान के घर चोरी चांदी का मुकुट ले उड़े चोर

बता दें कि बीते 11 जनवरी को पुलिस के साथ छोटू मिश्रा की मुठभेड़ हुई थी। उसमें वह तो बच कर भाग निकला था, लेकिन उसकी मां गोली की शिकार हो गयी थी। उसके बाद से पुलिस उसकी सरगर्मी से तलाश कर रही थी। लेकिन छह माह बाद भी वह पुलिस की पकड़ में नहीं आ सका। इन सबके बीच छोटू मिश्रा आरा पहुंचता है। शनिवार ठेकेदार को धमकी भी देता है, पर पुलिस को भनक तक नहीं लग सकी। इसके बाद रविवार को उसने अपने गूर्गों के साथ ठेकेदार को सपना सिनेमा मोड़ पर सरेराह गोलियों से भून दिया और भाग निकला। 

सीसीटीवी फुटेज से हत्याकांड में शामिल अपराधियों की हुई पहचान, लाइनर भी चिन्हित

Raju murder case-ठेकेदार राजू यादव हत्याकांड में शामिल सभी अपराधियों की पहचान कर ली गयी है। दो लाइनर भी चिन्हित किये गये हैं। अब पुलिस जल्द ही सभी को गिरफ्तार कर लेने का दावा कर रही है। इसे ले पुलिस ताबड़तोड़ छापेमारी कर रही है। रविवार की रात पुलिस लाइनर तक पहुंच भी गयी थी। लेकिन गिरफ्तारी नहीं हो सकी। बताया जा रहा है कि सीसीटीवी फुटेज के जरिये हत्या में शामिल सभी अपराधियों की पहचान की जा सकी है। बताते चलें कि सीसीटीवी फुटेज में बाइक  सवार गमछा से मुंह बांधे तीन अपराधियों को देखा जा रहा है। पुलिस सूत्रों के अनुसार उनमें एक छोटू मिश्रा भी शामिल था। जबकि दो की पहचान विपुल और गोलू के रूप में की गयी है। विपुल मूल रूप से धनगाईं इलाके का रहने वाला है। वह और गोलू दोनों फिलहाल धरहरा इलाके में रहते हैं। छोटू मिश्रा भी आनंद नगर इलाके में ही रहता था। वह मूल रुप से रोहतास का रहने वाला है।

महज थप्पड़ जड़ने पर छोटू ने छात्र सहित दो युवकों को मार दी थी गोली

मोस्ट वांटेड छोटू लूट और अप्राकृतिक यौनाचार में भी रह चुका है आरोपित

एनकाउंटर में मारा गया हीरो बनने की राह पर चल पड़ा कुख्यात छोटू मिश्रा 

पुलिस मुडभेड़ और ठेकेदार की हत्या के बाद मोस्ट वांटेड बन चुका छोटू मिश्रा शातिर बदमाश है। वह एनकाउंटर में मारा गया कुख्यात मनीष उर्फ हीरो के नक्शे कदम पर चल निकला है। हीरो की तरह बात-बात में ठोक देना इसकी भी आदत बन गयी है। करीब दो साल पहले उसने महज थप्पड़ जड़ने पर एक स्कूली छात्र सहित दो युवकों को गोली मार दी थी। उसमें एक स्कूली छात्र की मौत हो गयी थी। उस मामले में वह जेल भी गया था। बाद में जमानत पर आ गया था। इससे पूर्व वह अजीमाबाद थाना क्षेत्र के लूट के केस में बाल पर्यवेक्षण गृह में बंद था। वहीं एक अगस्त 2018 को बाल पर्यवेक्षण गृह में एक किशोर के साथ अप्राकृतिक यौनाचार के प्रयास के मामले में छोटू मिश्रा आरोपित किया गया था। तब उस पर पोस्को को अधिनियम की धारा भी लगाई गई थी। इसके अलावे वह कुछ अन्य मामलों में भी दागी रहा है।

FIR against Chhotu Mishra and seven in Raju murder case
FIR against Chhotu Mishra and seven in Raju murder case

पढ़ें-गांवों में इंसानियत आज भी जिंदा है जहां लंगूर के दाह संस्कार हेतु पहुंचे सैकड़ों लोग

छोटू मिश्रा उर्फ चंदन फौजी का बेटा बताया जा रहा है। वह मूल रूप से रोहतास के मधुकरपुर का निवासी है। बता दें कि शहर के टाउन थाना क्षेत्र के मीरगंज में 22 मई 2019 की रात बाइक सवार बदमाशों ने गोलियां बरसाई थी। उसमें स्कूली छात्र बलराम सिंह की जान चली गई थी। जबकि, दूसरा मोनू सिंह घायल हो गया था। उस मामलें मृत छात्र के पिता ने केस किया था। उसके कुछ दिनों बाद पुलिस ने छोटू मिश्रा को गिरफ्तार किया था। उसके पास से गोलियां भी मिली थी, जबकि उसका साथी हथियार के साथ भाग निकला था। पूछताछ में छोटू ने पुलिस को बताया था कि थप्पड़ मारे जाने के प्रतिशोध में छात्र को गोली मारी थी। सूत्रों की माने तो छोटू मिश्रा कुख्यात मनीष सिंह उर्फ हीरो के नक्शे कदम पर चलने लगा है। बताया जाता है कि वह अपने शार्गिदों के बीच कहा करता है कि वह अपने सर पर कफन बांध कर चलता है।

मुठभेड़ के बाद दूसरे जिले में भाग गया था छोटू, लौटा और ठेकेदार को ठोक डाला

कुख्‌यात छोटू मिश्रा पुलिस के साथ मुठभेड़ के बाद आरा से भाग गया था। बताया जा रहा है कि उसने दूसरे जिले में शरण ले रखी थी। करीब छह माह बाद वह वापस लौटा, तो ठेकेदार राजू यादव को भून डाला। Raju murder case बताया जा रहा है कि वह शनिवार को आरा आया था। इसके बाद वह ठेकेदार से मिला था। उसने ठेकेदार राजू यादव को धमकी भी दी थी। अगले दिन यानी रविवार की सुबह उसने ठेकेदार को गोलियों से भून दिया।

- Advertisment -
AD
Ad
Akash Yadav Murder Shahpur
Akash Yadav Murder Shahpur Bihar

Most Popular