Saturday, October 23, 2021
No menu items!
Homeअन्यचर्चित खबरहत्या में फरार चार आरोपितों ने किया समर्पण, रिमांड पर लेगी पुलिस

हत्या में फरार चार आरोपितों ने किया समर्पण, रिमांड पर लेगी पुलिस

Bijay shooting-पुलिस की दबिश और कुर्की के डर से चारों ने सोमवार को कोर्ट में किया समर्पण 

एक अक्टूबर को आरोपितों के घरों पर चिपकाया गया था इश्तेहार 

खबरे आपकी आरा शहर के शीतल टोला निवासी माले नेता गोपाल प्रसाद के पुत्र विजय कुमार की हत्या में फरार चल रहे चार आरोपितों ने सरेंडर कर दिया। कुर्की के डर और पुलिस की दबिश के घबरा कर चारों सोमवार को कोर्ट पहुंचे और समर्पण कर दिया। उसके बाद चारों को कोर्ट के आदेश पर न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।

चार आरोपित पहले से ही जेल में जबकि चार ने किया सरेंडर, अब पांच की तलाश

आरोपितों के घरों पर एक अक्टूबर को ही इश्तेहार चिपकाया गया था। सरेंडर करने वालों में आनंद नगर निवासी डबल यादव, लक्ष्मी चरण के हाता निवासी चेतन यादव, इब्राहिम नगर का रहने वाला छोटू यादव और चंदवा निवासी रविरंजन यादव हैं। अब पुलिस पूछताछ के लिये चारों को रिमांड पर लेने की तैयारी में जुटी है। इसके लिये कोर्ट में अर्जी दी जाने वाली है। इन चारों के सरेंडर करने के बाद इस कांड में अबतक आठ आरोपित जेल पहुंच गये हैं।

पढ़ें- आरा शहर के नगर थाना क्षेत्र पड़ोसी की पत्नी को भगा ले जाना वाला गिरफ्तार

पढ़ें- पार्टी में बना प्लान और शाम में गोलियों से भून दिया गया माले नेता का पुत्र

Bijay shooting-22 सितंबर की शाम की गयी थी माले नेता के बेटे की गोली मार हत्या

Bijay shooting
Vijay Kumar

जानकारी के अनुसार कुख्यात धनजी यादव सहित दो आरोपित पहले से जेल में थे। जबकि हत्या की रात ही दिन दीपू यादव और कुणाल को गिरफ्तार कर लिया गया था। पुलिस को इस मामले में अब अन्य पांच आरोपितों की तलाश है। पुलिस के अनुसार सरेंडर करने वालों में छोटू यादव इब्राहिम नगर में इसी साल मई माह में हुई चिमनी मैनेजर की हत्या में भी वांटेड था। उस मामले में भी उसको रिमांड किया जायेगा। वहीं डबल यादव पर मैना सुन्दर भवन के समीप एक मोबाइल दुकानदार से मारपीट करने का आरोप है। बता दें कि 22 सितंबर की शाम आरा सदर अस्पताल के गेट पर माले नेता के बेटे की गोली मार हत्या कर दी गयी थी।

पुलिस की चौकसी को धता बता कोर्ट में पहुंच गये चारों आरोपित

जानकारी के अनुसार कुर्की को लेकर इश्तेहार चिपकाये जाने के बाद से ही आरोपितों के सरेंडर किये जाने की चर्चा तेज हो गयी थी। पुलिस को भी इसकी भनक लग गयी थी और गिरफ्तारी को लेकर चौकसी बढ़ा दी गयी थी। टाउन थानाध्यक्ष शंभू कुमार भगत के नेतृत्व के साथ ही काफी संख्या में पुलिस वाले सादे लिवास में कोर्ट के पास मंडरा रहे थे। पुलिस सरेंडर करने से पहले आरोपितों को पकड़ने की फिराक में थी। लेकिन पुलिस की तमाम चौकसी के बाद भी चारों आरोपित कोर्ट तक पहुंच गये और सरेंडर कर दिया। इससे पुलिस की इन आरोपितों की गिरफ्तारी की प्लानिंग धरी रह गयी। हालांकि सूत्रों की मानें तो इस दौरान पुलिस ने एक अन्य आरोपित को गिरफ्तार भी किया है।

ये भी पढ़ें-जिंदगी इम्तिहान लेती है… गाने वाले दारोगा दिलीप कुमार निराला की जिंदगी की शुरु हुई परीक्षा

ये भी पढ़ें-प्रेम प्रसंग और पैसे लेनदेन के बाद बातचीत बंद करने से नाराज युवक ने कथित प्रेमिका पर चलायी गोली

- Advertisment -
ad
ad
ad
ad
ad (2)
AD
ad
ad (2)
Ad

Most Popular